पिछला

ⓘ वैष्णव जन तो तेने कहिये अत्यन्त लोकप्रिय भजन है जिसकी रचना १५वीं शताब्दी के सन्त नरसिंह मेहता ने की थी। यह गुजराती भाषा में है। महात्मा गांधी के नित्य की प्रार् ..




                                     

ⓘ वैष्णव जन तो तेने कहिये

वैष्णव जन तो तेने कहिये अत्यन्त लोकप्रिय भजन है जिसकी रचना १५वीं शताब्दी के सन्त नरसिंह मेहता ने की थी। यह गुजराती भाषा में है। महात्मा गांधी के नित्य की प्रार्थना में यह भजन भी सम्मिलित था। इस भजन में वैष्णव जनों के लिए उत्तम आदर्श और वृत्ति क्या हो, इसका वर्णन है।

भजन निम्नलिखित है-

हेलो

                                     
  • ग र क सम बन ध म प रचल त कथन ह क कब र क उपय क त ग र क तल श थ वह व ष णव स त आच र य र म न द क अपन अपन ग र बन न च हत थ ल क न उन ह न कब र

यूजर्स ने सर्च भी किया:

लता मंगेशकर वैष्णव जन तो तेने कहिये, वैष्णव जन तो तेने कहिए किसने लिखा, वैष्णव जन तो तेने कहिए के लेखक,

...
...
...