पिछला

ⓘ परिधीय दृष्टि दृश्य बोध का वह भाग है जो आँखों के सीधा आगे नहीं बल्कि वे जहाँ ताक रहीं हों उसके किनारों पर प्रयोग होता है। इसे अक्सर समीपी परिधीय, मध्य परिधीय और ..




परिधीय दृष्टि
                                     

ⓘ परिधीय दृष्टि

परिधीय दृष्टि दृश्य बोध का वह भाग है जो आँखों के सीधा आगे नहीं बल्कि वे जहाँ ताक रहीं हों उसके किनारों पर प्रयोग होता है। इसे अक्सर "समीपी परिधीय", "मध्य परिधीय" और "दूर परिधीय" में बांटा जाता है।

                                     
  • एचआईव HIV क स पर क म आन क त र त ब द आत ह ज सक पर ण मस वर प पर ध य रक त म ज व ण ओ क अध कत ह ज त ह और एचआईव HIV क स तर आम त र पर
  • व ल ट यर नह ह त थ इसक बज य, प रत य क ट यर क सतह पर च र बड - बड पर ध य ख च ह त थ ज न ह क र क म ड न क गत क स म त करन क ल ए ड ज इन
  • क श ष ह स स म स क त क पह च न ह जह प रस स करण क य ज त ह पर ध य त त र क त त र श यद ह श म ल रहत ह अध क व श ष र प स एम एस ओल ग ड न ड र स इट स
  • ह स स म स थ त ह ग न ग ल य शब द म थ य न म ह आध न क उपय ग म म त र पर ध य त त र क त त र क न य रल त त र क सम ह क ह ग न ग ल य स स ब ध त क य
  • beta - galactosidase क कम स ह त ह ज सक पर ण मस वर प क द र य और पर ध य त त र क प रण ल क क श क ओ म ल क न ख सकर स न य क श क ओ म अम ल य
  • न ष ध - स क त ह क य क क स भ प रक र क सर ज कल प रक र य क ब द खर ब पर ध य रक त पर स चरण क वजह स स वस थ ह न म क फ द र लग ज त ह श र र क व च र
  • द क क ण ईश न म आब द कस ब ई ग र म ह यह तहस ल एव प च यत सम त ल डन क पर ध य क ष त र क प र व स म त स थ त ग र म प च यत म ख य लय ह स वत त रत क प र व
  • अगर प रत य क मह धमन जड फ ल व आवश यक र प स मह धमन व च छ दन अ तर म क पर ध य य अन प रस थ आ स पर नह ज त ह त व च छ दन ज स जट लत ओ मह धमन ट टन
  • र ग और क सर श म ल ह लग त र शर ब प न स क द र य त त र क त त र और पर ध य त त र क त त र क क षत पह च सकत ह मह ल ओ म प र ष क अप क ष बह त

यूजर्स ने सर्च भी किया:

...
...
...