पिछला

ⓘ स्टर्लिंग संख्याएँ गणितीय विश्लेषण की कई शाखाओं में काम आती हैं। इनके प्रस्तुतकर्ता जेम्स स्टर्लिंग के नाम पर इनका नाम पड़ा। ये प्रथम और द्वितीय, दो प्रकार की ह ..




स्टर्लिंग संख्याएँ
                                     

ⓘ स्टर्लिंग संख्याएँ

स्टर्लिंग संख्याएँ गणितीय विश्लेषण की कई शाखाओं में काम आती हैं। इनके प्रस्तुतकर्ता जेम्स स्टर्लिंग के नाम पर इनका नाम पड़ा। ये प्रथम और द्वितीय, दो प्रकार की होती हैं।

1 + x 1 + 2 x।. 1 + n x = 1 + nS1 x + nS2 x 2 + nS3 x 3 +."

x के आरोही क्रमवाले उपरिलिखित प्रसार के गुणांक, प्रथम प्रकार की n कोटि की स्टर्लिंग संख्याएँ हैं।

द्वितीय प्रकार की स्टर्लिंग संख्याएँ निम्नलिखित प्रकार के x के गुणांकों में हैं:

1 / = 1 - nT1 x + nT2 x 2 - nT3 x 3 +.

                                     

1. स्टर्लिंग संख्याओं के गुण

उपर्युक्त परिभाषा से निम्नलिखित प्रमेय प्राप्त होते हैं:

१ प्रथम n पूर्णाकों में से यदि पुनरावृत्ति बिना p को लिया जाए तो इनके गुणनफलों का योग प्रथम प्रकार की n कोटि की pवीं pth स्टर्लिंग संख्या के बराबर होता है।

२ प्रथम n पूर्णांकों में से यदि पुनरावृत्तियों सहित p को लिया जाए, तो इनके गुणनफलों का योग द्वितीय प्रकार की n कोटि की pवीं pth स्टर्लिंग संख्या के बराबर होता है।

स्टर्लिंग ने x n को निम्नलिखित क्रमगुणित श्रेणी में प्रदर्शित किया:

x 2 = x - 1 + x

x 3 = x - 1 x - 2 + 3 x - 1 + x

x 4 = x - 1 x - 2 x - 3 + 6 x - 1 x - 2 + 7 x - 1 + x

x 5 = x - 1 x - 2 x - 3 x - 4 + 10 x - 1 x - 2 x - 3 + 25 x - 1 x - 2 + 15 x - 1 + x

ऊपर लिखे विभिन्न क्रमगुणितों Factorials के गुणांक, जैसे 1.1 ; 1.31; 1.6.7.1; 1.10.25.15.1 द्वितीय प्रकार की स्टर्लिंग संख्याएँ हैं।

                                     
  • च म प यनश प ऑफ द वर ल ड अ क त ह त ह मह ल ओ क स गल स क च म प यन क एक स टर ल ग स ल वर स ल वर बड थ ल द य ज त ह ज स स म न यत व नस र सव टर ड श
  • य द ध म ब र ट श स म र ज य क क ई फ यद नह ह आ इस य द ध म द कर ड स टर ल ग व यय ह आ ज भ रत क न र धन जनत स वस ल क य गय भ रत य म ल टन क
  • स झ व त ह मदद अ ग र ज स ल स, स द प ड स कवर इण ड य ब य र ल. स टर ल ग पब ल शर स प र ल प आई ऍस ब ऍन 81 - 207 - 2939 - 0. अभ गमन त थ अप र ल
  • 95 4 तथ 1 प रत शत रहत ह सन 1920 तक इ ग ल ड म च द क स क क स टर ल ग च द क बन ए ज त थ ज सम च द और त ब क रमश: 92.5 और 7.5 प रत शत
  • क म प र स स ओ इग न शन HCCI Homogeneous Charge Compression Ignition HCCI स टर ल ग इ जन stirling engine और यह तक क स त र ड उर ज क म प र स स द हव
  • ध त व क सम बन ध स थ प त करत ह ए, प ड स टर ल ग क च द क म नक स स न क म नक म बदल द य इस क रण स च द स टर ल ग स क क क प घल कर ब र ट न स ब हर
  • 1989 जर नल ज म इन इण ड य : फ र म द अर ल एस ट ट इस म ट प रज ट ड स टर ल ग पब ल शर स, नय द ल ल एस.प शर म 1996 द प र स : स स य - प ल ट कल
  • प र द य ग क य और सहभ ग द न अक सर एक द सर क आच छ द त कर ल त ह ब र स स टर ल ग कम प य टर अण डरग र उ ड क जड आ श क र प स य प ज म ढ ढ त ह

यूजर्स ने सर्च भी किया:

...
...
...