ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 74




                                               

राधाकुंड

मथुरा से राजकीय बस सेवा द्वारा पहुंचा जा सकता है| ५ किलोमीटर दूर बसे गोवर्धन के लिये प्राइवेट एवं राजकीय बस सुविधा उपलब्ध है जहाँ से ताँगे, औटो कर के राधाकुंड पहुंचा जा सकता है|

                                               

कुतुबपुर दताना

कुतुबपुर दताना, रवा राजपूत का गाँव है जो कि बुढ़ाना तहसील, मुज़फ्फरनगर जिला, उत्तर प्रदेश से ८ किमी पूर्व में स्तिथ है। गाँव का डाकघर ३ किमी दूर एक कुरथल नामक गाँव में पड़ता है। दताना गाँव बुढ़ाना तहसील के अंतर्गत पड़ता है। गाँव के निर्देशांक २९. ...

                                               

बरनावा

बरनावा या वारणावत मेरठ से ३५ किलोमीटर दूऔर सरधना से १७ कि.मी बागपत जिला में स्थित एक तहसील है। इसकी स्थापना राजा अहिबरन ने बहुत समय पूर्व की थी। यहां महाभारत कालीन लाक्षाग्रह चिन्हित है। लाक्षाग्रह नामक इमारत के अवशेष यहां आज एक टीले के रूप में द ...

                                               

मेरठ षड्यंत्र मामला

मेरठ षड्यंत्र मामला एक विवादास्पद अदालत का मामला था। मार्च १९२९ में ब्रिटिश सरकार ने ३१ श्रमिकनेताओ को बंदी बना लिया तथा मेरठ लाकर उन पर मुक़दमा चलाया। इन पर आरोप लगाया गया कि ये सम्राट को भारत की प्रभुसत्ता से वंचित करने का प्रयास कर रहे थे। इसस ...

                                               

महामाया मंदिर, मोदीनगर

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिला के मोदीनगर कस्बे में सीकरी खुर्द ग्राम में स्थित है। इस मंदिर की स्थानीय लोगों में बहुत मान्यता है। सीकरी गांव स्थित देवी माता का मंदिर काफी प्रसिद्ध है। यहां प्रत्येक वर्ष नवरात्रों में माता का भव्य दरबार लगता है। ...

                                               

मोदी उद्योग साम्राज्य

मोदी उद्योग साम्राज्य या उद्योग गृह भारत के प्रसिद्ध मोदी उद्योगपतियों का समूह है। इसकी स्थापना १९२९ में मोदीनगर में रायबहादुर गूजरमल मोदी ने रखी थी। उनकी मृत्यु उपरांत इसे उनके छोटे भाई केदारनाथ मोदी एवं चार पुत्र देख रहे हैं।

                                               

मोदीनगर

मोदीनगर की स्थिति यह २६.८६ उत्तर अक्षांश एवं ८०.९१ पूर्व रेखांश में है। यह शहर गाजियाबाद के उत्तर-पश्चिम में राष्ट्रीय राजमार्ग- ५८ पर मेरठ व गाजियाबाद के ठीक बीच में स्थित है। इससे लगा तीसरा शहर है हापुड़। राजमार्ग के समानांतर ही उत्तर रेलवे का ...

                                               

क्वींस कालेज

क्वींस कॉलेज वाराणसी में स्थित एक राजकीय इन्टर कालेज है। इसकी स्थापना अंग्रेज शासन में हुई। पहले यह संस्कृत क्वींस कालेज के नाम से जाना जाता था। वर्तमान संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय, क्वींस संस्कृत कालेज का प्रवर्धित रूप है जो इससे अलग एक मा ...

                                               

नारायण राजवंश

नारायण वंश १००० ई से १९४८ तक बनारस पर शासन करने वाला वंश था। यह भूमिहार ब्राह्मण परिवार था। रामनगर किला तथा इसका संग्रहालय १८वीं शताब्दी से ही काशीनरेश का निवास तथा इस राजवंश के इतिहास का निक्षेपस्थल रहा है। आज भी काशीनरेश बनारस के लोगों के लिये ...

                                               

बनारस रियासत

बनारस रियासत भारत में ब्रिटिश राज के समय मौजूद एक रियासत थी। १५ अक्टूबर १९४८ को इस रियासत के तत्कालीन राजा ने भारतीय संघ में मिलने के लिये समझौते पर हस्ताक्षर किये। काशी रियासत की जड़े काशी राज्य तक जाती हैं जो ११९४ तक एक स्वतंत्र राज्य था। इसके ...

                                               

भारतमाता मन्दिर, काशी

देवाधिदेव, आदिदेव, महादेव के त्रिशूल पर स्थित काशी को मन्दिरों का नगर होने का गौरव प्राप्त है। यहां देवी-देवताओं के अनेक मन्दिर हैं। इन मन्दिरों के बीच इस प्राचीन महानगर में एक ऐसा भी अद्वितीय मन्दिर है, जिसमें किसी देवी-देवता की प्रतिमा की जगह र ...

                                               

मंडुआडीह रेलवे स्टेशन

मंडुआडीह रेलवे स्टेशन, भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में वाराणसी के मंडुआडीह क्षेत्र में स्थित है। यह वाराणसी का एक टर्मिनल स्टेशन भी है। वाराणसी जंक्शन पर भारी भीड़ के कारण रेलवे एक उच्च सुविधा वाले टर्मिनल के रूप में विकसित किया गया है। हाल ही में ...

                                               

रामनगर किला

रामनगर का किला वाराणसी के रामनगर में स्थित है। यह गंगा नदी के पूर्वी तट पर तुलसी घाट के सामने स्थित है। इसका निर्माण १७५० में काशी नरेश बलवन्त सिंह ने कराया था। यह मक्खन के रंग वाले चुनार के बालूपत्थर ने बना है। वर्तमान समय में यह किला अच्छी स्थि ...

                                               

वाराणसी जंक्शन रेलवे स्टेशन

वाराणसी जंक्शन रेलवे स्टेशन वाराणसी शहर का मुख्य रेलवे स्टेशन है। ये भारत के सभी प्रमुख शहरों से रेल मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है और जंक्शन का कार्य करता है। वाराणसी में दूसरा मुख्य रेलवे स्टेशन दीनदयाल जंक्शन है। इनके अलावा नगर में १६ अन्य छोटे-बड़ ...

                                               

वाराणसी में शिक्षण संस्थाओं की सूची

निम्नलिखित वाराणसी में शिक्षण संस्थाओं की एक सूची है। वाराणसी उत्तर प्रदेश, राज्य की राजधानी लखनऊ के 320 किलोमीटर दक्षिण पूर्व के भारतीय राज्य में गंगा नदी के तट पर स्थित एक शहर है।

                                               

गंगापुर, वाराणसी

2001 में भारत की जनगणना के अनुसार, गंगापुर की कुल आबादी 6.388 थी। कुल आबादी में 53 प्रतिशत पुरुष और 47 प्रतिशत महिला है। गंगापुर 55% की एक औसत साक्षरता दर, 59.5% के राष्ट्रीय औसत दर से कम है: जिसमे पुरुष साक्षरता दर 63% है, और महिला साक्षरता दर 4 ...

                                               

महाराज सिंह कॉलेज, सहारनपुर

महाराज सिंह कॉलेज, सहारनपुर, सहारनपुर उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख स्नातकोत्तर महाविद्यालय है जिसका यह नाम इसके संस्थापक बाबू महाराज सिंह, एडवोकेट के नाम पर दिया गया है जिन्होंने वर्ष १९५७ में सहारनपुर में इस कॉलेज की स्थापना की। विज्ञान विषय की विभ ...

                                               

मुन्नालाल गर्ल्स कॉलेज, सहारनपुर

मुन्नालाल एवं जयनारायण खेमका गर्ल्स कालेज भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित सहारनपुर जिले का एक महिला विद्यालय है जिसमें स्नातकोत्तर शिक्षा तक की व्यवस्था है। इस विद्यालय की स्थापना पद्मश्री सेठ बद्री प्रसाद बाजोरिया की प्रेरणा से बृज ट्रांसपो ...

                                               

ओबरा

ओबरा भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में स्थित एक छोटा सा शहर है। ये शहर रेणुका नदी के किनारे बसा है और यहाँ पर स्थापित तपिय तथा जल विद्युत ईकाइयों के कारण प्रख्यात है। रेणुक नदी पर बने बान्ध की सहायता से यहाँ पर ५० मेगा वाट कि ५, १०० म ...

                                               

म्योरपुर

म्योरपुर/मुईरपुर उत्तर प्रदेश मे सोनभद्र जिले मे स्थित एक ब्लॉक है, जो म्योरपुर सोनभद्र जिले मे एक मात्र ऐसा जगह है जहाँ हवाई अड्डा है। म्योरपुर का पिनकोड/ज़िपकोड - 231208 है। म्योरपुर ब्लॉक के सिमाएँ - पूर्ब मे सनावल ग्राम छत्तीसगढ़, पश्चिम मे र ...

                                               

काशीपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन

काशीपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन उत्तराखण्ड राज्य के ऊधम सिंह नगर जनपद का एक रेलवे स्टेशन है, जो काशीपुर नगर में स्थित है। इसका स्टेशन कोड "KPV" है। काशीपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन रेल नेटवर्क द्वारा रामनगर, काठगोदाम, मुरादाबाद, बरेली, लखनऊ, कानपुर, वाराण ...

                                               

काशीपुर नगर निगम

नगर निगम काशीपुर उत्तराखण्ड के नगर काशीपुर को नियंत्रित करने वाला नागरिक निकाय है। इसकी स्थापना २०१३ में तत्कालीन काशीपुर नगरपालिका के उन्नयन द्वारा हुई थी। उषा चौधरी काशीपुर की निवर्तमान महापौर हैं।

                                               

गुच्छूपानी

गुच्छुपानी पिकनिक के लिए एक आदर्श स्थान है। यह देहरादून जिले में रॉबर्स केव सिटी बस स्टेंड से गढ़वा केंट होते हुए अनारवाला में स्थित केवल ८ कि॰मी॰ पर स्थित है। हरिद्वार-ऋषिकेश मार्ग पर लच्छीवाला-डोईवाला से 3 कि॰मी॰ और देहरादून से २२ कि॰मी॰ दूर है ...

                                               

जामा मस्जिद देहरादून

मुल्ला कुयूआम नमाज़ का समय दिशा: यह क्लॉक टॉवर से 350 मीटर की दूरी पर पल्टन बाजार में स्थित है। नक्शा देखै 4:00 सुबह और बंद रहता है: सभी दिन खुला रहता है।

                                               

मालसी डियर पार्क

देहरादून से १० कि॰मी॰ की दूरी पर मसूरी के रास्ते में यह एक सुंदर पर्यटन स्थल है जो शिवालिक शृंखला की तलहटी में स्थित है। मालसी डियर पार्एक छोटा सा चिड़ियाघर है जहां बच्चों के लिए प्राकृतिक सौंदर्य से घिरा एक पार्क भी विकसित किया गया है। सुंदर वात ...

                                               

स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय

स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय देहरादून शहर से लगभग 25 किलोमीटर दक्षिण पूर्व में और उत्तराखंड के उत्तर भारतीय राज्य में जॉली ग्रांट हवाई अड्डे के करीब एक निजी विश्वविद्यालय है। विश्वविद्यालय का नाम भारतीय योगी स्वामी राम के नाम पर रखा गया है।

                                               

नारायणी शिला मंदिर

नारायणी शिला मंदिर हरिद्वार भारत में प्राचीन व पवित्र मंदिरों में स्थान रखता है। यह मंदिर देवों के देव भगवान विष्णु को समर्पित है। यह मंदिर प्रसिद्ध गणेश घाट के निकट स्थित है। पिंड दान व पित्रदोश की पूजा के लिए सम्पूर्ण भारत वर्ष के निवासी यहाँ आ ...

                                               

भारतमाता मन्दिर, हरिद्वार

हरिद्वार के भारतमाता मन्दिर के संस्थापक स्वामी सत्यमित्रानन्द गिरि जी महाराज हैं। इसका निर्माण सन् १९८३ में हुआ था। इसमें भारत के प्राचीन ऋषि-मुनियों, वैज्ञानिकों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों आदि की मूर्तियों के अतिरिक्त भारतमाता की मूर्ति भी सं ...

                                               

शांतिकुंज

शान्तिकुञ्ज, हरिद्वार में गंगा तट पर स्थित एक स्थान है जहाँ अखिल भारतीय गायत्री परिवार का मुख्यालय है। शान्तिकुञ्ज के संस्थापक पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य जी हैं। यह हरिद्वार के सप्त सरोवर क्षेत्र में ऋषिकेश मार्ग पर स्टेशन से ६ कि.मी. दूर महर्षि ...

                                               

हल्द्वानी नगर निगम

नगर निगम हल्द्वानी उत्तराखण्ड के हल्द्वानी, काठगोदाम तथा रानीबाग नगरों को नियंत्रित करने वाला नागरिक निकाय है। इसकी स्थापना २०११ में तत्कालीन हल्द्वानी-काठगोदाम नगरपालिका परिषद के उन्नयन द्वारा हुई थी। जोगिंदर रौतेला हल्द्वानी के वर्तमान महापौर हैं।

                                               

हल्द्वानी में यातायात

उत्तराखण्ड के नैनीताल ज़िले में स्थित हल्द्वानी राज्य के सर्वाधिक जनसँख्या वाले नगरों में से है। इसे "कुमाऊँ का प्रवेश द्वार" भी कहा जाता है। नगर के यातायात साधनों में २ रेलवे स्टेशन, 3 बस स्टेशन तथा एक अधिकृत टैक्सी स्टैंड है। इनके अतिरिक्त नगर ...

                                               

हल्द्वानी रेलवे स्टेशन

हल्द्वानी रेलवे स्टेशन उत्तराखंड राज्य में नैनीताल जनपद के हल्द्वानी नगर का मुख्य रेलवे स्टेशन है। रेलवे स्टेशन का स्टेशन कोड एच.डी.डब्ल्यू HDW है, और यह भारतीय रेलवे के पूर्वोत्तर रेलवे क्षेत्र के इज्जतनगर रेलवे डिवीजन के मुख्यालय से 99 किमी दूर ...

                                               

चांद बीबी

चांद बीबी हुमायूं की पत्नी का भी नाम था। चांद बीबी, जिन्हें चांद खातून या चांद सुल्ताना के नाम से भी जाना जाता है, एक भारतीय मुस्लिम महिला योद्धा थी। उन्होंने बीजापुऔर अहमदनगर की संरक्षक के रूप में काम किया था। चांद बीबी को सबसे ज्यादा सम्राट अकब ...

                                               

कित्तूर

कित्तूरु, जिसे कित्तूर भी कहते हैं, कर्नाटक के बेलगाम जिला में स्थित है। यहां कि रानी चेन्नम्मा भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अग्रणी रही हैं। इस कारण यह स्थान प्रसिद्धि प गया। इस लेख की सामग्री सम्मिलित हुई है ब्रिटैनिका विश्वकोष एकादशवें संस्करण ...

                                               

मैंगलूर में पर्यटन

मंगलौर भारत के पश्चिमी तट पर एक शहर है| यह अरब सागर में एक प्रमुख बंदरगाह है और दक्षिण कन्नड़ जिले के प्रशासनिक मुख्यालय है| यह अपने समुद्री भोजन के लिए अच्छी तरह से जानता है और कॉफी के एक निर्यातक है| तटीय शहर संरक्षक देवता, देवी मंगला देवी से व ...

                                               

मैसूर की संस्कृति

मैसूर, भारत के कर्नाटक राज्य का एक शहर है। इसे कर्नाटक की सांस्कृतिक राजधानी के रूप में भी जाना जाता है। मैसूर वोडेयार राजाओं की राजधानी थी जिन्होंने मैसूपर कई शताब्दियों तक शासन किया। वोडेयार राजा कला और संगीत के महान संरक्षक थे और उन्होंने मैसू ...

                                               

मैसूर में पर्यटक आकर्षण

मैसूर पहले कर्नाटक की राजधानी थी। यह मैसूर जिले और मैसूर क्षेत्र का मुख्यालय है और कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू के 140 किमी दक्षिण पश्चिम में स्थित है। मैसूर शहर का क्षेत्रफल 128.42 वर्ग किमी का क्षेत्र शामिल है और यह चामुंडी हिल्स के आधापर स्थित ...

                                               

आलाप्पुड़ा रेलवे स्टेशन

आलाप्पुड़ा रेलवे स्टेशन, भारत के केरल राज्य आलाप्पुड़ा जिले में स्थित है। यह स्टेशन एरनाकुलम-कायाकमुलम तटीय रेलवे लाइन का एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है। यह स्टेशन भारतीय रेल के दक्षिणी रेलवे द्वारा संचालित है और तिरुवनंतपुरम रेलवे डिवीजन के अंतर्गत आ ...

                                               

किषक्केकोट किला

केरल की राजधानी तिरुवनन्तपुरम नगर के मध्य भाग में स्थित दुर्ग ऐतिहासिक महत्व रखता है। यही किष़क्केक्कोट्टा अर्थात् पूर्वी किला नाम से जाना जाता है। तिरुवितांकूर के इतिहास में इस किले के भीतर स्थित श्री पद्मनाभ स्वामी मंदिर, अनेक राजगृह, उनसे जुडे ...

                                               

अहमदाबाद शेयर बाजार

अहमदाबाद शेयर बाजार या एएसई अहमदाबाद में स्थित भारत के सबसे पुराने शेयर बाजारों में से एक हैं। यह सिक्युरिटीज लिमिटेड संविदा अधिनियम 1956 के तहत बसा शेयर बाजार है। इस शेयर बाजार का चिह्न स्वस्तिक है, जो हिंदू धर्म में धन और सुख का चिह्न माना जाता है।

                                               

गुजरात साइंस सिटी

गुजरात साइंस सिटी गुजरात सरकार का उपक्रम है। यह अहमदाबाद के हेबतपुर इलाके में स्थित है। 107 एकड़ में फैली इस विज्ञान नगरीमें आई.मेक्स थिएटर, विज्ञान संग्रहालय, शोध संस्थान एवं एशिया का सबसे बड़ा म्युज़िकल फव्वारा भी है।

                                               

तीन द्वार, अहमदाबाद

तीन दरवाजा, तीन द्वार या त्रण दरवाजा भारत देश में गुजरात राज्य मेंअहमदाबाद महानगर में स्थित भद्र किल्ले का ऐतिहासीक प्रवेशद्वार है। ईस्वीसन १४१५ में इस प्रवेशद्वर का निर्माण हुआ था। इस द्वार से ऐतिहासीक घटनाएँ भी जुड़ी हैं। अहमदाबाद महानगर निगम क ...

                                               

मणीनगर

मणीनगर दक्षिण अहमदाबाद का एक उपनगर है। अंग्रेजो के जमाने में यहाँ युगांडा से आए लोग रहते थे। लेकिन आज यह अहमदाबाद के सबसे विकसित इलाकों में से एक है। मणीनगर में प्रसिद्ध कांकरीया झील भी है। मणीनगर मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी का निर्वाचन स्थल भी है। ...

                                               

वस्त्रापुर झील

वस्त्रापुर झील पश्चीमी अहमदाबाद में स्थित मानव निर्मित झील है। इस झील का निर्माण अहमदाबाद शहरी विकास प्राधिकरण ने करवाया था। इस झील में अमूमन नर्मदा नदी का पानी डाला जाता है।

                                               

सरखेज रोज़ा, सरखेज

सरखेज रोजा, अहमदाबाद की खुबसुरत और पौराणिक इमारतों में से एक है। सुल्तान अहमद शाह, जिनके नाम के उपर से शहर का नाम पडा, के शासन काल 1440-1443 के दौरान सरखेज अहमदाबाद के पास एक छोटा सा गाँव हुआ करता था। उस गाँव में एक मुस्लीम पीर शेख अहमद गट्टु गंज ...

                                               

सरदार वल्लभ भाई पटेल स्टेडियम, अहमदाबाद

सरदार वल्लभभाई पटेल स्टेडियम, अहमदाबाद, गुजरात राज्य, के नवरंगपुर इलाके में स्थित एक खेल स्टेडियम है। इसे स्पोर्ट्स क्लब ऑफ़ गुजरात स्टेडियम के नाम से भी जाना जाता है। इस स्टेडियम को भारत में खेल गया सबसे पहला वनडे इंटरनैशनल क्रिकेट मैच की मेज़बा ...

                                               

अरम्बोल

अरम्बोल तट जिसे हरमल नाम से भी जाना जाता है, भारत के गोवा राज्य में स्थित एक पारम्परिक रूप से मछुआरों का एक गाँव है जो डाबोलिम हवाईअड्डे से एक घण्टे की वाहनीय दूरी पर है। यह उत्तरी गोवा के परनेम प्रशासनिक क्षेत्र में स्थित है। गोवा की राजधानी पणज ...

                                               

आगसईम

आगसईम भारत के गोवा राज्य के इलहास में बहने वाली ज़ुआरी नदी के उत्तरी किनारे पर पसा एक गाँव है। यह उत्तर में पणजी, दक्षिण में मडगाँव, पश्चिम में वास्को द गामा और पूर्व में पौण्डा से घिरा हुआ है और इस कारण से यह उत्तर और दक्षिण गोवा को ज़ुआरी सेतु ...

                                               

काणकोण

काणकोण भारत के गोवा राज्य के दक्षिण गोवा जिले में स्थित एक कस्बा और नगर पालिका है। काणकोण तालुक में पटनेम, चौडी, पोइनगुइनिम, लोलिए, अगोण्डा और गौमडोंग्रे जैसे स्थान समाहित हैं। चौडी इस तालुक का मुख्यालय और सबसे विकसित कस्बा है। प्रसिद्ध पालोलेम त ...

                                               

पोण्डा

पोण्डा, भारतीय राज्य गोवा के उत्तर गोवा जिले का एक नगर और नगर परिषद है। पोण्डा तालुक का मुख्यालय यह नगर गोवा के मध्य भाग में स्थित है और गोवा की सांस्कृतिक राजधानी के रूप में प्रसिद्ध है। यह गोवा की राजधानी पणजी के दक्षिण पूर्व में 29 किमी की दूर ...