ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 367




                                               

सतखोल, नैनीताल तहसील

सतखोल, विकास खंड रामगढ, तहसील व् जिला नैनीताल, उत्तराखंड राज्य अन्तर्गत कुमाऊँ मण्डल एक गाँव है। क्षेत्र के प्रमुख पर्यटन स्थलों में सतखोल का नाम प्रमुखता से आता है. सतखोल कुमाऊँ की पहाड़ियों में 2256 मीटर 7400 फीट की ऊँचाई पर, नैनीताल से 50 किमी ...

                                               

सल्ला रौतेला, अल्मोडा तहसील

{{Infobox Indian Jurisdictions |type = गाँव |native_name = सल्ला रौतेला, अल्मोडा तहसील |district = अल्मोड़ा |official_languages = हिन्दी,संस्कृत, |state_name = उत्तराखण्ड |website = www.uttara.gov.in |area_telephone = |postal_code = |climate = |p ...

                                               

सुतेडा, बाराकोट तहसील

उत्तराखण्ड सरकार का आधिकारिक जालपृष्ठ अंग्रेज़ी उत्तराखण्ड - भारत सरकार के आधिकारिक पोर्टल पर उत्तराखण्ड उत्तराखण्ड के बारे में विस्तृत एवं प्रामाणिक जानकारी उत्तरा कृषि प्रभा

                                               

स्यांकुरी, धारचुला तहसील

स्यांकुरी, धारचुला तहसील में भारत के उत्तराखण्ड राज्य के अन्तर्गत कुमाऊँ मण्डल के पिथोरागढ जिले का एक गाँव है। नेपाल सीमा से लगे गाँवों में यह गाँव भौगोलिक रूप से क्षेत्र के मध्य में स्थित है। धारचूला नगर से रांथी, जुम्मा के बाद तीसरा गाँव है। वि ...

                                               

ज्योलिकोट

ज्योलिकोट उत्तराखण्ड के नैनीताल जिले में स्थित है। ज्योलिकोट की खुबसूरती पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करती है। यहां पर दिन के समय गर्मी और रात के समय ठंड पडती है। आसमान आमतौपर साफ और रात तारों भरी होती है। कहा जाता है कि बहुत पहले श्री अरबिंदो और ...

                                               

त्रिऋषि सरोवर

नैनीताल के सम्बन्ध में एक और पौराणिक कथा प्रचलित है। स्कन्द पुराण के मानस खण्ड में एक समय अत्रि, पुस्त्य और पुलह नाम के ॠषि गर्गाचल की ओर जा रहे थे। मार्ग में उन्हे#े#ं यह स्थान मिला। इस स्थान की रमणीयता मे वे मुग्ध हो गये परन्तु पानी के अभाव से ...

                                               

रामगढ़, उत्तराखण्ड

भवाली से भीमताल की ओर कुछ दूर चलने पर बायीं तरफ का रास्ता रामगढ़ की ओर मुड़ जाता है। यह मार्ग सुन्दर है। इस भुवाली - मुक्तेश्वर मोटर-मार्ग कहते हैं। कुछ ही देर में २३०० मीटर की ऊँचाई वाले गागर नामक स्थान पर जब यात्रीगण पहुँचते हैं तो उन्हें हिमाल ...

                                               

सात ताल, नैनीताल

कुमाऊँ अंचल के सभी तालों में सातताल का जो अनोखा और नैसर्गिक सौन्दर्य है, वह किसी दूसरे ताल का नहीं है। इस ताल तक पहुँचने के लिए भीमताल से ही मुख्य मार्ग है। भीमताल से सातताल की दूरी केवल ४ कि॰मी॰ है। नैनीताल से सातताल २१ कि॰मी॰ की दूरी पर स्थित ह ...

                                               

हनुमानगढ़ी

नैनीताल में हनुमानगढ़ी सैलानी, पर्यटकों और धार्मिक यात्रियों के लिए विशेष, आकर्षण का केन्द्र हैै। यहाँ से पहाड़ की कई चोटियों के और मैदानी क्षेत्रों के सुन्हर दृश्य दिखाई देते हैं। हनुमानगढ़ी के पास ही एक बड़ी वेद्यशाला है। इस वेद्यशाला में नक्षर ...

                                               

बरपटिया जनजाति

ज्येष्ठरा/बरपटिया जनजाति उत्तराखण्ड के पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी ब्लॉक के मूल निवासी है जिन्हें ज्येष्ठरा भी कहा जाता है। ज्येष्ठरा का अर्थ होता है ज्येष्ठ या श्रेष्ठ अर्थात् जनजाति में श्रेष्ठ तथा बरपटिया का अर्थ होता है बारह पट्टी का ऊनी कोट ...

                                               

उत्तराखण्ड के मण्डल

उत्तराखण्ड के मण्डल भारत के उत्तराखण्ड राज्य के दो मण्डलों को कहते हैं। उत्तराखण्ड में दो मण्डल है: कुमाऊँ और गढ़वाल जो क्रमशः राज्य के पूर्वी और पश्चिमी भाग में हैं। देहरादून हरिद्वार पौड़ी गढ़वाल रुद्रप्रयाग उत्तरकाशी टिहरी गढ़वाल चमोली इन दोनो ...

                                               

ओड़िआ लिपि

ओड़िआ लिपि, ब्राह्मी लिपि से व्युत्पन्न लिपि है जिसका प्रयोग ओड़िआ भाषा लिखने में होता है। इस लिपि के वर्णों का रूप देखकर ऐसा भ्रम हो सकता है कि इस पर तमिल, मलयालम आदि दक्षिण भारतीय लिपियों का प्रभाव है, किन्तु ऐसा है नहीं। ओड़िआ लिपि, देवनागरी ल ...

                                               

किसान (जनजाति)

किसान जनजाति, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल, बिहाऔर झारखण्ड प्रदेशों की निवासी जनजाति है। ये लोग परम्परागत रूप से कृषि कार्य करते हैं। ये लोग मुख्यतः कुड़ुख भाषा, सुन्दरगढ़ी उड़िया, और हिन्दी बोलते हैं।

                                               

किब्बनहल्ली

किब्बनहल्ली भारत के कर्नाटक राज्य के तुमकूर ज़िले में स्थित एक गाँव है। यह तिपटूर तालुका के अंतर्गत आता है। राष्ट्रीय राजमार्ग ७३ यहाँ से गुज़रता है।

                                               

कूडली

कूडली भारत के कर्नाटक राज्य के शिमोगा ज़िले में स्थित एक गाँव है। यह तुंगा नदी और भद्रा नदी का संगमस्थल होने के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ के बाद मिली-जुली नदी तुंगभद्रा नदी कहलाती है। कूडली का 12वीं शताब्दी का होयसल शैली में बना रामेश्वर मंदिर भी प्र ...

                                               

कोट्टिगेहार

कोट्टिगेहार भारत के कर्नाटक राज्य के चिकमगलूर ज़िले में स्थित एक गाँव है। यह पश्चिमी घाट में चारमाड़ी के घाट में पहाड़ पर स्थित एक रमणीय स्थान है। राष्ट्रीय राजमार्ग ७३ यहाँ से गुज़रता है।

                                               

नित्तुर, तुमकूर

नित्तुर भारत के कर्नाटक राज्य के तुमकूर ज़िले में स्थित एक गाँव है। राष्ट्रीय राजमार्ग ७३ यहाँ से गुज़रता है। यह गाँव अपने ज्वालामालिनि मंदिर के लिए प्रसिद्ध है।

                                               

हरदनहल्ली

हरदनहल्ली भारतीय राज्य कर्नाटक के हासन जिला स्थित एक गाँव है। इसी गाँव में भारत के ग्यारहवें प्रधानमंत्री ऍच॰ डी॰ देवगौड़ा का १८ मई १९३३ को जन्म हुआ था।

                                               

ओट्टापालम

ओट्टापालम केरल राज्य के पालघाट जिले का एक छोटा नगर है। वेनियाकुलम से ६ किमी॰ पूर्व पुरानी सड़क पर स्थित इसका रेलवे स्टेशन है। यहाँ पर कुछ सरकारी कार्यालय, जैसे तहसीलदार तथा मुंसिफ की कचहरियाँ, डाकखाना, तथा पुलिस स्टेशन आदि हैं। कुछ शिक्षा संस्थाए ...

                                               

चेर्तला

चेर्तला, भारत के राज्य केरल के आलप्पुषा जिले में स्थित एक शहर है। यह कोच्चि शहर के 30 किमी दक्षिण में और आलाप्पुषा शहर की 22 किमी उत्तर की दूरी पर स्थित है। यह कोच्चि - आलाप्पुषा राष्ट्रीय राजमार्ग 47 और रेल मार्ग तटीय पर स्थित है।

                                               

तोडुपुज़ा

"तोडुपुज़ा" मलयालम: തൊടുപുഴ केरल राज्य में इडुक्की जिले में एक नगरपालिका और व्यावसायिक केंद्र है। यह शहर कोच्चि से 62 किलोमीटर पूर्व दक्षिण में बसा हुआ है। पी.जे. जोसेफ तोडुपुज़ा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से सातवीं बार के लिए निर्वाचित हुए. वह के ...

                                               

कोच्चि नगर निगम

लोगों ने 18 अप्रैल 1664 में इसी प्रकर के एक निगम की स्थापना की थी। लेकिन अंग्रेजों ने जब इस जगह पर कब्जा किया तो इस जगह के निगम को पूरी तरह से नष्ट कर दिया और अपने सैनिकों के रहने और हथियार आदि के लिए जगह बना डाला। इसके कई वर्षों के पश्चात 1 नवम् ...

                                               

वेट्टक्कल

वेट्टक्कल भारत के केरल राज्य में आलप्पुषा जिले के चेर्तला तालुक में स्थित एक तटीय गाँव है। वेट्टक्कल चेर्तला शहर से लगभग 5 किमी पश्चिम में स्थित है और पट्टणक्काट पंचायत के अंतर्गत आता है।

                                               

अमरापुर वरुडी (अमरेली)

अमरापुर वरुडी भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। अमरापुर वरुडी गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मुह ...

                                               

ईश्वरीया (अमरेली)

ईश्वरीया भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। ईश्वरीया गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मुहफली, तल, अ ...

                                               

कमीगढ (अमरेली)

कमीगढ भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। कमीगढ गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मुहफली, तल, अनाज, क ...

                                               

काठमा (अमरेली)

काठमा भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। काठमा गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मुहफली, तल, अनाज, क ...

                                               

केराला (अमरेली)

केराला भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। केराला गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मुहफली, तल, अनाज, ...

                                               

केरीयाचाड (अमरेली)

केरीयाचाड भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। केरीयाचाड गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मुहफली, तल, ...

                                               

केरीयानागस (अमरेली)

केरीयानागस भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। केरीयानागस गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहाँ पे गेहूँ, मुहफली, ...

                                               

खडखंभालीया (अमरेली)

खडखंभालीया भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। खडखंभालीया गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मुहफली, त ...

                                               

खारी खीजडीया (अमरेली)

खारी खीजडीया भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। खारी खीजडीया गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मुहफल ...

                                               

खीजडीया रादडीया (अमरेली)

खीजडीया रादडीया भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। खीजडीया रादडीया गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, ...

                                               

गावडका (अमरेली)

गावडका भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। गावडका गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मुहफली, तल, अनाज, ...

                                               

गीरीया (अमरेली)

गीरीया भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। गीरीया गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मुहफली, तल, अनाज, ...

                                               

चक्करगढ (अमरेली)

चक्करगढ भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। चक्करगढ गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजदूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मूँगफली, तल, ब ...

                                               

चाँदगढ (अमरेली)

चाँदगढ भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। चाँदगढ गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजदूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहाँ पे गेहूँ, मूँगफली, तल, बा ...

                                               

चाँपाथल (अमरेली)

चाँपाथल भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। चाँपाथल गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजदूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहाँ पे गेहूँ, मूँगफली, तल, ...

                                               

चाडीया (अमरेली)

चाडीया भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। चाडीया गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजदूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मूँगफली, तल, बाज ...

                                               

चाणोद

२००१ की जनगणना के अनुसार, चाणोद की जनसंख्या 11.958 है। इसमें पुरुष 61% एवं महिलाएं 39% हैं। चाणोद की औसत साक्षरता दर 72% है जो भारत के राष्ट्रीय औसत 59.5% से अधिक है। चाणोद की 16 प्रतिशत जनसंख्या 6 वर्ष से कम आयु के बच्चों की है।

                                               

चित्तल (अमरेली)

चित्तल भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। चित्तल गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजदूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मूँगफली, तल, बाज ...

                                               

छोटा आँकडीया (अमरेली)

छोटा आँकडीया भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। छोटा आँकडीया गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मुहफल ...

                                               

छोटा गोखरवाला (अमरेली)

छोटा गोखरवाला भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। छोटा गोखरवाला गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मुह ...

                                               

छोटा भंडारीया (अमरेली)

छोटा भंडारीया भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। छोटा भंडारीया गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजदूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहाँ पे गेहूँ, म ...

                                               

छोटा माँडवडा (अमरेली)

छोटा माँडवडा भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। छोटा माँडवडा गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजदूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहाँ पे गेहूँ, मूँ ...

                                               

छोटा माचीयाला (अमरेली)

छोटा माचीयाला भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। छोटा माचीयाला गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजदूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहाँ पे गेहूँ, म ...

                                               

जशवंतगढ (अमरेली)

जशवंतगढ भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। जशवंतगढ गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजदूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मूँगफली, तल, ब ...

                                               

जालीया (अमरेली)

जालीया भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। जालीया गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजदूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहाँ पे गेहूँ, मूँगफली, तल, बा ...

                                               

टींबला (अमरेली)

टींबला भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। टींबला गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजदूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहा पे गेहूँ, मूँगफली, तल, बाज ...

                                               

टींबा (अमरेली)

टींबा भारत देश में गुजरात प्रान्त के सौराष्ट्र विस्तार में अमरेली जिले के ११ तहसील में से एक अमरेली तहसील का महत्वपूर्ण गाँव है। टींबा गाँव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती, खेतमजदूरी, पशुपालन और रत्नकला कारीगरी है। यहाँ पे गेहूँ, मूँगफली, तल, बाजर ...