ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 246




                                               

आंततंतु

आंततंतु, जिसे अक्सर कैटगट भी कहते है, ऐसे प्राकृतिक रेशे होते हैं जो प्राणियों की आँतों मे मिलने वाले रेशों से बनते हैं। इन्हें अक्सर भेड़ों व बकरियों की आँतों से बनाया जाता है, हालांकि सूअरों, घोड़ों, गधों व खच्चरों की आँतों का प्रयोग भी पाया जा ...

                                               

आरोग्य मंदिर

आरोग्य मन्दिर भारत के उत्तर प्रदेश के गोरखपुर नगर में स्थित एक प्राकृतिक चिकित्सालय है। यह गोरखपुर रेलवे स्टेशन से पाँच किलोमीटर की दूरी पर, बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज रोड पर, आम बाजार एवं राप्तीनगर के निकट अवस्थित है। इसकी स्थापना सन् 1940 में डॉ ...

                                               

प्राकृतिक स्वास्थ्य

प्राकृतिक चिकित्सा एक वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली है, जो प्राकृतिक उपचाऔर निरोग रखने की शरीर की अपनी अहम क्षमता पर केंद्रित होती है। प्राकृतिक दर्शन सर्जरी और दवाओं के प्रति एक समग्र दृष्टिकोण और उनके कम से कम उपयोग का पक्षधर है। प्राकृतिक चिकित्सा ...

                                               

वस्ति

वस्ति वह क्रिया है, जिसमें गुदामार्ग, मूत्रमार्ग, अपत्यमार्ग, व्रण मुख आदि से औषधि युक्त विभिन्न द्रव पदार्थों को शरीर में प्रवेश कराया जाता है।

                                               

कैनबिस (ड्रग)

कैनबिस भांग के पौधे से तैयार किया जाता है जिसे एक प्सैकोएक्टिव ड्रग या औषधि के रूप में उपयोग किया जाता है। कैनबिस को मारिजुआना, गांजा और भांग के नामों से भी पुकारा जाता है। कैनबिस का मुख्य प्सैकोएक्टिव हिस्सा टेट्राहैड्राकैनबिनोल होता है; यह ४८३ ...

                                               

गाँजे का पौधा

गाँजे के पौधे का वानस्पतिक नाम कैनाबिस सैटिवा है। यह भांग की जाति का ही एक पौधा है। यह देखने में भाँग से भिन्न नहीं होता, पर भाँग की तरह इसमें फूल नहीं लगते। कैनाबिस के पौधों से गाँजा, चरस और भाँग, ये मादक और चिकित्सोपयोगी द्रव्य तथा फल, बीजतैल औ ...

                                               

भांग का पौधा

भांग एक प्रकार का पौधा है जिसकी पत्तियों को पीस कर भांग तैयार की जाती है। उत्तर भारत में इसका प्रयोग बहुतायत से स्वास्थ्य, हल्के नशे तथा दवाओं के लिए किया जाता है। भारतवर्ष में भांग के अपने आप पैदा हुए पौधे सभी जगह पाये जाते हैं। भांग विशेषकर उत् ...

                                               

केंद्रीय युनानी चिकित्सा अनुसंधान संस्थान, हैदराबाद

केंद्रीय युनानी चिकित्सा अनुसंधान संस्थान या सीआरआईयूएम हैदराबाद, दिसंबर 1971 में स्थापित, भारत सरकार द्वारा प्रायोजित हैदराबद में स्थित यूनानी चिकित्सा अनुसंधान केंद्और चिकित्सालय है। युनानी चिकित्सा केंद्र, हैदराबाद- यूनानी चिकित्सा, आयुर्वेद व ...

                                               

जामिया हमदर्द

जामिया हमदर्द उच्च शिक्षा का एक संस्थान है, भारत में नई दिल्ली में स्थित मानित विश्वविद्यालय है । इसे भारत के राष्ट्रीय आकलन और मान्यता परिषद द्वारा ए ग्रेड विश्वविद्यालय की स्थिति से सम्मानित किया गया है और यह 1989 में स्थापित किया गया। यह एक सर ...

                                               

हकीम अब्दुल मजीद

हकीम अब्दुल मजीद: हाफिज़ अब्दुल मजीद भारत के पेलिवेट में 1883 में पैदा हुये, इनके पिता शेख रहीम बख्श थे। कहा जाता है कि वह पूरे पवित्र कुरान शरीफ को दिल से सीखा है उन्होंने उर्दू और फारसी भाषाओं की उत्पत्ति का भी अध्ययन किया। इसके बाद उन्होंने यू ...

                                               

हमदर्द लैबोरेटरीज

हमदर्द लैबोरेटरीज: हमदर्द लैबोरेटरीज, भारत में यूनानी और आयुर्वेदिक दवा कंपनी है । यह 1906 में दिल्ली में हकीम हाफिज अब्दुल मजीद ने स्थापित किया था, और 1 9 48 में वक्फ बन गया था। इसके कुछ सबसे प्रसिद्ध उत्पादों में शार्बत रोह अफजा, साफ़ी, रोग़न ब ...

                                               

असामान्य मनोविज्ञान

आसामान्य मनोविज्ञान मनोविज्ञान की वह शाखा है जो मनुष्यों के असाधारण व्यवहारों, विचारों, ज्ञान, भावनाओं और क्रियाओं का वैज्ञानिक अध्ययन करती है। असामान्य या असाधारण व्यवहार वह है जो सामान्य या साधारण व्यवहार से भिन्न हो। साधारण व्यवहार वह है जो बह ...

                                               

कट्टरता

किसी सम्प्रदाय या विचार को आंख मूंदकर मानना और उसके लिए अति उत्साह से काम करना कट्टरता कहलाता है। जॉर्ज सन्तायन के अनुसार, जब लक्ष्य ही भूल गया हो तब अपने प्रयास को दोगुना बढ़ा देना" कट्टरपन है। कट्टर व्यक्ति बहुत कड़ाई से किसीइ विचार का पालन करत ...

                                               

बाध्यकारी संचय

बाध्यकारी संचय या संचय विकार व्यवहार सम्बन्धी एक विकार है जिसमें व्यक्ति अत्यधिक वस्तुएँ प्राप्त करके अपने पास रखने की प्रवृत्ति रखता है तथा उन वस्तुओं को त्यागने में असमर्थ या अनिच्छुक होता है।

                                               

व्यक्तित्व विकार

व्यक्तित्व विकार भिन्न प्रकार के व्यक्तित्वों और व्यवहारों का एक वर्ग है जिसे अमेरिकन साइकियेट्रिक एसोसियेशन निम्न प्रकार से परिभाषित करता है, "आतंरिक अनुभव और व्यवहार का एक स्थायी तरीका जो इन लक्षणों को प्रकट करने वाले व्यक्ति की संस्कृति की अपे ...

                                               

तंत्रिका शरीर विज्ञान

तंत्रिका शरीर विज्ञान शरीर क्रिया विज्ञान और तंत्रिका विज्ञान की एक शाखा है जो तन्त्रिका तन्त्र के चलन से सम्बन्धित है। इसके अध्ययन में शारिरिक विद्युत का मापन विशेष महत्व रखता है, हालांकि अणुजैविकी और अन्य क्षेत्र भी महत्वपूर्ण हैं।

                                               

उद्दीपक (शरीरविज्ञान)

शरीरविज्ञान में उद्दीपक बाहरी या भीतरी परिवेश में हुए ऐसे किसी प्रतीत हो सकने वाले बदलाव को कहते हैं। उद्दीपन के जवाब में किसी जीव या अंग की प्रतिक्रिया करने की क्षमता को संवेदनशीलता कहते हैं।

                                               

नैदानिक मनोविज्ञान

नैदानिक मनोविज्ञान, clinical psychology मनोवैज्ञानिक आधार वाले संकट या दुष्क्रियता से बचाव तथा राहत प्रदान करने या व्यक्तिपरक स्वास्थ्य तथा व्यक्तिगत विकास को बढ़ावा देने वाला एक एकीकृत विज्ञान, सिद्धांत तथा नैदानिक ज्ञान है। इस पद्धति के केंद्र ...

                                               

एशेरिकिया कोलाए

एशेरिकिया कोलाए, जिसे ई० कोलाए भी कहते हैं, एक ग्राम-ऋणात्मक, विकल्पी अवायुजीवी, छड़ी-आकृति का बैक्टीरिया है जो एशेरिकिया जीववैज्ञानिक वंश का सदस्य है। यह साधारण-रूप से नियततापी प्राणियों के जठरांत्र क्षेत्रमें निचली आँतों में रहता है। अधिकांश इ० ...

                                               

एशेरिकिया

एशेरिकिया प्रोटियोबैक्टीरिया संघ के गामाप्रोटियोबैक्टीरिया वर्ग के एंटेरोबैक्टीरियेसी कुल का एक वंश है। यह एक अंतर्बीजाणु न बनाने वाला, छड़ी-आकृति का विकल्पी अवायुजीव बैक्टीरिया है, जो सभी अन्य प्रोटियोबैक्टीरिया की भांति ग्राम-ऋणात्मक है। एशेरिक ...

                                               

क्लैमिडिया (वंश)

यदि आप इसी नाम के यौन रोग के बारे में जानकारी ढूंढ रहे हैं तो क्लैमिडिया संक्रमण का लेख देखें क्लैमिडिया रोगजनक बैक्टीरिया का एक जीववैज्ञानिक वंश है, जिसकी सदस्य जातियाँ अविकल्पी कोशिकान्तरिक परजीवी होती हैं। मानवों में क्लैमिडिया संक्रमण सबसे अध ...

                                               

क्लैमिडियाए

यदि आप इस से मिलते-जुलते नाम के यौन रोग के बारे में जानकारी ढूंढ रहे हैं तो क्लैमिडिया संक्रमण का लेख देखें क्लैमिडियाए ग्राम-ऋणात्मक बैक्टीरिया का एक प्रमुख जीववैज्ञानिक संघ और वर्ग है। इसकी सदस्य जातियाँ बहुत विविध हैं, लेकिन सभी सुकेन्द्रिक को ...

                                               

स्टैफ़ीलोकोक्क्स

स्टैफ़ीलोकोक्क्स ग्राम-धनात्मक बैक्टीरिया का एक वंश है। सूक्ष्मदर्शी से देखने पर यह अंगूर जैसे गोल और गुच्छों में पाया जाता है। स्टैफ़ीलोकोक्क्स की लगभग ४० जातियाँ हैं, जो सभी वैकल्पिक अवायुजीव हैं, यानि यह वायवीय और अवायवीय दोनों प्रकार के श्वसन ...

                                               

हेलिकोबैक्टर

हेलिकोबैक्टर कुण्डल-आकृति के ग्राम-ऋणात्मक बैक्टीरिया का एक जीववैज्ञानिक वंश है। इसकी कुछ सदस्य जातियाँ कुछ स्तनधारियों और पक्षियों के जठरांत्र क्षेत्र के ऊपरी भाग और यकृत में रहती हुई पाई जाती हैं। इसकी सबसे अधिक जानी-मानी जाति, हेलिकोबैक्टर पाइ ...

                                               

ऑर्थोमिक्सोविरिडि

ऑर्थोमिक्सोविरिडि आर एन ए विषाणुओं का एक कुल है जिसमे विषाणुओं के पाँच वंश शामिल हैं: इन्फ्लुएंजाविषाणु ए, इन्फ्लुएंजाविषाणु बी, व्एंजाविषाणु सी, आइसाविषाणु और थोगोटोविषाणु। पहले तीन वंशों में वह विषाणु शामिल हैं जो कशेरुकी जन्तुओं को इन्फ्लुएंजा ...

                                               

रक्तस्राव

रक्तस्राव शब्द का अर्थ है रुधिरवाहिकाओं से रक्त का बाहर निकलना। जब तक रुधिरवाहिकाओं में दरार, या छिद्र न हो, तब तक रक्तस्राव का होना संभव नहीं है। चोट या रोग के कारण ही रुधिरवाहिकाओं में दरार या छिद्र होते हैं। चोट लगने पर तत्काल रक्तस्राव होना प ...

                                               

2008 नैना देवी भगदड़

2008 नैना देवी भगदड़ 3 अगस्त 2008 को हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में स्थित नैना देवी मंदिर में हुई थी। इसमें 146 लोग मारे गए थे और लगभग 150 लोग घायल हुए थे।

                                               

नशीली दवा की अधिक मात्रा

नशीली दवा की अधिक मात्रा शब्द) वर्णन करता है की अत्यधिक मात्रा में एक दवा या अन्य पदार्थ का आवेदन घूस है। दवा की अधिक मात्रा खतरनाक है और व्यापक रूप से माना जाता हानिकारक के रूप में यह मौत में परिणाम कर सकते हैं।

                                               

परार्थवादी आत्महत्या

परार्थवादी आत्महत्या किसी एक अथवा अन्यों के लाभ के लिए किसी एक के जीवन से समझौता करने को कहा जाता है। यह सामान्यतः किसी समूह के अच्छे के लिए अथवा किसी समाज के प्रतिष्ठा अथवा रिति-रिवाजों के कारण होता है। परार्थवादी आत्महत्या अथवा भलाई के लिए आत्म ...

                                               

भालू

भालू या रीछ, जिसका वैज्ञानिक नाम उरसीडे है, स्तनधारी प्राणियों के मांसाहारी गण का एक जीववैज्ञानिक कुल है। हालाँकि इसकी सिर्फ आठ ज्ञात जातियाँ हैं, इसका निवास पूरी दुनिया में बहुत ही विस्तृत है। यह एशिया, यूरोप, उत्तर अमेरिका और दक्षिण अमेरिका के ...

                                               

सील

सील या पिनिपेड मांसाहारी समुद्री स्तनधारी प्राणियों का एक विविध क्लेड है। इसमें भिन्न प्रकार की सीलें, जलव्याघ्र, वाल्रस, इत्यादि शामिल हैं। वर्तमान विश्व में ३३ ज्ञात पिनिपेड जातियाँ अस्तित्व में हैं लेकिन जीवाश्मों से ५० विलुप्त जातियों की पहचा ...

                                               

नैरोबी के शॉपिंग मॉल में गोलाबारी

नैरोबी के शॉपिंग मॉल में गोलाबारी वो आतंकवादी घटना है जिसमें कीनिया की राजधानी नैरोबी के वैस्टगेट शॉपिंग मॉल में 21 सितम्बर 2013 की दोपहर को कम से कम 59 लोगों को इस्लामिक आतंकवादियों ने गोलीबारी द्वारा मार दिया था।

                                               

वॉशिंगटन नेवी यार्ड गोलीबारी

वॉशिंगटन नेवी यार्ड गोलीबारी अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन डी॰ सी॰ में सितम्बर 16, 2013, के दिन सुबह 8:20 बजे के आसपास हुई थी। उच्च सुरक्षा वाले नौसेना परिसर वॉशिंगटन नेवी यार्ड के अंदर तीन अज्ञात बंदूकधारियों द्वारा की गई गोलीबारी में कम से कम 12 ...

                                               

अपमलन

अपमलन का अर्थ है - गुदाद्वार से मल त्याग करना। यह पाचन क्रिया की अन्तिम क्रिया है।मल ठोस, अर्धठोस या द्रव के रूप में हो सकता है। मानव द्वारा अपमलन की आवृत्ति २४ घण्टे में दो-तीन बार से लेकर एक सप्ताह में दो-चार बार तक होती है। आँतों की पेशियों मे ...

                                               

तंत्रिकार्ति

तंत्रिकार्ति या तंत्रिकाशूल या स्नायुशूल का अर्थ है किसी संवेदी तंत्रिका के विभाग में वेदना होना। इससे तंत्रिकामूल या तंत्रिकाप्रकांड में क्षति, प्रदाह या क्षोभ होना लक्षित होता है। वेदना जलन, भोंकने, काटने, फटने तथा उत्स्फोटक जैसी हो सती है, या ...

                                               

दर्द

दर्द या पीड़ा एक अप्रिय अनुभव होता है। इसका अनुभव कई बार किसी चोट, ठोकर लगने, किसी के मारने, किसी घाव में नमक या आयोडीन आदि लगने से होता है। अंतर्राष्ट्रीय पीड़ा अनुसंधान संघ द्वारा दी गई परिभाषा के अनुसार "एक अप्रिय संवेदी और भावनात्मक अनुभव जो ...

                                               

पोटैशियम नाइट्रेट

पोटैशियम नाइट्रेट एक रासायनिक यौगिक है। इसका अणसूत्र KNO 3 है। इसे साल्ट पीटर भी कहा जाता है। यह एक आयनिक लवण है। पोटैशियम नाइट्रेट शोरा नामक खनिज के रूप मिलता है और नाइट्रोजन का प्राकृतिक ठोस स्रोत है। नाइट्रोजन से युक्त बहुत से यौगिकों को सामूह ...

                                               

प्रोजेक्ट टाईगर

प्रोजेक्ट टाईगर की शुरुआत ७ अप्रैल 1973 को हुई थी। इसके अन्तर्गत आरम्भ में ९ बाघ अभयारण्य बनागए थे। आज इनकी संख्या बढ़कर 50 हो गई है। सरकारी आकडों के अनुसार 2006 में १४११ बाघ बचे हुए है। 2010 में जंगली बाघों की संख्या 1701 हो गयी है। 2226 बाघ 201 ...

                                               

भारतीय वन्यजीव संस्थान

भारतीय वन्यजीव संस्थान १९८२ में स्थापित एक अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त भारतीय संस्थान है। यह संस्थान प्रशिक्षण पाठ्यक्रम, अकादमिक कार्यक्रम के अलावा वन्यजीव अनुसंधान तथा प्रबंधन में सलाहकारिता प्रदान करता है। भारतीय वन्यजीव संस्थान का परिसर सम ...

                                               

रेडियोसहन

रेडियोसहन किसी जीव की आयनकारी विकिरण सहन करने की क्षमता को कहते हैं। यह विकिरण साधारण जीवों की कोशिकाओं और ऊतकों के लिये बहुत हानिकारक होता है और जानलेवा सिद्ध हो सकता है। अधिक मात्रा में आयनकारी विकिरण सह सकने वाले जीव रेडियोसहनी कहलाते हैं। इनम ...

                                               

झपकी

झपकी दोपहर की शुरूआत, अक्सर दोपहर के भोजन के बाद थोड़ी देर के लिए उंघने को कहते हैं। नींद का इस तरह का समय कुछ देशों, खासकर जहां मौसम गर्म होता है, में एक आम परंपरा है। सियेस्ता शब्द लातिन होरा सेक्स्ता - "छठा घंटा". से निकला स्पेनिश शब्द है। झपक ...

                                               

शीतनिष्क्रियता

समशीतोष्ण और शीतप्रधान देशों में रहनेवाले जीवों की उस निष्क्रिय तथा अवसन्न अवस्था को शीतनिष्क्रियता कहते हैं जिसमें वहाँ के अनेक प्राणी जाड़े की ऋतु बिताते हैं। इस अवस्था में शारीरिक क्रियाएँ रुक जाती हैं या बहुत क्षीण हो जाती है, तथा वह जीव दीर् ...

                                               

स्वप्नदोष

अपने नाम के विपरीत स्वप्नदोष कोई दोष न होकर एक स्वाभाविक दैहिक क्रिया है जिसके अंतर्गत एक पुरुष को नींद के दौरान वीर्यपात हो जाता है। यह 6 महिने में अगर 1 या 2 बार ही हो तो सामान्य बात कही जा सकती है।और यह कहा जा सकता है कि कोई रोग नहीं है किन्तु ...

                                               

विश्वसनीयता इंजीनियरी

विश्वसनीयता इंजीनियरी, इंजीनियरी की वह शाखा है जो निकायों या उनके घटकों द्वारा निर्धारित स्थितियों में, अपना निर्धारित कार्य, निर्धारित समय तक, करने की क्षमता का विवेचन करती है। किसी तंत्र की विश्वसनीयता को हमेशा एक प्रायिकता के रूप में व्यक्त कि ...

                                               

गोबर

गोबर शब्द का प्रयोग गाय, बैल, भैंस या भैंसा के मल के लिये प्राय: होता है। घास, भूसा, खली आदि जो कुछ चौपायों द्वारा खाया जाता है उसके पाचन में कितने ही रासायनिक परिवर्तन होते हैं तथा जो पदार्थ अपचित रह जाते हैं वे शरीर के अन्य अपद्रव्यों के साथ गो ...

                                               

पूतिरोधी

चिकित्सा में पूतिरोधी ऐसे द्रव्य हैं जो सूक्ष्म जीवों की वृद्धि को रोकते, या उनका विनाश करते हैं । यहाँ पर इनका विचार विशेष रूप से शरीर के संपर्क में आने वाले सूक्ष्म जीवों के विनाश की दृष्टि से किया गया है। प्रतिरोधी शब्द की परिभाषा कुछ अस्पष्ट ...

                                               

उभयसंवेदी

उभयसंवेदी ऐसा रासायनिक यौगिक होता है जिसमें जलस्नेही और जलविरोधी दोनों प्रकार के भाग हों। अक्सर इसका जलविरोधी भाग वसास्नेही भी होता है इसलिए कई परिभाषाओं में यह भी कहा जाता है कि उभयसंवेदी यौगिकों में जलस्नेही और वसास्नेही दोनों भाग होते हैं। जैव ...

                                               

डेटॉल (साबुन)

डेटॉल रेकिट बेंकाइजर नामक एक इंग्लैंड की कंपनी द्वारा निर्मित स्वच्छता उत्पादों की श्रेणी में साबुन का एक महत्वपूर्ण ब्रांड हैं। यह ब्रांड ट्रस्ट रिपोर्ट 2011 तक भारत में 48 वीं सबसे विश्वसनीय एक के रूप में स्थान दिया गया है। डेटॉल के मूल्य में ह ...

                                               

निरमा (साबुन)

टॉयलेट साबुन श्रेणी में निरमा का धावा निरमा स्नान साबुन, हिंदुस्तान लीवर स्थिर से सबसे ज्यादा बिकने कार्बोलिक साबुन ब्रांड, लाइफबॉय, के खिलाफ ही तैनात है जो एक साबुन के साथ शुरू किया गया था। निरमा सौंदर्य साबुन, देश में तीसरा सबसे बड़ा बिकने वाला ...

                                               

मार्गो (साबुन)

मार्गो भारत में निर्मित साबुन का एक ब्रांड है। नीम उसके मुख्य घटक के रूप में हैं। 1920 में शुरू किया गया था। 1988 में साबुन की बाजार हिस्सेदारी के साथ, भारत में शीर्ष पांच विक्री ब्रांडों में से एक था।