ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 236




                                               

मलेशियाई तमिल

तमिल मलेशियाई, जिन्हें मलेशियाई तमिलों के नाम से भी जाना जाता है, पूर्ण या आंशिक तमिल वंश के लोग हैं जो मलेशिया में पैदा हुए या प्रवास कर रहे थे। वे मलेशिया में मलेशियाई भारतीय आबादी के 90% से अधिक बनाते हैं। यद्यपि ब्रिटिश औपनिवेशिक काल के दौरान ...

                                               

ईवान आईवाज़ोवस्की

ईवान कॉन्स्टेनटिनोविच आईवाज़ोवस्की ; 29 जुलाई 1817 – 2 मई 1900) एक रूसी प्रकृतवादी चित्रकार थे। उन्हें इतिहास के महानतम सामुद्रिक कलाकारों में से एक माना जाता है। बचपन में ईसाई बनने पर इनका नाम Hovhannes Aivazian रखा गया था। इनका जन्म काला सागर क ...

                                               

रूस में जातीय समूह

रूस एक बहुराष्ट्रीय राज्य है जिसमें 186 से अधिक जातीय समूहों को राष्ट्रीयता के रूप में नामित किया गया है; इन समूहों की आबादी लाखों से 10.000 से कम से काफी भिन्न होती है। रूस के गठन वाले 85 विषयों में से 21 राष्ट्रीय गणराज्य, 5 स्वायत्त ओक्रग और 1 ...

                                               

टोमास ट्रांसट्रोमर

स्वीडन के कवि टोमास ट्रांसट्रोमर को वर्ष २०११ में साहित्य के नोबल पुरस्कार के लिए चुना गया था। 15 अप्रैल 1931 को स्टॉकहोम में जन्मे ट्रांसटोमर मूलत कवि थे और उनकी प्रारंभिक शिक्षा दीक्षा स्वीडन में ही हुई थी। उन्होंने बाद में स्वीडन यूनिवर्सिटी स ...

                                               

डॉ शरण शिवराज पाटिल

डॉ शरण शिवराज पाटिल का जन्म भारत के कर्नाटक राज्य के रायचूर जिले में हुआ। उनकी आरंभिक शिक्षा गुलबर्ग में हुई। वर्ष 1979 वे बैंगलोर चले गए, जहां उन्होंने एमईएस कॉलेज में प्री-मेडिकल स्कूल ट्रेनिंग ली। Sharan Patil completed his medical school with ...

                                               

मंजुला अनागनी

मंजूला अनागणी एक भारतीय स्त्री रोग विशेषज्ञ और कम से कम आक्रामक शल्यचिकित्सक में विशेषज्ञ हैं। उन्होंने गांधी मेडिकल कॉलेज अनागणी से स्नातक उपाधि प्राप्त की दक्षिण भारतीय राज्य तेलंगाना से और उस्मानिया मेडिकल कॉलेज, हैदराबाद से एमडी। बाद में उन्ह ...

                                               

इलियाना सिटारिस्टी

इलियाना सिटारिस्टी एक इतालवी मूल की ओडिसी और छऊ नर्तकी हैं, और भुवनेश्वर, भारत में स्थित नृत्य प्रशिक्षक हैं। उन्हें 1995 में युगांत के लिए सर्वश्रेष्ठ कोरियोग्राफी के लिए 43 वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 2006 में, विदेशी मूल ...

                                               

क्षत्रियम ओन्गबी थोरैनीसबी देवी

क्षत्रियम ओन्गबी थोरैनीसबी देवी एक भारतीय शास्त्रीय नर्तक और लेखक है, जो मणिपुरी के भारतीय शास्त्रीय नृत्य रूप में विशेषज्ञता है। उन्हें २००३ में भारत सरकार द्वारा पद्म श्री, चौथे उच्चतम भारतीय नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। उनका ३ नवंब ...

                                               

वायुयान चालक

एक विमान पायलट या एविएटर वो व्यक्ति है जो अपनी दिशात्मक उड़ान नियंत्रण ऑपरेटिंग द्वारा एक विमान की उड़ान को नियंत्रित करता है। नाविक या फ्लाइट इंजीनियर्स जैसे कुछ अन्य हवाईदल सदस्य भी एविएटर्स माने जाते हैं, क्योंकि वे हवाई जहाज के नेविगेशन और इं ...

                                               

अब्राहम मास्लो

अब्राहम मास्लो अमेरिका के मनोवैज्ञानिक थे जिन्होने मास्लो का प्रेरणा का पदानुक्रम सिद्धान्त नामक मानसिक स्वास्थ्य का सिद्धान्त प्रस्तुत किया। मास्लो कई महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों में मनोविज्ञान के प्रोफेसर रहे। व्यक्तित्व के अध्ययन के सन्दर ...

                                               

एडवर्ड थार्नडाइक

एडवर्ड थार्नडाइक यूएसए के मनोवैज्ञानिक एवं थे जिहोने लगभग अपना पूरा जीवन कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के शिक्षक महाविद्यालय में बिताया। पशु व्यवहार एवं सीखने की प्रक्रिया पर उनका कार्य के आधापर ही आधुनिक शैक्षिक मनोविज्ञान की वैज्ञानिक नीव पड़ी। उन ...

                                               

एरिक एरिक्सन

एरिक एरिक्सन एक अमेरिकी विकास मनोवैज्ञानिक एवं मनोविश्लेषक थे जिनका जन्म जर्मनी में हुआ था। वे अपने मनोसामाजिक विकास सिद्धान्त‎ के लिये जाने जाते हैं।

                                               

कार्ल गुस्टाफ युंग

कार्ल गुस्टाफ युंग ; 26 जुलाई 1875 – 6 जून 1961) स्विटजरलैण्ड के मनोवैज्ञानिक तथा मनश्चिकित्सक थे। उन्होने वैश्लेषिक मनोविज्ञान की नींव डाली।

                                               

नरेन्द्रनाथ सेनगुप्त

नरेन्द्रनाथ सेनगुप्त भारत के मनोवैज्ञानिक, दार्शनिक तथा प्राध्यापक थे जिन्हें प्रायः भारत में आधुनिक मनोविज्ञान का जनक कहा जाता है।

                                               

लारेन्स कोलबर्ग

लारेन्स कोलबर्ग अमेरिका के एक मनोवैज्ञानिक थे जिनका नैतिक विकास के चरण बहुत प्रसिद्ध है। वे शिकागो विश्वविद्यालय के मनोविज्ञान विभाग में तथा हारवर्ड विश्वविद्यालय के ग्रजुएट स्कूल में प्रोफेसर थे।

                                               

लिव वाइगोत्सकी

लिव सिमनोविच वाइगोत्सकी सोवियत संघ के मनोवैज्ञानिक थे तथा वाइगोत्स्की मण्डल के नेता थे। उन्होने मानव के सांस्कृतिक तथा जैव-सामाजिक विकास का सिद्धान्त दिया जिसे सांस्कृतिक-ऐतिहासिक मनोविज्ञान कहा जाता है। उनका मुख्य कार्यक्षेत्र विकास मनोविज्ञान थ ...

                                               

विलियम जेम्स

विलियम जेम्स अमेरिकी दार्शनिक एवं मनोवैज्ञानिक थे जिन्होने चिकित्सक के रूप में भी प्रशिक्षण पाया था। इन्होंने मनोविज्ञान को दर्शनशास्त्र से पृथक किया था, इसलिए इन्हें मनोविज्ञान का जनक भी मन जाता है। विलियम जेम्स ने मनोविज्ञान के अध्ययन हेतु एक प ...

                                               

हेनरी मरे

हैनरी मरे अमेरिका के मनोवैज्ञानिक थे। उन्होने हार्वर्ड विश्वविद्यालय में ३० वर्ष से भी अधिक समय तक अध्यापन किया।

                                               

तुल्य परिपथ

किसी तन्त्र या युक्ति के गणितीय मॉडल को जब किसी विद्युत परिपथ के रूप में निरुपित किया जाता है तो इस विद्युत परिपथ को तुल्य परिपथ कहते हैं। उदाहरण के लिये किसी बैटरी को एक आदर्श वोल्टेज स्रोत एवं एक प्रतिरोध के श्रेणीक्रम संयोजन के रूप में प्रदर्श ...

                                               

सिन्त्रा अरुन्त ब्रॉन्त

सिन्त्रा अरुन्त ब्रॉन्त त्रिनिदाद की एक महिला मॉडल और उद्यमी है। इस महिला के प्रसिद्ध होने का मुख्य कारण 1972 में जमैका पर्यटन बोर्ड के लिए एक प्रचार पोस्टर में उसके चित्र का शामिल किया जाना है। इस पोस्टर में वह एक गीली नारंगी टी शर्ट पहने हुई थी ...

                                               

कार्डिनल रिचलू

कार्डिनल रिचलू फ्रांस का धार्मिक नेता, सामन्त तथा राजनयिक था। रिचलू एक योग्य राजनेता था जिसमें यूरोप के इतिहास पर अपनी अमिट छाप छोड़ी तथा इस कारण राजनय के क्षेत्र में उसका एक सम्माननीय स्थान है।

                                               

कावालम माधव पणिक्कर

कावालम माधव पणिक्कर भारत के विद्वान, पत्रकार, इतिहासकार, प्रशासक तथा राजनयज्ञ थे। वे सरदार के एम पणिक्कर के नाम से अधिक प्रसिद्ध हैं।

                                               

मेटरनिख

मेटरनिख राजनेता व राजनयज्ञ था। वह १८०९ से १८४८ तक आस्ट्रियाई साम्राज्य का विदेश मंत्री रहा। वह अपने समय का सबसे महत्वपूर्ण और सबसे प्रतिभाशाली राजनयिक था। नेपोलियन की वाटरलू पराजय के बाद मेटरनिख यूरोप की राजनीति का सर्वेसर्वा बन गया। उसने यूरोपीय ...

                                               

मौरिस स्ट्रांग

मौरिस एफ. स्ट्रांग संयुक्त राष्ट्र संघ के वैश्विक घटनाक्रम से जुड़ने से प्रबल पक्षधर हैं। समर्थक उन्हें दुनिया के अग्रणी पर्यावरणवादियों में से एक मानते हैं। १९७२ में आयोजित मानव पर्यावरण पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन और १९९२ में आयोजित पृथ्वी सम्मे ...

                                               

विलियम टेंपिल

इनका जन्म लंदन में उत्पन्न हुआ। उसने स्टार्टफर्ड और कैंब्रिज में शिक्षा पाई। १६४७ में उसने विदेशों की यात्रा आरंभ की। १६६३ में इंग्लैंड वापस लौटा, और राज्यमंत्री आर्लिग्टन का सहयोगी बन गया। दो वर्ष पश्चात् उसे कई समस्याओं के संबंध में बातचीत चलान ...

                                               

फैरो की सूची

इस लेख में प्राचीन मिस्र के सभी फैरोगण की सूची है। यह मिस्र का आरंभिक राजवंश काल जो लगभग ३००० ई.पू. था, से लेकर प्टॉल्मिक राजवंश तक, जब कि मिस्र ३० ई.पू. में अगस्तर सीज़र के अधीन प्राचीन रोम का एक प्रांत बना, तब तक की है।

                                               

फैरो

फैरो प्राचीन मिस्र के शासकों के लिए आधुनिक चर्चाओं एवं इतिहास में प्रयोग किया जाने वाला शब्द है। फेरो शब्द परी या फेरी शब्द से मिलता जुलता है। वह अपने जीवन की तुलना तितली के जीवन से करते थे। और,जैसे तितली अपने पर वाली अवस्था से पहले कोकून के रूप ...

                                               

अखेनातेन

फारो अखेनातेन मिस्र के १८वें वंश का था। उसने मिस्र के प्राचीन धर्म पर प्रतिबन्ध लगाया और केवल अतेन नामी सूर्य की चक्रिका की उपासना का आदेश दिया। उसे पाश्चात्य विद्वान विश्व का पहला एकेश्वरवादी मानते हैं। पहले इसका नाम अमेनहोतेप ४ था। पर नया धर्म ...

                                               

खफरे

खफरे पुराने साम्राज्य के दौरान चौथे राजवंश के एक प्राचीन मिस्र के राजा थे। वह खुफू का पुत्र था और डीजेडफ्रे के सिंहासन के उत्तराधिकारी थे। प्राचीन इतिहासकार मानेथो के अनुसार, खफरा के बाद राजा बिखेरिस थे, लेकिन पुरातात्विक साक्ष्य के अनुसार वह राज ...

                                               

थुतमोस तृतीय

थुतमोस तृतीय प्राचीन मिस्र के नविन साम्राज्य के अठारहवें राजवंश का छठा फैरो था और मिस्र के इतिहास का सबसे महान फैरो भी| अपने शासन काल के पहले २२ वर्ष वह राज्याधिकारी के रूप में अपनी सौतेली माँ हत्शेप्सुत के साथ राज करता रहा| हत्शेप्सुत ने थुतमोस ...

                                               

मिस्र का उन्नीसवां वंश

मिस्र का उन्नीसवां वंश प्राचीन मिस्र का शक्तिशाली वंश था। इसकी स्थापना अमात्य रामेसेस प्रथम ने की थी, जिसे फैरो होरेम्हेब ने अपना उत्तराधिकारी चुना था। यह वंश रामेसेस द्वितीय और उसके विजयो के कारण जानी जाती है।

                                               

रामेसेस द्वितीय

रामेसेस द्वितीय या रामेसेस महान प्राचीन मिस्र के नविन राज्य के उन्नीसवे वंश का तीसरा फैरो था। रामेसेस अपनी युद्ध निति और कई सफल सैन्य अभियानों के लिए प्रसिद्ध है। रामेसेस मिस्र को अपने चरम तक ले गया था और कानन और नुबिया पर विजय प्राप्त कर उसे अपन ...

                                               

रामेसेस प्रथम

रामेसेस या रामेसेस प्रथम प्राचीन मिस्र के नविन साम्राज्य के उन्नीसवे वंश के प्रथम फैरो थे| रामेसेस अठारहवें वंश आखिरी फैरो होरेम्हेब का अमात्य था,निसंतान होने के कारण होरेम्हेब ने रामेसेस को अपना उत्तराधिकारी चुना| रामेसेस प्रथम ने केवल १७ माह तक ...

                                               

सेती प्रथम

सेती प्रथम नविन साम्राज्य के उन्नीसवें वंश का दूसरा फैरो था और रामेसेस प्रथम का पुत्र था और रामेसेस महान का पिता था। उसके शासन काल पर कई इतिहासकारों की अलग राय है। तोलेमैक काल के इतिहासकार मनेठो ने सेती को ५५ वर्ष का शासन काल दिया है जबकि आज के क ...

                                               

मुहम्मद अली पाशा

मुहम्मद अली पाशा अटोमान अल्बानियन कमाण्डर थे जो मिस्और सूडान के वाली बने। यद्यपि आधुनिक अर्थों में उन्हें राष्ट्रवादी नहीं कहा जा सकता, किन्तु वे आधुनिक मिस्र के संस्थापक माने जाते हैं क्योंकि उन्होने नाटकीय ढंग से सुधारों को अंजाम दिया। ये सुधार ...

                                               

टी. एन. सीमा

डॉ टी. एन. सीमा एक भारतीय सामाजिक कार्यकर्ता, शिक्षक और राजनीतिज्ञ है। फिहाल वो भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के लिए केरल से निर्वाचित संसद सदस्य हैं। डॉ टी. एन. सीमा १ जून १९६३ को भारतीय राज्य केरल के थ्रिसूर में जन्म हुआ। वह केरल विश्वविद्यालय से स् ...

                                               

मोना चंद्रवती गुप्ता

मोना चंद्रवती गुप्ता एक भारतीय सामाजिक कार्यकर्ता, शिक्षाविद् और नारी सेवा समिति की संस्थापक, एक गैर-सरकारी संगठन जो महिलाओं के सामाजिक और आर्थिक उत्थान के लिए काम कर रहा हैं। गुप्ता का जन्म २० अक्टूबर १८९६ को, रंगून में हुआ था, जो आज यांगून है औ ...

                                               

रुना बनर्जी

रुना बनर्जी एक भारतीय सामाजिक कार्यकर्ता हैं। वे एक गैर सरकारी महिला संघ, लखनऊ, की सह-संस्थापक भी है। यह संगठन भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश के गरीब कार्य करने वाली महिलाओं के हितों को बढ़ावा देता है। वे २००५ में नोबेल शांति पुरस्कार के लिए सामूहिक र ...

                                               

सरला रॉय

सरला राय एक शिक्षाविद थी और उन्हें कोलकाता के गोखले मेमोरियल स्कूल के संस्थापक के रूप में याद किया जाता है । वह प्रसिद्ध ब्राह्मो सुधारक दुर्गा मोहन दास की बेटी थीं। उनकी डॉ. पी.के. रॉय से शादी हुए जो, कोलकाता प्रेसीडेंसी कॉलेज के प्रिंसिपल बनने ...

                                               

हेमलता लावानम

हेमलता लुवानम एक भारतीय समाज सुधारक, लेखक और नास्तिक थे जिन्होंने अस्पृश्यता और जाति व्यवस्था के खिलाफ विरोध किया था। वह अपने पति लववानम के साथ संस्कार का सह-संस्थापक भी थे।

                                               

अल्बर्ट अब्राहम मिशेलसन

अल्बर्ट अब्राहम मिशेलसन एक भौतिक वैज्ञानिक थे जिन्हें 1907 में भौतिकी के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। वे नोबेल पुरस्कार जीतने वाले पहले अमेरिकी वैज्ञानिक थे।

                                               

विलहम कॉनरैड रॉटजन

विलहम कॉनरैड रॉटजन सन् १९०१ के भौतिकी में नोबेल पुरस्कार विजेता थे। इन्हें यह पुरस्कार उनके द्वारा एक्स रे की खोज के लिए दिया गया था। रॉटजन ने एक्स रे की खोज साल 1895 में की थी।

                                               

अन्विता अब्बी

अन्विता अब्बी एक भारतीय भाषाविद और अल्पसंख्यक भाषाओं की विद्वान हैं। भाषा विज्ञान के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए भारत सरकार ने उन्हें २०१३ में, पद्म श्री को चौथी उच्चतम नागरिक पुरस्कार प्रदान करके उन्हें सम्मानित किया था। अन्विता अब्बी का जन्म ...

                                               

अमिता सहगल

अमिता सहगल पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय में पेरेलमैन स्कूल ऑफ मेडिसिन में तंत्रिका विज्ञान विभाग में एक आणविक जीवविज्ञानी और क्रोनबायोलॉजिस्ट है। उन्होंने अपनी बीएससी दिल्ली विश्वविद्यालय और एमएससी जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, से की। उन्होंने १९ ...

                                               

अरुणा धथाथरेयन

अरुणा धथाथरेयन एक प्रोफेसर और एमेरिटस वैज्ञानिक है सीएसआईआर-केन्द्रीय चमड़ा अनुसंधान संस्थान, चेन्नई, भारत में। उनके काम और अनुसंधान के क्षेत्र है जीवभौतिकी, बायोफिजिकल रसायन और सतह विज्ञान।

                                               

अर्चना शर्मा

डॉ॰ अर्चना शर्मा जिनेवा में दुनिया की सबसे बड़ी भूमिगत प्रयोगशाला सर्न में स्टाफ फिजिसिस्ट के रूप में कार्यरत हैं। डॉ॰ अर्चना शर्मा के अनुसार दुनिया की सबसे बड़ी प्रयोगशाला सर्न, जहाँ वह काम करती हैं, उसे विज्ञान का तीर्थ कहा जाता है। अपनी शोध पर ...

                                               

अलका बेओत्रा

डॉ॰ अलका बेओत्रा भारतीय महिला को विश्व डोपिंग रोधी वैज्ञानिक संघ के कार्यकारी समिति की सदस्य हैं। 13 मार्च, 2015 को उन्हें इस पद हेतु नामित किया गया। वे संघ के 6 सदस्यीय कार्यकारी समिति में नामित होने वाली एक मात्र एशियाई महिला हैं। वर्तमान में ड ...

                                               

किरायाला मधुबाला

किरालाला मधुबाला एक भारतीय वैज्ञानिक हैं। उन्होंने आणविक परजीवी विज्ञान और कार्यात्मक जीनोमिक्स पर कम किया है। वह निदेशक हैं जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में अकादमिक स्टाफ कॉलेज की। वह पहले अध्यक्ष थी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में स्कूल ऑफ लाइ ...

                                               

चारुसीता चक्रवर्ती

चारुसीता चक्रवर्ती एक भारतीय शैक्षिक और वैज्ञानिक थी। १९९९ से वह दिल्ली में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान में रसायन विज्ञान के प्रोफेसर थी। २००९ में उन्हें रसायन विज्ञान के क्षेत्र में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार से ...

                                               

चित्रा दत्ता

चित्रा दत्ता एक भारतीय भौतिक विज्ञानी है, जो जैव सूचना विज्ञान और कम्प्यूटेशनल जीव विज्ञान में काम किया है। वह प्रमुख वैज्ञानिक हैं स्ट्रक्चरल जीव विज्ञान और जैव सूचना विज्ञान भारतीय रसायन विज्ञान संस्थान, कोलकाता मे। दत्ता ने स्नातक विज्ञान किया ...