ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 208




                                               

नाकर

नाकर की रामायण की प्रति डाहीलक्ष्मी पुस्तकालय, नडियाद मे है। इस प्रति मे ७ काण्ड हैं और प्रति क समय संवत १६२४ का हैं। इसके आरंभ के और अंत के पृष्ठ फटे हुए हैं। यह रामायण गुजराती कडवु मे विभाजित हैं।

                                               

युग निर्माण योजना

युग निर्माण योजना नवनिर्माण की अभिनव योजना है, जिसकी संकल्पना पं॰ श्रीराम शर्मा आचार्य जी द्वारा मथुरा में आयोजित सन 1958 के सहस्रकुंडीय गायत्री महायज्ञ के समय की गई थी। व्यक्ति निर्माण, परिवार निर्माण, समाज समाज निर्माण का लक्ष्य लेकर यह अभियान ...

                                               

इल्म-उद-दीन

अंगूठाकार इल्म दीन एक पंजाबी मुस्लिम काष्ठकारी था, जिसने महाशय राजपाल नामक एक पुस्तक प्रकाशक रंगीला रसूल की हत्या की, जिसे मुस्लिम समुदाय द्वारा इस्लामी पैगंबर, मुहम्मद के प्रति अपमानजनक माना गया था। एक दिन वह अपने एक दोस्त के साथ गली से गुजर रहा ...

                                               

शीतकालीन ओलंपिक में आइस हॉकी

1920 से ओलंपिक खेलों में आइस हॉकी टूर्नामेंट का आयोजन किया गया। पुरुषों के टूर्नामेंट को 1920 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में पेश किया गया था और फ़्रांस में 1924 में स्थायी रूप से शीतकालीन ओलंपिक खेलों के कार्यक्रम में स्थानांतरित किया गया था। महिला ट ...

                                               

पेजावर मठ

पेजावर मठ, उडुपी के अष्ट मठों में से एक है जिसका आरम्भ श्री अधोकसाजा तीर्थ ने किया था जो मध्वाचार्य के शिष्य थे। अब तक कुल ३२ स्वामी इस मठ के मठाधीश रह चुके हैं।

                                               

जिनसेन मठ

जिनसेन मठ कोल्हापुर का प्रधान जैन मठ है यहाँ के स्वामी भट्टारक लक्ष्मीसेन है जो भारत के सबसे बड़े भट्टारक है कोल्हापुर क्षेत्र के सभी जैन इनकी आज्ञा का पालन करते है

                                               

शारदा मठ

शारदा मठ सरस्वती का मंदिर है जिसे श्री नारायण गुरु ने केरल में वरकला के पास शिवगिरी नामक गाँव में बनाया था। गुरुदेव ने पूर्णिमा के अवसर पर, 1912 अप्रैल में, श्री शारदा मठ में माता सरस्वती देविजी का प्रतिष्टा किया। शारदा अभिषेक समिति के अध्यक्ष के ...

                                               

स्वामी सारदानन्द

स्वामी सारदानन्द रामकृष्ण परमहंस के संन्यासी शिष्यों में से एक थे। उनका पूर्वाश्रम का नाम शरतचन्द्र चक्रबर्ती था। रामकृष्ण मिशन की स्थापना के बाद वे इसके प्रथम संपादक बने और मृत्यु तक इस पद पर बने रहे। श्रीमाँ शारदा देवी के रहने के लिए उन्होंने क ...

                                               

बेलूर (बहुविकल्पी)

बेलूर का बोध इनमें से किसी एक से हो सकता है: चेन्नकेशव मन्दिर, बेलूर: १२वीं सदी में निर्मित विष्णु मन्दिर। बेलुड़ मठ: बेलुड़, पश्चिम बंगाल में स्थित, रामकृष्ण मिशन का मुख्यालय व प्रमुख मठ।

                                               

धर्मपाल

गोपाल के बाद उसका पुत्र धर्मपाल ७७० ई. में सिंहासन पर बैठा। धर्मपाल ने ४० वर्षों तक शासन किया। धर्मपाल ने कन्‍नौज के लिए त्रिदलीय संघर्ष में उलझा रहा। उसने कन्‍नौज की गद्दी से इंद्रायूध को हराकर चक्रायुध को आसीन किया। चक्रायुध को गद्दी पर बैठाने ...

                                               

खुम्जुङ

खुम्जुङ नेपाल के पूर्वांचल विकास क्षेत्र के सगरमाथा अंचल, सोलुखुम्बु जिला में स्थित गाँव विकास समिति है। यह सगरमाथा राष्ट्रीय उद्यान के खुम्बु क्षेत्र में स्थित हैं। यह गाँव समुद्र तल से ३,७९० मीटर की ऊँचाई पर और खुम्बिला पर्वत के निकट स्थित है। ...

                                               

भक्ति वल्लभ तीर्थ

श्री भक्ति बल्लभ तीर्थ महाराज भक्ति दयित माधव गोस्वामी महाराज का एक भव्य शिष्य और गौड़िया मठ में एक गुरु है, भक्ति मार्ग के दर्शन के बाद, विशेषकर चैतन्य महाप्रभाव और गौदी वैष्णव धर्मशास्त्र के। वह श्री चैतन्य गौडिय मठ के वर्तमान राष्ट्रपति हैं, ज ...

                                               

बंगदर्शन

बंगदर्शन एक बांग्ला की मासिक साहित्यिक पत्रिका थी जिसे बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय ने सन् १८७२ में प्रकाशित करना आरम्भ किया। अप्रैल, सन् १८७६ तक वे ही इस पत्रिका के सम्पादक रहे। इसकी अधिकांश रचनाएँ वे स्वयं लिखते थे। वन्दे मातरम् सबसे पहले इसी पत्र ...

                                               

शइलंग

शइलंग ओडिशा के केन्दुझर जिला के अन्तर्गत आनंदपुर सब्डिविजन के घसिपुरा ब्लॅक का एक गांव है। आनन्दपुर से ४ किमि दूरी पर अबस्थित ये गांव अपने मांकडाकेन्दा पहाडी पर अबस्थित बायाबाबा मठ के लिये प्रसिद्ध है।

                                               

हिस्ट्री (टीवी चैनल)

हिस्ट्री, जिसे पूर्व में द हिस्ट्री चैनल के नाम से जाना जाता था, एक अंतर्राष्ट्रीय सैटलाईट और केबल टीवी चैनल है जो ब्ल्यू कॉलर अमेरिकाना, गुप्त रहस्यों, सनसनीखेज खबरों वाले कार्यक्रम, स्युडोवैज्ञानिक और अपसामान्य घटनाओं वाले कार्यक्रमों का प्रसार ...

                                               

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस

साँचा:Redirect-acronym ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस ओयूपी दुनिया की सबसे बड़ी विश्वविद्यालय प्रेस है। यह ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय का एक विभाग है और इसका संचालन उपकुलपति द्वारा नियुक्त 15 शिक्षाविदों के एक समूह द्वारा किया जाता है जिन्हें प्रेस प्रत ...

                                               

ट्रू ब्लड

ट्रू ब्लड, एलन बॉल द्वारा रचित और निर्मित एक अमेरिकी टेलीविजन नाटक श्रृंखला है। यह चार्लेन हैरिस की द साउदर्न वैम्पायर मिस्ट्रीज नामक उपन्यास श्रृंखला पर आधारित है और यह लुइसियाना के बॉन टेम्प्स नामक एक छोटे काल्पनिक शहर में पिशाचों और इंसानों के ...

                                               

शिवा (यहूदी धर्म)

यहूदी धर्म में शिवा एक सप्ताह के दुःख एवं मातम की अवधि को कहा जाता है, जिसमे सात प्रथम श्रेणी के रिश्तेदार: पिता, माता, पुत्र, पुत्री, भाई, बहन तथा जीवनसाथी समाविष्ट होते हैं।. चूंकि अधिकांश नियमित गतिविधियां बाधित हो जाती हैं, इसके कारण शिवा संस ...

                                               

थैंक्सगिविंग डे

धन्यवाद दिवस या थैंक्सगिविंग डे, उत्तरी अमेरिका का एक पारंपरिक त्यौहार है, जो एक तरह का फसल पर्व है। पहले थैंक्सगिविंग उत्सव के तिथि और स्थान एक विवाद का विषय है हालांकि सर्वप्रथम धन्यवाद समारोह ८ सितम्बर १५६५ को फ्लॉरिडा के सेंट औगुस्तीं में किय ...

                                               

अल-बक़रा

यह सूरह मदनी है, इस में 286 आयते है। आयत 124 से 167 तक आदरणीय इब्रराहीम अलैहिस्सलाम के काबा का निर्माण करने तथा उन के धर्म को बताया गया है जो बनी इस्राईल तथा बनी ईसमाईल अरबों दोनों ही के परम पिता थे कि वह यहूदी, ईसाई या किसी अन्य धर्म के अनुयायी ...

                                               

पारस पत्थर

संस्कृत: "स्पर्श मणि" English: Philosophers Stone तेलुगु: परुसवेदी पारस पत्थर एक पहेली है। आज तक इस रहस्य को कोइ नहीं जान पाया और जिसने जाना अब वह इस दुनिया मे नहि है परन्तु कह्ते हैं कि पारस कि खोज अब तक जारी है। एटॉमिक संरचना की मानी जाये तो को ...

                                               

मीमेटिक्स

मेमेटिक्स डार्विन के विकासवाद के साथ समानता पर आधारित सूचना और संस्कृति का अध्ययन है। समर्थकों ने मेमोरिक्स को सांस्कृतिक जानकारी हस्तान्तरण के विकासवादी मॉडल के दृष्टिकोण के रूप में वर्णित किया है। मीमेटिक्स के आलोचक इसे अपरीक्षित, निराधार या अस ...

                                               

रोशडेल पायनियर्स

इटली की एक कहावत है - जो धीरे चलते हैं, वे दूर तक जाते हैं। इस कहावत को सच कर दिखाया था, रोशडेल पायनियर्स ने. पूंजीवाद से उत्पीड़ित गरीब बुनकरों ने, जो संख्या में केवल अठाइस थे। उनका सपना था, मुक्ति का. उनका सपना था, अपनी राह अपने आप चुनने का. अप ...

                                               

भारतीय नेपाली

भारतीय नेपाली या भारतीय गोरखा वह लोग हैं जो नेपाली मूल के लोग हैं लेकिन भारत में रहते आ रहें हैं, जिन्हें भारतीय नागरिकता प्राप्त है। वह लोग नेपाली भाषा के अलावा भी कई भाषाएं बोलते हैं, नेपाली भाषा भारत के कार्यालयी भाषाओं में से एक है, इतिहास मे ...

                                               

अघोर नाथ गुप्ता

अघोर नाथ गुप्ता बौद्ध धर्म के अध्यापक और ब्रह्म समाज के एक सदस्य थे। उन्हें उनकी अकस्मात् मृत्यु के पश्चात साधु की उपाधि मे दी गई। शिवनाथ शास्त्री ने उनके लिए लिखा, "उसकी हार्दिक विनम्रता गहरी आध्यात्मिकता और बयाना भक्ति समाज के सदस्यों के लिए एक ...

                                               

मृत्युलोक

मृत्युलोक हिन्दू धर्म में बताये गए लोकों में से एक है। पृथ्वी को मृत्यु लोक कहा जाता है। इसके अतिरिक्त स्वर्गलोक व पाताललोक आदि अन्य भी अनेक लोक हिन्दू धर्म में बताये गए हैं।

                                               

सआदत अली खान प्रथम

मुग़ल सल्तनत के अधीन ही 1712 मेंअवध के सूबेदार के पद पे बैठाये गए थे एक निडर,कर्मठ व साहसी व्यक्तित्व के धनी व्यक्ति को जिनका पूरा नाम सआदत खां बुरहान-उल-मुल्क यानी कि सआदत खां प्रथम । अवध को एक स्वायत्त राज्य बनाने का श्रेय इन्ही को जाता है ।इनक ...

                                               

का

का प्राचीन मिस्रियों के धर्म में द्वितीय आत्मा, जिसका चित्र उनकी लिपि में दो ऊपर उठाए हाथों के रूप में लिखा मिलता है। प्राचीन मिस्री प्राय: तीन आत्माओं में विश्वास करते थे। एक तो शरीर के मरने के साथ ही मर जाया करती थी, पर दो – का और बई – शारीरिक ...

                                               

फ्रांसिस ज़ेवियर

फ्रांसिस ज़ेवियर का जन्म 7 अप्रैल, 1506 ई. को स्पेन में हुआ था। पुर्तगाल के राजा जॉन तृतीय तथा पोप की सहायता से वे जेसुइट मिशनरी बनाकर 7 अप्रैल 1541 ई को भारत भेजे गए और 6 मार्च 1542 ई. को गोवा पहुँचे जो पुर्तगाल के राजा के अधिकार में था। गोवा मे ...

                                               

माकबेथ

ब्रिटेन का शासक। उनका जन्म १००५ में हुआ था। उन्होने अपने जीवन के ज्य़ादा वक्त मोरय में गुज़ारा था। वहाँ वे अपने चचेरा भाई डंकन को युद्ध में पराजित करने की कोशिश में लगे रहते थे। माकबेथ विल्लियम शेक्स्पियर की दुखद कहानी माकबेथ के विषय के रूप में ज ...

                                               

एलिज़ाबेथ प्रथम

एलिज़ाबेथ प्रथम इंग्लैंड और आयरलैंड की महारानी थीं, जिनका शासनकाल १७ नवम्बर १५५८ से उनकी मौत तक चला। यह ब्रिटेन के ट्युडर राजवंश की पाँचवी और आख़री सम्राट थीं। इन्होनें कभी शादी नहीं की और न ही इनकी कोई संतान हुई इसलिए इन्हें "कुंवारी रानी" के ना ...

                                               

एडवर्ड बर्नेट टाइलर

सर एडवर्ड बर्नेट टाइलर एक अंग्रेज़ मानव विज्ञानी थे। टाइलर सांस्कृतिक विकासवाद के प्रतिनिधि हैं। टाइलर ने प्राचीन संस्कृति और मानवविज्ञान में, चार्ल्स लिएल के विकासवाद के सिद्धान्त पर आधारित मानव विज्ञान के वैज्ञानिक अध्ययन के संदर्भ का वर्णन किय ...

                                               

श्रीनिवासाचार्य

श्रीनिवासाचार्य ठाकुर प्रसिद्ध वैष्णव सन्त तथा जीव गोस्वामी के शिष्य थे। वे यदुनन्दनदास राधावल्लभ दास के गुरु थे। उनकी पुत्री हेमलता ठकुरानी भी एक प्रसिद्ध सन्त थीं। श्रीनिवासाचार्य ने राजा बिरहम्बीर को वैष्णव धर्म में दीक्षित किया था। इनके पिता ...

                                               

परीक्षित

महाभारत के अनुसार परीक्षित अर्जुन के पौत्र, अभिमन्यु और उत्तरा के पुत्र तथा जनमेजय के पिता थे। जब ये गर्भ में तब अश्वथामा ने ब्रम्हशिर अस्त्र से परीक्षित को मारने का प्रयत्न किया था । ब्रम्हशिर अस्त्र का संबंध भी भगवान ब्रम्हा से है तथा ब्रम्हा क ...

                                               

पट्टावली

एक पट्टावली का एक रिकार्ड है एक आध्यात्मिक वंश के प्रमुखों के मठवासी आदेश. वे कर रहे हैं इस प्रकार आध्यात्मिक वंशावली है। यह आम तौपर माना जाता है कि लगातार दो नाम हैं शिक्षक और छात्र है. शब्द के लिए लागू होता है सभी धर्मों में है, लेकिन आम तौपर इ ...

                                               

साठोपुर

बुद्ध ने अपने जीवन काल में नालंदा कई बार दौरा किया। हालांकि, बौद्ध शिक्षा के इस प्रसिद्ध केंद्र 5 वीं से 12 वीं शताब्दी के दौरान, बहुत बाद में प्रसिद्धि के लिए गोली मार दी। ह्वेनसांग 7 वीं शताब्दी में यहां रुके थे और शिक्षा प्रणाली और यहाँ अभ्यास ...

                                               

स्कॉच व्हिस्की

स्कॉच व्हिस्की स्कॉटलैंड में बनाया जाने वाला व्हिस्की है। ब्रिटेन में व्हिस्की शब्द का अभिप्राय प्रायः स्कॉच से ही होता है, बशर्ते किसी दूसरी तरह से इसे निर्दिष्ट न किया गया हो. अन्यान्य अंग्रेज़ी भाषी देशों में इसे प्रायः "स्कॉच" के लिए इस्तेमाल ...

                                               

लेअर्नि सेल

एक लेअर्नि सेल का आध्ययन करने ऑर एक साथ जानने केलिय छत्रओ की एक जोड़ी केलिए एक कारगर तरीका हे|यह एक आक्टिव लर्निंग की शैली है लेअर्नि सएल दो छत्रओ को सामान्यत सामग्री पढ़कर वेकल्पिक स्वल्ल ओर जवाबो के ध्वारा सिख सकते हे|

                                               

मिर्धा

मिर्धा होने के लिए जाट होना आवश्यक नहीं. अरबी भाषा के शब्द मिर्धा का अर्थ डाककर्मी होता है। अतः रियासत काल में सरकारी डाक का काम करने वाले को मिर्धा की उपाधि दी जाती थी। बलदेवरामजी,नाथूराम जी व रामनिवासजी मिर्धा का गौत्र "राड़" है परंतु ये सभी चर ...

                                               

सात्यकी बनर्जी

सात्यकी बनर्जी एक भारतीय बंगाली संगीतकार। वे एक एंग्लो बंगाली बैंड पारापर का एक हिस्सा है जो कि कोलकाता और लंदन का एक मशहूर बैंड है। सात्यकी दो-तारा और सरोद जैसे उपकरणों को भलिभान्ति और निपुन्ता से बजा लेते हैं तथा दोनों शास्त्रीय और लोक पर अपने ...

                                               

मीना (कार्टून)

मीना एक काल्पनिक चरित्र है जो दक्षिण एशियाई बच्चों के टेलीविज़न धारावाहिक मीना में सितारों का प्रतीक है। धारावाहिक बंगाली, अंग्रेजी, हिंदी, नेपाली और उर्दू में प्रसारित किया गया है। मीना ने कॉमिक किताबों, एनिमेटेड फिल्मों और रेडियो श्रृंखला में अ ...

                                               

वक्कोम मौलवी

मुहम्मद अब्दुल क़ादर मौलवी, जिन्हें वक्कोम मौलवी के नाम से जाना जाता है, एक सामाजिक सुधारक, शिक्षक, प्रभावशाली लेखक था, त्रावणकोर में मुस्लिम विद्वान, पत्रकार, स्वतंत्रता सेनानी और समाचार पत्र मालिक, वर्तमान केरल, भारत के एक रियासत राज्य। वह स्वद ...

                                               

जूजुत्सु

जूजुत्सु जापान की एक सैन्य कला है। यह शस्त्र तथा कवच धारण किए हुए शत्रु से बिना हथियार पास से लड़कर पराजित करने की विद्या है। जैसे भारत में कुश्ती और यूरोप में मुक्केबाजी की प्रथा है वैसे ही जापान में जू-जुत्सु की प्रथा है। जू जुत्सु जाननेवाले को ...

                                               

आक्रामकता

आक्रामकता हमारे दैनिक जीवन का एक हिस्सा है, लेकिन मनोवैज्ञानिक आक्रामकता को सिर्फ एक अर्थ से बाँधना मुश्किल है। आक्रामकता विविध रूप ले सकती हैं, और हो सकता है यह दोनों शारीरिक रूप और / या मौखिक रूप से या गैर मौखिक रूप से व्यक्त की जा सकती हैं। आक ...

                                               

फालुन गोंग

फालुन गोंग या फालुन दाफा एक उच्च स्तर का साधना अभ्यास है जो ब्रह्मांड की प्रकृति - सत्य, करुणा और सहनशीलता पर आधारित है साधना का अर्थ है स्वयं को निरंतर इन ब्रह्मांड के सिद्धांतों के अनुरूप बेहतर करना." अभ्यास” का अर्थ है – फालुन दाफा के पाँच सरल ...

                                               

महिला सशक्तिकरण - विडम्बनाओं और विरोधाभासों का अंत

महिला सशक्तिकरण पर एक नजर* भारत में महिलाओं की स्थिति ने पिछली कुछ सदियों में कई बड़े बदलावों का सामना किया है। प्राचीन काल में पुरुषों के साथ बराबरी की स्थिति सेव लेकर मध्ययुगीन काल के निम्न स्तरीय जीवन और साथ ही कई सुधारकों द्वारा समान अधिकारों ...

                                               

चूरा

एक चूरा पारंपरिक रूप से अपनी शादी के दिन और उसके बाद की अवधि के लिए दुल्हन द्वारा पहने जाने वाली चूड़ियों का एक सेट है, खासकर पंजाबी शादियों में।

                                               

भारतीय संत

भारतीय संत भारत के प्राचीनकाल से आज तक के सभी संतो का नाम आता है । एक संत एक मानव "आत्म, सत्य, वास्तविकता" के अपने या अपने ज्ञान के लिए और एक "सच-आदर्श" के रूप में प्रतिष्ठित किया जा रहा है। में सिख धर्म यह एक जा रहा है जो एकेश्वरवादी भगवान के सा ...

                                               

पिएर जोसेफ प्रूधों

प्रुधों बज़ासॉन में उत्पन्न हुआ। आर्थिक कठिनाइयों के कारण शिक्षा पूरी न कर सका। बाद में उसने मुद्रणकला सीखी। विद्याव्यसनी तो था ही, उसने अध्ययन और ज्ञानप्राप्ति के प्रत्येक अवसर का उपयोग किया। १८३८ में उसकी एसे डि ग्रामेयर जेनरेल नामक भाषाशास्त्र ...

                                               

बीबी जमाल ख़ातून

बीबी जमाल ख़ातून एक सूफी महिला संत थीं जो सहवान, सिंधु में रहती थीं। वह एक प्रसिद्ध और प्रभावशाली सूफी, मियाँ मीर की छोटी बहन थी जो उनके आध्यात्मिक गुरु भी थे। शादी के दस साल बाद वह अपने पति से अलग हो गईं और उन्होंने खुद को अपने कमरे में तपस्या, ...