ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 184




                                               

ग़ुलाम रब्बानी ताबाँ

ग़ुलाम रब्बानी ताबाँ उर्दू भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक कविता–संग्रह नवाए–आवारा के लिये उन्हें सन् 1979 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

गोपीनाथ मोहंती

गोपीनाथ मोहंती एक ओड़िया साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक उपन्यास अमृतरसंतान के लिये उन्हें सन् १९५५ में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इन्हें १९७३ में ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इन्हें भारत सरकार द्वारा १९८१ में ...

                                               

जांग चिंग

ली शूमेंग, लान पिंग मार्च 1914 - 14 मई 1991) माओ त्सेतूंग की चौथी पत्नी थी। चींग चार की टोली की शुरूआत के लिए जानी जाती है। चीन क इतिहास मै लिन बैओ की साथ वह चीन की सबसे ताकतवर औरत है। जांग तो एक प्रसिद्ध क्रान्तिवादि था।

                                               

जिप्सी बूट्स

जिप्सी बूट्स, जन्मनाम: रॉबर्ट बूटजीन जिन्हें बूट्स बूटजीन के नाम से भी जाना जाता है, एक अमेरिकी फिटनेस अग्रणी, अभिनेता और लेखक थे। उन्हे योग और स्वास्थ्य भोजन के रूप में "वैकल्पिक" जीवन शैली की मुख्यधारा अमेरिका द्वारा स्वीकृति के लिए नींव बिछाने ...

                                               

जॉन गाइज़ (गवर्नर-जनरल)

सर जॉन गाइज़ पापुआ न्यू गिनी के एक राजनेता हैं। वे पापुआ न्यू गिनी के पूर्व गवर्नर-जनरल रह चुके हैं। उन्हें इस पद पर पापुआ न्यू गिनी की रानी, एलिज़ाबेथ द्वितीय द्वारा, नियुक्त किया गया था। इस काल के दौरान वे, महारानी के प्रतिनिधि के रूप में, उनकी ...

                                               

ताराचंद बड़जात्या

ताराचंद बड़जात्या भारत के प्रसिद्ध फिल्म-निर्माता थे। उन्होने सन १९६० के दशक से आरम्भ करके १९८० के दशक तक अनेकों हिन्दी फिल्में बनायी। वे राजश्री प्रोडक्शन्स के संस्थापक थे। वे मानवीय मूल्यों पर आधारित पारिवारिक फिल्में बनाने में सिद्धहस्त थे।

                                               

तेजी बच्चन

तेजी बच्चन एक सामाजिक कार्यकर्ता, प्रसिद्ध हिन्दी कवि हरिवंश राय बच्चन की पत्नी तथा सुप्रसिद्ध हिन्दी फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन की माँ थीं।

                                               

तेन्जिंग नॉरगे

तेन्जिंग नॉरगे एक नेपाली पर्वतारोही थे जिन्होंने एवरेस्ट और केदारनाथ के प्रथम मानव चढ़ाई के लिए जाना जाता है। न्यूजीलैंड एडमंड हिलेरी के साथ वे पहले व्यक्ति हैं जिसने माउंट एवरेस्ट की चोटी पर पहला मानव कदम रखा। इसके पहले पर्वतारोहण के सिलसिले में ...

                                               

देवकांत बरुआ

देवकांत बरुआ असम राज्य के एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे, जो आपातकाल के दौरान भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत थे। वे अपने "इन्दिरा भारत हैं, भारत इन्दिरा है" के कथन के लिए जाने जाते है और इसे इन्दिरा गांधी की चापलूसी और अतिशयोक्त ...

                                               

देवी लाल

चौधरी देवी लाल जो कि हरियाणा में "ताऊ देवी लाल" के नाम से भी प्रसिद्ध हैं, हरियाणा के एक प्रमुख राजनीतिज्ञ थे जो कि 19 अक्टूबर 1989 से 21 जून 1991तक भारत के उप-प्रधानमंत्री रहे। वे दो बार हरियाणा के मुख्यमंत्री भी रहे। उनकी समाधि-संघर्ष घाट दिल्ल ...

                                               

नंद सिंह

नंद सिंह वीसी एमवीसी विक्टोरिया क्रॉस के एक भारतीय प्राप्तकर्ता थे, ब्रिटिश और राष्ट्रमंडल सेनाओं को दिए जाने वाले दुश्मन के खिलाफ वीरता के लिए सर्वोच्च और सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार दिया गया।

                                               

नसीम हिजाज़ी

नसीम हिजाज़ी उर्दू के मशहूर लेखक और उपन्यासकार थे जो ऐतिहासिक उपन्यासकारी के क्षितिज पर भी वे एक प्रभाव छोड़ गए। उनका असली नाम शरीफ़ हुसैन था लेकिन वे इनके क़लमी नाम नसीम हिजाज़ी से जाने जाते हैं। भारत का विभाजन से पहले उनका जन्म 1914 को गुरदासपु ...

                                               

बेग़म अख़्तर

बेगम अख़्तर के नाम से प्रसिद्ध, अख़्तरी बाई फ़ैज़ाबादी भारत की प्रसिद्ध गायिका थीं, जिन्हें दादरा, ठुमरी व ग़ज़ल में महारत हासिल थी। उन्हें कला के क्षेत्र में भारत सरकार पहले पद्म श्री तथा सन १९७५ में मरणोपरांत पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ...

                                               

राजा महमूदाबाद

राजा महमूदाबाद راجا محمود آباد सयुंक्त प्रान्त ब्रिटिश इंडिया वर्तमान में उत्तर प्रदेश, भारत के सीतापुर जनपद की एक समृद्ध रियासत, अवध की सबसे बड़ी ताल्लुकेदारी राजा महमूदाबाद के आधीन रही। महमूदाबाद रियासत के राजाओं को अंग्रेजों ने सर व खान बहादुर ...

                                               

राम नाथ शास्त्री

राम नाथ शास्त्री डोगरी कवि, नाटककार, कोशकार, निबन्धकार, शिक्षाशास्त्री, अनुवादक तथा सम्पादक थे। उन्होने डोगरी भाषा के उत्थान और विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी। उन्हें डोगरी का जनक कहा जाता है। इनके द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह बदनामी दी छां के ...

                                               

राम सिंह ठाकुर

कप्तान राम सिंह ठाकुर भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी तथा संगीतकार एवं गीतकार थे। वे मूलतः नेपाल के थे। उन्होने आजाद हिन्द फौज में सेवा करते हुए उन्होने कदम-कदम बढ़ाए जा, शुभ सुख चैन सहित अनेकों राष्ट्रभक्ति के गीतों की रचना की। बाद में उन्होने ...

                                               

सी॰ एस॰ नायडू

कोट्टरी सुबन्ना नायडु भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी थे, जिन्होंने 1934 से 1952 तक ग्यारह टेस्ट खेले। वह क्रिकेट खिलाड़ी सी॰ के॰ नायडू के छोटे भाई थे। सी॰ एस॰ नायुडू ने अपना पहला प्रथम श्रेणी मैच 1932 में खेला था जब वह 17 वर्ष के थे। 1961 में उनका अंतिम ...

                                               

अनंतचरण साईबाबू

अनंतचरण साईबाबू एक छाउ गुरु थे । वह मयूरभंज छाउ कला शिक्षादान करतेथे। इस कला के लिए इन्हे १९७१ साल के संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार प्रदान किया गया है। अनंतचरण, यह कला पहले आपने पिता राधामोहन साईबाबू और बाद में गुरु दिबाकर भंजदेओ तथा रजाक खान से सीख ...

                                               

अबुल फ़ज़ल मोहम्मद अहसानुद्दीन चौधरी

अबुल फ़ज़ल मोहम्मद अहसानुद्दीन चौधरी बांग्लादेश के नौवें राष्ट्रपति थे। इनका कार्यकाल २७ मार्च १९८२ से ११ दिसम्बर १९८३ तक रहा।

                                               

आंग सान

मेजर जनरल आंग सान ; 13 फरवरी 1915 – 19 जुलाई 1947) बर्मा के स्वतन्त्रता सेनानी एवं राजनेता थे जो १९४६ से १९४७ तक अंग्रेजशासित बर्मा के ५वें शासनाध्यक्ष थे। वे म्यांमार के राष्ट्रपिता माने जाते हैं। पहले वे साम्यवादी विचारों के थे किन्तु बाद में स ...

                                               

आर्थर मिलर

आर्थर मिलर अमेरिका के प्रमुख नाटककाऔर लेखक थे। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद सामाजिक विषयों पर नाटक लिखने वाले मिलर ने बहुचर्चित द अमेरिकन ड्रीम यानि सपनों के अमरीका की कई ख़ामियाँ अमरीकी जनता और विश्व के सामने रखीं। इसी कारण उनकी आलोचना भी हुई लेकि ...

                                               

ऑर्सन वेल्स

ऑर्सन वेल्स अमेरिकी अभिनेता, लेखक, फिल्म निर्देशक और निर्माता थे। वेल्स रंगमंच रेडियो और फिल्म तीनों माध्यमों में बेहतर काम के लिए जाने जाते हैं। उन्हें मात्र 23 साल की उम्र में एच.जी वेल्स के उपन्यास द वार ऑफ द वर्ल्ड्स के रेडियों रूपांतरण के नि ...

                                               

करम सिंह

लांस नायक करम सिंह, परमवीर चक्र प्राप्त करने वाले प्रथम जीवित भारतीय सैनिक थे। श्री सिंह 1941 में सेना में शामिल हुए थे और द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान बर्मा की ओर से भाग लिया था जिसमे उल्लेखनीय योगदान के कारण उन्हें ब्रिटिश भारत द्वारा मिलिट्री ...

                                               

कलामंडलम कल्याणिकुट्टी अम्मा

कलामंडलम कल्याणिकुट्टी अम्मा दक्षिणी भारत में केरल से युगान्तरकारी मोहिनीअट्टम नृत्यांगना थी। वह राज्य के मलप्पुरम जिले में थिरुनावया की निवासी थी। उन्होंने मोहिनीअट्टम को शोकयुक्त, निकट-विलुप्त अवस्था से मुख्यधारा के भारतीय शास्त्रीय नृत्य में प ...

                                               

के. एस. नरसिंह स्वामी

के. एस. नरसिंह स्वामी कन्नड़ भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक कविता–संग्रह तेरेद बागिलु के लिये उन्हें सन् 1977 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

ग़ुलाम इशाक़ ख़ान

गुलाम इशाक खान, कभी-कभी संक्षिप्त रूप में जीआईके, पाकिस्तान के ७वें राष्ट्रपति थे। वो १९८८ से अपने १९९३ में अपना त्यागपत्र देने तक पाकिस्तान के राष्ट्रपति रहे। पाकिस्तानी प्रशासनिक सेवा से राष्ट्रपति पद तक पहुँचने वाले वो प्रथम एवं एकमात्र राष्ट् ...

                                               

जेरोम ब्रूनर

जेरोम ब्रूनर अमेरिकी मनोवैज्ञानिक थे जिन्होने मानव के संज्ञानात्मक मनोविज्ञान तथा संज्ञानात्मक अधिगम सिद्धान्त पर उल्लेखनीय योगदान दिया। वे न्यू यॉर्क के यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ ला में वरिष्ट अनुसन्धान फेलो थे। उन्होने १९३७ में ड्यूक विश्वविद्यालय स ...

                                               

ठाकुर रामसिंह

अखिल भारतीय इतिहास-संकलन योजना के संस्थापक-अध्यक्ष ठाकुर रामसिंह जी का जन्म 16 फ़रवरी 1915 को हिमाचल प्रदेश के ग्राम झण्डवी, तहसील भोन्राज, जिला हमीरपुर में हुआ था। आपके पिता का नाम श्री ठाकुर भागसिंह एवं माता का नाम श्रीमती निहातु देवी था। ठाकुर ...

                                               

पुष्पलता दास

पुष्पलता दास 1915-2003 उत्तर-पूर्वी भारतीय राज्य असम एक भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्ता, सामाजिक कार्यकर्ता, गांधीवादी और विधायक थी। वह 1951 से 1961 तक एक राज्य सभा सदस्य, असम विधान सभा की सदस्य और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की कार्य समिति की सदस्य थ ...

                                               

पॉल टिब्बेत्स

कर्नल पॉल टिब्बेट उस अमेरिकी युद्धक विमान के संचालक थे, जिससे हिरोशिमा पर अणु बम गिराया गया था। उस युद्धक विमान का नाम एनोला गे था। अणु बम का कूट नाम लिटिल बॉय था।

                                               

भीष्म साहनी

रावलपिंडी पाकिस्तान में जन्मे भीष्म साहनी आधुनिक हिन्दी साहित्य के प्रमुख स्तंभों में से थे। १९३७ में लाहौर गवर्नमेन्ट कॉलेज, लाहौर से अंग्रेजी साहित्य में एम ए करने के बाद साहनी ने १९५८ में पंजाब विश्वविद्यालय से पीएचडी की उपाधि हासिल की। भारत प ...

                                               

यित्झाक शामिर

यित्झाक शामिर इज़राइल के सातवे प्रधानमन्त्री थे। वे दो बार प्रधानमन्त्री पद पर रहे; १० अक्टूबर १९८३ से १३ सितम्बर १९८४ तक और फिर २० अक्टूबर १९८६ से १३ जूलाई १९९२ तक। इज़राइल के बनने से पहले वे लेही नामक एक यहूदीवादी अर्धसैनिक दल के नेता थे। १९४८ ...

                                               

एलिसिया रहेट

एलिसिया रहेट एक अमेरिकी अभिनेत्री तथा पोर्ट्रेट चित्रकार थीं। उन्हें मुख्यतः १९३९ की फ़िल्म गॉन विद विंड में इंडिया विल्क्स के अभिनय के लिए जाना जाता है। ३ जनवरी २०१४ को ९८ वर्ष की आयु में उनका दक्षिण कैरोलिना में निधन हो गया।

                                               

राजिंदर सिंह बेदी

राजिंदर सिंह बेदी एक हिन्दी और उर्दू उपन्यासकार, निर्देशक, पटकथा लेखक, नाटककार थे। इनका जन्म 1 सितम्बर 1915 को सियालकोट, पंजाब, ब्रिटिश भारत में हुआ था, लेकिन वे विभाजन के बाद पाकिस्तान से भारत आए थे।। यह पहले अखिल भारतीय प्रगतिशील लेखक संघ के उर ...

                                               

रामानंद सेनगुप्ता

रामानंद सेनगुप्ता, भारतीय सिनेमा के चलचित्रकार थे। उन्हें अपना पहला ब्रेक मिला जब उन्होंने कोलकाता में फिल्म कॉर्पोरेशन में एक सहायक कैमरामैन के रूप में कार्य किया। एक पूर्णकालिक चलचित्रकार के रूप में उनकी पहली फिल्म ‘पूर्वाराग’ थी, जिसका निर्देश ...

                                               

शिवमंगल सिंह सुमन

शिवमंगल सिंह सुमन एक प्रसिद्ध हिंदी कवि और शिक्षाविद थे। उनकी मृत्यु के बाद, भारत के तत्कालीन प्रधान मंत्री ने कहा, "डॉ. शिव मंगल सिंह सुमन केवल हिंदी कविता के क्षेत्र में एक शक्तिशाली चिह्न ही नहीं थे, बल्कि वह अपने समय की सामूहिक चेतना के संरक् ...

                                               

सीताराम एस जापू

सीताराम सुरजमल जाजू मध्य प्रदेश के भारतीय राजनीतिज्ञ थे। उन्होंने सन् १९३९ में इलाहबाद विश्वविद्यालय से विधि में स्नातक की शिक्षा प्राप्त की। इसके अतिरिक्त वो भारतीय संविधान सभा के सदस्य थे। देश के पहले आम चुनाव से पहले वर्ष 1947 से 1952 तक वो अं ...

                                               

विजय हजारे

विजय सैमुअल हज़ारे भारतीय राज्य महाराष्ट्र से भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी थे। वो १९५१ से १९५३ के मध्य भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रहे। उन्होंने अपनी कप्तानी में भारत को टेस्ट-क्रिकेट में प्रथम सफलता दिलाई। सन् १९६० में उन्हें भारत सरकार ने पद्म श्री ...

                                               

अमृतलाल नागर

अमृतलाल नागर हिन्दी के सुप्रसिद्ध साहित्यकार थे। आपको भारत सरकार द्वारा १९८१ में साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।

                                               

अहमद बेन बेला

अहमद बेन बेला एक अल्जीरियाई समाजवादी सैनिक और क्रांतिकारी था, जो अल्जीरिया के पहले राष्ट्रपति बने और 1963 से 1965. रहे।

                                               

ए.एस. ज्ञानसंबंदन

ए.एस. ज्ञानसंबंदन तमिल भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक समालोचना कंबन पुदिय पारवई के लिये उन्हें सन् 1985 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

कानन देवी

कानन देवी बाङ्ला सिनेमा की विख्यात अभिनेत्री एवं गायिका थीं। बाद में उन्होंने हिन्दी सीख कर हिन्दी फिल्मों में भी अभिनय किया और काफी लोकप्रिय हुईं। उनका आरंभिक जीवन काफी गरीबी में बीता था और उस समय उनका नाम था कानन दासी । अभिनय से जुड़ने पर उनका ...

                                               

क्षेम चंद सुमन

आचार्य क्षेम चन्द सुमन हिन्दी साहित्यकार एवं पत्रकार थे। उन्हें १९८४ में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। उनके जीवन का सबसे महत्वपूर्ण कार्य है- दिवंगत हिन्दी साहित्यसेवी कोश का दो भागों में प्रकाशन। इस असाधारण ग्रन्थ को तैयार करने के लिये सुमन ...

                                               

गोपाल छोटराय

गोपाल छोटराय ओड़िया भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक एकांकी–संग्रह हास्यरसर नाटक के लिये उन्हें सन् 1982 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

चदुरंग

चदुरंग कन्नड़ भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक उपन्यास वैशाख के लिये उन्हें सन् 1982 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

लक्ष्मी कुमारी चूड़ावत

उनका जन्म २४ जून १९१६ को मेवाड़ में हुआ। वे राजस्थान में मेवाड़ राजघराने की एक बड़ी रियासत देवगढ़ के रावत विजयसिंह की पुत्री थीं। उनका विवाह १९३४ में रावतसर के रावत तेज सिंह से हुआ। २४ मई २०१४ को उनका निधन हो गया। उन्होंने राजस्थानी भाषा की मान्य ...

                                               

जगजीत सिंह अरोड़ा

जगजीत सिंह अरोड़ा भारतीय सेना के तीन-सितारा जनरल थे जिन्होने बंगलादेश मुक्ति संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी। १९७१ के भारत-पाकिस्तान युद्ध के समय वे पूर्वी कमान के जनरल आफिसर कमाण्डिंग-इन चीफ थे। भारत सरकार द्वारा उन्हें सन १९७२ में पद्म भूष ...

                                               

ज़ैल सिंह

ज्ञानी ज़ैल सिंह कार्यकाल 25 जुलाई 1982 से 25 जुलाई 1987 भारत के सातवें राष्ट्रपति थे। सिख धर्म के विद्वान पंजाब के मुख्यमंत्री रह चुके ज्ञानी जी अपनी दृढ़ इच्छा शक्ति, सत्यनिष्ठा के राजनीतिक कठिन रास्तों को पार करते हुए 1982 में भारत के गौरवमयी ...

                                               

जानकीवल्लभ शास्त्री

आचार्य जानकीवल्लभ शास्त्री हिंदी व संस्कृत के कवि, लेखक एवं आलोचक थे। उन्होने २०१० में पद्मश्री सम्मान लेने से मना कर दिया था। इसके पूर्व १९९४ में भी उन्होने पद्मश्री नहीं स्वीकारी थी। वे छायावादोत्तर काल के सुविख्यात कवि थे। उत्तर प्रदेश सरकार न ...

                                               

जॉन जी॰ मोरिस

जॉन जी॰ मोरिस, एक अमेरिकी फोटोग्राफर और फोटोपत्रकारिता के इतिहास में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति थे। उन्होंने पूरे द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान साप्तहिक पिक्चर मैगजीन ‘लाइफ’ के लिए काम किया था।