ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 179




                                               

रॉस अधीनक्षेत्र

रॉस अधीनक्षेत्र अंटार्कटिका का एक भूभाग है। यह रेखांश १६०° पूर्व और १५०° पश्चिम के बीच का क्षेत्र है। विक्टोरिया धरती का कुछ हिस्सा और रॉस हिमचट्टान का अधिकांश भाग इसमें आता है। न्यू ज़ीलैण्ड यहाँ पर अपनी सम्प्रभुता बताता है, लेकिन तो उसे विश्व क ...

                                               

मिर्ज़ा मुग़ल

सुल्तान मुहम्मद ज़हीर उद-दीन, जो आम तौपर मिर्ज़ा मुग़ल के नाम से जाने जाते हैं, एक मुगल राजकुमार थे =। उन्होंने 1857 के भारतीय विद्रोह के दौरान महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। वह पुरानी दिल्ली के एक द्वापर मारे गए मुगल राजकुमारों में से एक थे, जिसके बाद ...

                                               

एलिजा कुक

एलिजा कुक चार्टिस्ट आंदोलन से जुड़ी एक अंग्रेजी लेखक और कवि थी। वह महिलाओं के लिए राजनीतिक आजादी की समर्थक थी, और शिक्षा के माध्यम से स्वयं सुधार की विचारधारा में विश्वास करती थी, जिसे उसने "लैवलिंग अप" कहा था। इससे वो इंग्लैंड और अमेरिका दोनों म ...

                                               

गोकुलदास तेजपाल

शेठ गोकुलदास तेजपाल या शेठ गोकुलदास तेजपाल मुंबई, भारत के एक व्यापारी, समाज सुधारक और परोपकारी थे। गुजराती भाटिया समुदाय से आने वाले गोकुलदास, प्रसिद्ध गोकुलदास तेजपाल अस्पताल, गोकुलदास तेजपाल संस्कृत महाविद्यालय, जहां भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस क ...

                                               

ग्रेगर जॉन मेंडल

ग्रेगर जॉन मेंडल एक जर्मन भाषी ऑस्ट्रियाई औगस्टेनियन पादरी एवं वैज्ञानिक थे। उन्हें आनुवांशिकी का जनक कहा जाता है। उन्होंने मटर के दानों पर प्रयोग कर आनुवांशिकी के नियम निर्धारित किए थे। उनके कार्यों की महत्ता बीसवीं शताब्दी तक नहीं पहचानी गई बाद ...

                                               

नाना साहेब

नाना साहेब सन १८५७ के भारतीय स्वतन्त्रता के प्रथम संग्राम के शिल्पकार थे। उनका मूल नाम धोंडूपंत था। स्वतंत्रता संग्राम में नाना साहेब ने कानपुर में अंग्रेजों के विरुद्ध विद्रोहियों का नेतृत्व किया।.

                                               

मौलाना सूफी मूफ्ती अज़ानगाछी साहेब

हज़रत मौलाना सूफी मूफ्ती अज़ानगाछी साहेब र० उर्दू: مولانا صوفی مفتی اذانگاچھی, अंग्रेजी: Maulana Sufi Mufti Azangachhi Shaheb 1828 या 1829 - 19 दिसंबर 1932), एक महान भारतीय सूफी संत थे। ये पश्चिम बंगाल के बागमारी में एक इस्लामी सुफी गैर सरकारी सं ...

                                               

इतागाकी ताइसूके

इतागाकी ताइसूके जापानी राजनीतिज्ञ तथा स्वतंत्रता एवं जनाधिकार आन्दोलन के नेता थे। यही आन्दोलन आगे चलकर जापान का पहला राजनैतिक दल बना। १९५३ के १०० येन के नोट पर उनकी छबि बनी हुई है। इनका जन्म तोसा में हुआ था। प्रारंभिक ख्याति राजनीतिक सिपाही के रू ...

                                               

जोसेफ बेल

जोसेफ बेल 19वीं सदी में एडिनबर्ग विश्वविद्यालय के मेडिकल स्कूल में स्कॉटिश सर्जन और व्याख्याता थे। उन्हें साहित्यिक पात्र शर्लक होम्स के लिए एक प्रेरणा के रूप में जाना जाता है।

                                               

विलियम विलसन हन्टर

विलियम विलसन हन्टर उच्च कोटि के शिक्षाविद, ग्रन्थकार, सांख्यिकीविज्ञ थे जो पेशेवर रूप से भारत में अंग्रेज अधिकारी के रूप में कार्यरत थे।

                                               

उमेश चन्द्र दत्त

उमेश चन्द्र दत्त ब्रह्म समाज के संस्थापकों में अग्रगण्य थे। वे साधारण ब्रह्म समाज के संस्थापकों में से भी एक थे। उन्होने शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया। अपने पवित्र जीवन के कारण उनको साधु कहा जाता था।

                                               

एनरिको कावाली

साँचा:Bio एनरिको कावाली एक इतालवी कलाकार थे। वे अपनी रचनाओं में प्रभाववादोत्तर कला आंदोलन से प्रेरित थे।

                                               

तोरु दत्त

तोरु दत्त एक भारतीय कवि थी जो अंग्रेजी और फ्रेंच में लिखती थी। उनका जन्म रामगोपाल दत्त परिवार के पिता गोविंद चंदर दत्त और मां क्षेत्रमौनी से हुआ था। बहन अरु और भाई अबू के बाद तोरू सबसे कम उम्र की थी। रोमेश चन्दर दत्त, लेखक और भारतीय सिविल सेवक, उ ...

                                               

निकोला टेस्ला

निकोला टेस्ला एक सर्बियाई अमेरिकी आविष्कारक, भौतिक विज्ञानी, यांत्रिक अभियन्ता, विद्युत अभियन्ता और भविष्यवादी थे। टेस्ला की प्रसिद्धि उनके आधुनिक प्रत्यावर्ती धारा विद्युत आपूर्ति प्रणाली के क्षेत्र में दिये गये अभूतपूर्व योगदान के कारण है। टेस् ...

                                               

धोंडो केशव कर्वे

महर्षि डॉ॰ धोंडो केशव कर्वे प्रसिद्ध समाज सुधारक थे। उन्होने महिला शिक्षा और विधवा विवाह मे महत्त्वपूर्ण योगदान किया। उन्होने अपना जीवन महिला उत्थान को समर्पित कर दिया। उनके द्वारा मुम्बई में स्थापित एस एन डी टी महिला विश्वविघालय भारत का प्रथम मह ...

                                               

लॉर्ड हार्डिंग

हार्डिंग के पिता, चार्ल्स स्टीवर्ट हार्डिंग एक प्रसिद्ध ब्रिटिश राजनेता थे, तथा उनके दादा, सर हैनरी हार्डिंग १८४४ से १८४८ तक भारत के गवर्नर जनरल रह चुके थे। उन्होंने हैरो स्कूल तथा ट्रिनिटी कॉलेज, कैंब्रिज से शिक्षा प्राप्त की।

                                               

विपिनचंद्र पाल

बिपिन चंद्र पाल एक भारतीय क्रांतिकारी थे। भारतीय स्वाधीनता आंदोलन की रूपरेखा तैयार करने में प्रमुख भूमिका निभाने वाली लाल-बाल-पाल की तिकड़ी में से एक विपिनचंद्र पाल राष्ट्रवादी नेता होने के साथ-साथ शिक्षक, पत्रकार, लेखक व वक्ता भी थे और उन्हें भा ...

                                               

सेल्मा लागरलोफ

सेल्मा लागरलोफ का जन्म 20 नवंबर, 1858 को वार्मलैंड में हुआ था। इनका पूरा नाम सेल्मा ओटिलियाना लोविसा लागरलोफ Selma Ottiliana Lovisa Lagerlof था। सेल्मा को नोबेल पुरस्कार मिलने के रूप में उनके देश स्वीडन में भी किसी को पहली बार नोबेल पुरस्कार प्रा ...

                                               

एमी जूडिथ लेवी

एमी जूडिथ लेवी एक ब्रिटीश निबंधकार, कवि और उपन्यासकार थे। लेवी का जन्म, लंदन के एक यहुदी परिवार में हुआ था। एक व्यस्क के रूप में, लेवी ने खुद को यहूदी के रूप में प

                                               

देवकीनन्दन खत्री

बाबू देवकीनन्दन खत्री हिंदी के प्रथम तिलिस्मी लेखक थे। उन्होने चंद्रकांता, चंद्रकांता संतति, काजर की कोठरी, नरेंद्र-मोहिनी, कुसुम कुमारी, वीरेंद्र वीर, गुप्त गोदना, कटोरा भर, भूतनाथ जैसी रचनाएं की। भूतनाथ को उनके पुत्र दुर्गा प्रसाद खत्री ने पूरा ...

                                               

फ्रिडचॉफ नानसेन

फ्रिडचॉफ नानसेन एक नॉर्वे के खोजकर्ता, वैज्ञानिक, मानवतावादी राजनयिक, और नोबेल शांति पुरस्कार विजेता थे। अपनी जवानी में वह चैंपियन स्कीयर और आइस स्केटर रहे। उन्होंने टीम का नेतृत्व किया जिसने १८८८ में आंतरिक ग्रीनलैंड द्वीप को क्रॉस-कंट्री स्की स ...

                                               

मदनमोहन मालवीय

महामना मदन मोहन मालवीय काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के प्रणेता तो थे ही इस युग के आदर्श पुरुष भी थे। वे भारत के पहले और अन्तिम व्यक्ति थे जिन्हें महामना की सम्मानजनक उपाधि से विभूषित किया गया। पत्रकारिता, वकालत, समाज सुधार, मातृ भाषा तथा भारतमाता की ...

                                               

महमद षष्ठ

महमद षष्ठ उस्मानी साम्राज्य के 36वें और आख़िरी शासक थे जो अपने भाई महमद पंचम के बाद 1918 से 1922 तक तख़्त पर नशीन रहे। उन्हें 4 जुलाई 1918 को साम्राज्य के संस्थापक उस्मान प्रथम की तलवार से नवाज़ कर 36वें सुल्तान की ज़िम्मेदारियाँ दी गई थीं।

                                               

रबीन्द्रनाथ ठाकुर

डेलाहौसी के हिमालयी पर्वतीय स्थल तक निकल गए थे। वहां टैगोर ने जीवनी, इतिहास, खगोल विज्ञान, आधुनिक विज्ञान और संस्कृत का अध्ययन किया था और कालिदास की शास्त्रीय कविताओं के बारे में भी पढ़ाई की थी। १८७३ में अमृतसर में अपने एक महीने के प्रवास के दौरा ...

                                               

हेदा एंडरसन

हेडा अल्बर्टिना एंडरसन, एक स्वीडिश चिकित्सक थी। वह लुंड विश्वविद्यालय में दूसरी महिला और स्वीडन में दूसरी विश्वविद्यालय-शिक्षित महिला चिकित्सक थीं।

                                               

कैटरिना अल्बर्ट

कैटरिना अल्बर्ट ई पारादीस स्पेनी कातालोन्याई लेखिका थीं, जिन्होंने आधुनिकतावाद आंदोलन में हिस्सा लिया था। इनके साहित्यिक कौशल की ख़ोज 1898 में हुई जब इन्हें जोक्स फ़्लोराल्स पुरस्कार प्राप्त हुआ। इसके ठीक पश्चात इन्होंने लेखन कार्य के लिए विक्टर ...

                                               

एमा विल्लिट्स

एमा के. विल्लिट्स एक अग्रणी महिला चिकित्सक व सर्जन थे जिन्होंने सैन फ्रांसिस्को में बच्चो के अस्पताल के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। ऐसा माना जाता है कि वह संयुक्त राज्य अमेरिका में सर्जरी के विशेषज्ञ होने वाली तीसरी महिला है।

                                               

फिलिप डी लास्ज़लो

फिलिप Alexius डे László MVO था एक हंगरी चित्रकार जाना जाता है के लिए विशेष रूप से अपने चित्रों के शाही और कुलीन व्यक्तियों. 1900 में, वह शादी के बाद लुसी गिनीज के Stillorgan, काउंटी डबलिन, और बन गया एक ब्रिटिश के अधीन में 1914.

                                               

ग्रिगोरी रास्पुतिन

ग्रिगोरी रास्पुतिन ɪˈfʲiməvʲɪtɕ rɐˈsputʲɪn" ; साँचा:OldStyleDate – साँचा:OldStyleDate) एक रूसी किसान, एक अनुभवी यात्री, एक रहस्यवादी आस्था चिकित्सक, और रूसी साम्राज्य के अंतिम त्सार, निकोलस द्वितीय के परिवार के एक विश्वसनीय मित्र थे। वे सेंट पीटर ...

                                               

वी॰ एस॰ श्रीनिवास शास्त्री

वी. एस. श्रीनिवास शास्त्री भारतीय समाजनेता थे। वालिगमन मद्रास के एक गरीब ब्राह्मण परिवार में इनका जन्म हुआ था। स्कूल-अध्यापक के रूप में जीवन प्रारम्भ। शुरु से ही जीवन की सामाजिक समस्याओं में अभिरुचि होने के कारण गोपालकृष्ण गोखले द्वारा संस्थापित ...

                                               

शार्लेट म्यू

उनका जन्म ब्लूम्सबरी, लंदन मे हुआ था। वे एन्ना केंडल और आर्किटेक्ट फ्रेडरिक मेव, हंपस्टेड टाउन हॉल के डिजाइनर,की बेटी थी। उनकी शादी से सात बच्चे पैदा हुए। शेरलेट अपने परिवार द्वारा उपनामित लोटी नाम से भी जानी जाती थी। उन्होनेअपनी शिक्षा गोवर स्ट् ...

                                               

सत्यशरण रतूड़ी

सत्यशरण रतूड़ी चंचरोक का जन्म गोदी में हुआ। आप द्विवेदी युग के प्रसिद्ध कवियों में माने जाते हैं। उनकी कविताएँ प्राय: "सरस्वती" में प्रकाशित होती थीं। वे अत्यंत भावुक और सहृदय कवि थे। आचार्य महावीरप्रसाद द्विवेदी ने अपने एक पत्र में इन शब्दों में ...

                                               

सी टी आर विल्सन

चार्ल्स थॉमसन रीस विल्सन स्कॉटलैंड के भौतिक विज्ञानी और मौसम विज्ञानी थे। बादल कक्ष के आविष्कार के लिए वर्ष 1927 में उन्हें भौतिक विज्ञान में नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया।

                                               

अन्तोनी मारिया अलकुवे ई सुरेदा

अन्तोनी मारिया अलकुवे ई सुरेदा स्पेनी कातालोन्याई पादरी, भाषावैज्ञानिक, लेखक और इतिहासकार थे। मायोर्का द्वीप के निवासी अलकुवे की लेखन शैली आधुनिकतावादी थी व इन्होंने कई विविध विषयों जैसे रोमन कैथलिक गिरजाघर, लोककथाओं और भाषाविज्ञान में रचनाएँ की ...

                                               

गंगाधर मेहेर

गङ्गाधर मेहेर, ओड़िआ के एक रीति कवि थे। वे प्रकृति कवि और स्वभाव कवि के रूप में प्रसिद्ध हैं। उनका जन्म अविभक्त सम्बलपुर जिला और वर्तमान बरगढ़ जिला के बरपालि गाँव में हुआ था।

                                               

डेविड हिल्बर्ट

डेविड हिल्बर्ट जर्मनवासी एक महान गणितज्ञ थे। आपेक्षिकता के सामान्य सिद्धान्त की अन्तिम समीकरण को इन्होने आइन्स्टीन से पहले हल कर लिया था इसे इतिहास मे आइन्स्टीन-हिल्बर्ट ऐक्शन कहा जाता है मैथमैटिकल सोसायटी की बिल्डिंग जिसे डेविड हिल्बर्ट ने प्रार ...

                                               

चित्तरंजन दास

देशबन्धु चितरंजनदास सुप्रसिद्ध भारतीय नेता, राजनीतिज्ञ, वकील, कवि, पत्रकार तथा भारतीय स्वतंत्रता आन्दोलन के प्रमुख नेता थे। उन्होंने कई बड़े स्वतंत्रता सेनानियों के मुकद्दमे भी लड़े। चितरंजन दास का जन्म 5 नवंबर 1870 को कोलकाता में हुआ। उनका परिवा ...

                                               

डॉ मारिया मॉन्टेसरी

डॉ मारिया मॉन्टेसरी विश्व के प्रमुख शिक्षाशास्त्रियों मे एक है। इनका जन्म यूनान मे १८७० ई, मे हुआ। ये इतनी प्रतिभाशाली थी कि मात्र २४ वर्ष की अवस्था मे १८९४ ई मे के विश्वविद्यालय से इन्होने की उपाधि प्राप्त की। डॉ मारिया मॉन्टेसरी प्रणाली शिक्षा ...

                                               

एनरीक प्रात दा ला रीबा

एनरीक प्रात दा ला रीबा ई सर्रा स्पेनी कातालोन्याई वकील, पत्रकाऔर राजनीतिज्ञ थे। ये सेंटर एस्कोलार कातालानिस्ता के सदस्य बन गए थे, जहाँ कैटलन राष्ट्रवाद की नीव बोगई थी। इन्हें उन्नीसवीं शताब्दी के अंत में कैटलन राष्ट्रवाद से जुडी भावनाओं के पुनरुत ...

                                               

मातंगिनी हाजरा

मातंगिनी हाजरा भारत की क्रान्तिकारी थीं। उन्हें गाँधी बुढ़ी के नाम से जाना जाता था। मातंगिनी हाजरा का जन्म पूर्वी बंगाल वर्तमान बांग्लादेश मिदनापुर जिले के होगला ग्राम में एक अत्यन्त निर्धन परिवार में हुआ था। गरीबी के कारण 12 वर्ष की अवस्था में ह ...

                                               

मैरी लॉयड

मटिल्डा ऐलिस विक्टोरिया वुड, पेशेवर के रूप में मैरी लॉयड / ˈ एम ɑː आर मैं / / ˈ m ɑː r i / ; देर उन्नीसवीं और शुरू बीसवीं सदियों के दौरान की एक अंग्रेजी संगीत हॉल गायक, हास्य अभिनेता और संगीत थिएटर अभिनेत्री थी। वह द बॉय आई लव इज़ अप इन द गैलरी", ...

                                               

सोहन सिंह भकना

बाबा सोहन सिंह भकना) भारत के स्वतंत्रता संग्राम के क्रांतिकारी थे। वे गदर पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष थे तथा सन् १९१५ के गदर आन्दोलन के प्रमुख सूत्रधार थे। लाहौर षडयंत्र केस में बाबा को आजीवन कारावास हुआ और सोलह वर्ष तक जेल में रहने के बाद सन् १९३ ...

                                               

अब्दुल्ला यूसुफ़ अली

अब्दुल्ला यूसुफ़ अली, जन्म 14 अप्रैल 1872 - 10 दिसंबर 1953) एक ब्रिटिश-भारतीय बैरिस्टर और विद्वान थे, जिन्होंने इस्लाम के बारे में कई किताबें लिखीं और अंग्रेजी में कुरान का अनुवाद सबसे व्यापक रूप से जाना जाता है और अंग्रेजी भाषी दुनिया में उपयोग ...

                                               

केसरी सिंह बारहट

केसरी सिंह बारहठ एक कवि और स्वतंत्रता सैनानी थे। वो भारतीय राज्य राजस्थान की चारण जाति के थे। उनके पुत्र प्रतापसिंह बारहठ भी भारतीय क्रान्तिकारी थे।

                                               

गंगानाथ झा

गंगानाथ झा संस्कृत, हिन्दी, मैथिली एवं अंग्रेजी के विद्वान एवं शिक्षाशास्त्री थे। वे हिंदी साहित्य सम्मेलन के सभापति भी हुए। उनके अनेक स्मारकों में इलाहाबाद विश्वविद्यालय का गंगानाथ झा रिसर्च इंस्टीट्यूट प्रमुख है।

                                               

टंगुटूरी प्रकाशम

तंगुटूरी प्रकाशम भारतीय राजनीतिज्ञ और मद्रास प्रैज़िडन्सी के मुख्यमंत्री थे। सन् १९५३ में मद्रास स्टेट के विभाजन के बाद स्थापित आन्ध्र राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री बने। टंगुटूरी प्रकाशम पंतलु मद्रास प्रेसिडेंसी के मुख्यमंत्री, भारतीय राजनेता और स्व ...

                                               

फिरोजुद्दीन मीर

फिरोजुद्दीन मीर एक ऐसे भारतीय हैं जो वर्तमान समय में दुनिया के सबसे उम्रदराज व्यक्ति हैं। एक सरकारी दस्तावेज के अनुसार उनकी जन्म तिथि 10 मार्च 1872 है। इस हिसाब से उनकी उम्र 141 साल है। दैनिक जागरण ने 23 जुलाई 2013 जुलाई को प्रकाशित समाचार में बत ...

                                               

हन्ना एडोल्फसेन

हन्ना एडोल्फसेन एक नार्वे के राजनेता थी जो महिला आंदोलन में सक्रिय थी। 1920 से 1923 तक,उन्होंने नॉर्वे की लेबर पार्टी की महिला महासंघ की अगुवाई की, उसने अपने पूर्ववर्तियों गनहिल जिनेऔर मार्था टाइनो की तुलना में अधिक कट्टरपंथी रुख अपनाते हुए सर्वह ...

                                               

गौहर जान

गौहर जान कलकत्ता की एक भारतीय गायिका एवं नर्तिका थीं।वे ७८ आरपीएम रिकॉर्ड पर संगीत रिकॉर्ड करने वाली भारत की पहली कलाकारों में से एक थीं जिसे ग्रामोफ़ोन रिकॉर्ड पर ग्रामोफोन कंपनी जारी किया गया।

                                               

विट्ठल रामजी शिंदे

महर्षि विट्ठल रामजी शिन्दे महाराष्ट्र के सबसे बड़े समाजसुधारकों में से थे। उनका सबसे बड़ा योगदान अस्पृश्यता को मिटाना तथा दलित वर्ग को बराबरी पर लाना था।