ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 131




                                               

ईमी कूसी ज्वालामुखी

ईमी कूसी ज्वालामुखी सहारा मरुस्थल का सबसे ऊँचा स्थान है जिसकी ऊँचाई ३,४१५ मीटर है। हवा के साथ बनते विशाल बालू के टीले एवं खड्ड इसकी सामान्य भू-प्रकृति बनाते हैं। यह टिबेस्टी पर्वत पर स्थित है।

                                               

के२

के२ विश्व का दूसरा सबसे ऊँचा पर्वत है। यह पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्र चीन द्वारा नियंत्रित शिनजिआंग प्रदेश की सीमा पर काराकोरम पर्वतमाला की बाल्तोरो मुज़ताग़ उपश्रृंखला में स्थित है। 8.611 मीटर की ऊँचाई वाली यह चोटी माउंट एवरेस ...

                                               

औरेस

औरेस अफ्रीका के उत्तर पश्चिम में स्थित एक पर्वतीय क्षेत्र है। अल्जीरिया के पूर्वी भाग में टेलऐटलस और सहारा की ऐटलस पर्वतश्रेणियों का जहाँ संधिस्थल है, उस पर्वतीय क्षेत्र को औरेस कहते हैं। दोनों पर्वतमालाओं के मिल जाने से ऊँचाई काफी अधिक हो गई है। ...

                                               

पर्वत श्रेणी

पहाड़ो तथा पहाड़ियों क एसा क्रम जिसमें कई शिखर, कटक, घाटियां आदि सम्मिलित हो, पर्वत श्रेणी के नाम से जाना जाता है। पर्वत श्रेणियां एक सीधी रेखा में अपेक्षाक्रत संकरे स्वरूप में विस्त्रत होती हैं। हिमालय पर्वत श्रेणी इसका एक प्रमुख उदाहरण हैं।

                                               

अतलास पर्वत

अतलास पर्वत या ऐटलस पर्वत पशिमोत्तरी अफ़्रीका में स्थित एक २,५०० किमी लम्बी पर्वत शृंखला है। यह मोरक्को, अल्जीरिया और तूनीसीया के देशों से निकलती है और इसका सबसे ऊँचा पहाड़ दक्षिण-पश्चिमी मोरक्को में स्थित ४,१६७ मीटर लम्बा तूबक़ाल पर्वत है। अतलास ...

                                               

अवुल कासिम

अवुल कासिम: ; दक्षिण इथियोपिया में एक पर्वत है ओरमिया क्षेत्र के आर्सी जोन में स्थित इस पर्वत की समुद्र तल से 2.573 मीटर की ऊंचाई है यह सर्उ वॉरडा में सर्वोच्च बिंदु है इहा। लेकिन इस पर्वत को अब्बा मुदा के घर के रूप जाना जाता है जो ओरोमो की सांस् ...

                                               

कारपैथी पर्वत

कारपैथी पर्वत पूर्वी और मध्य यूरोप में स्थित लगभग १,५०० किमी लम्बी एक पर्वतमाला है। १,७०० किमी चलने वाली स्कैंडीनेवियाई पर्वतमाला के बाद यह यूरोप की दूसरी सब से लम्बी पर्वत शृंखला है। इसमें यूरोप के वन्य जीवन एक बड़ा हिस्सा रहता है, जिसमें भूरे भ ...

                                               

कुनलुन पर्वत

कुनलुन पर्वत शृंखला मध्य एशिया में स्थित एक पर्वत शृंखला है। ३,००० किलोमीटर से अधिक चलने वाली यह शृंखला एशिया की सब से लम्बी पर्वतमालाओं में से एक गिनी जाती है। कुनलुन पर्वत तिब्बत के पठार के उत्तर में स्थित हैं और उसके और तारिम द्रोणी के बीच एक ...

                                               

ख़ानगई पर्वत

ख़ानगई पर्वत मध्य मंगोलिया में स्थित एक पर्वत शृंखला है। यह मंगोलिया की राजधानी उलान बतोर से लगभग ४०० किमी पश्चिम पर स्थित है। ख़ानगई के पहाड़ अल्ताई पर्वतों से पूर्व में और सायन पर्वतों से दक्षिण की तरफ़ हैं। ५०० किमी तक चलने वाली ख़ानगई शृंखला ...

                                               

गिरिपीठ

गिरिपीठ या तलहटी भौगोलिक दृष्टि से एक पर्वत श्रृंखला के आधार से क्रमिक वृद्धि के रूप में परिभाषित कर सकते हैं। यह मैदानी क्षेत्और पहाड़ी क्षेत्र के बीच का वह इलाका है जो क्रमशः मैदानी क्षेत्र से बढ़कर पर्वत शृंखला की चोटी में जाकर ख़त्म होता है।

                                               

चिलियन पर्वत शृंखला

चिलियन पर्वत शृंखला या नान शान कुनलुन पर्वत शृंखला की एक उत्तरी शाखा है जो जनवादी गणराज्य चीन की वर्तमान चिंगहई और गांसू प्रान्तों के बीच की सरहद पर स्थित है। यह तिब्बत के पठार की उत्तरी सीमा भी है। यह दुनहुआंग शहर के दक्षिण से शुरू होकर ८०० किमी ...

                                               

बोगदा पर्वत शृंखला

बोगदा पर्वत शृंखला तियान शान पर्वत शृंखला की एक पूर्वी शाखा है जो जनवादी गणराज्य चीन की वर्तमान शिनजियांग प्रान्त में उरुम्ची शहर से ६० किमी पूर्व में स्थित है। इसका सबसे ऊँचा पहाड़ ५४४५ मीटर ऊँचा बोगदा पर्वत है। यह शृंखला शिनजियांग प्रान्त के दा ...

                                               

संगलाख़

संगलाख़ हिन्दु कुश पर्वत शृंखला की एक शाखा है। इस से अफ़्ग़ानिस्तान की दो महत्वपूर्ण नदियाँ - हेलमंद नदी और काबुल नदी - उत्पन्न होती हैं। संगलाख़ शृंखला के सब से प्रमुख दर्रे का नाम उनई दर्रा या उनई कोतल है।

                                               

सिएर्रा मोरेना

सिएर्रा मोरेना स्पेन की एक प्रमुख पहाड़ी शृंखला है। यह दक्षिणी स्पेन में पूर्व-पश्चिम दिशा में चलती है और आइबेरियाई प्रायद्वीप के मेसेटा सेंत्राल नामक पठार की दक्षिणी सीमा है। सिएर्रा मोरेना की शृंखला अपने उत्तर की ओर स्थित गुआदिआना घाटी और दक्षि ...

                                               

हिजाज़ पहाड़ियाँ

हिजाज़ पहाड़ियाँ या हेजाज़ पहाड़ियाँ सउदी अरब के पश्चिमी हिजाज़ क्षेत्र में उस देश के पश्चिमी तट के पास स्थित पहाड़ियों की एक शृंखला है। वास्तव में इस तट की बराबरी में दो पहाड़ी शृंखलाएँ चलती हैं - उत्तर में हिजाज़ पहाड़ियाँ हैं, बीच में एक कम ऊँ ...

                                               

हिन्दू राज

हिन्दू राज उत्तरी पाकिस्तान में हिन्दु कुश पर्वतमाला और काराकोरम पर्वतमाला के बीच स्थित एक पर्वत शृंखला है। इसका सबसे ऊँचा पहाड़ ६,८७२ मीटर लम्बा कोयो ज़ुम है। इसके दो अन्य जानेमाने पहाड़ बूनी ज़ुम और ग़मुबार ज़ुम हैं। इस शृंखला में कोई भी ७,००० ...

                                               

पर्वतारोहण

पर्वतारोहण या पहाड़ चढ़ना शब्द का आशय उस खेल, शौक़ अथवा पेशे से है जिसमें पर्वतों पर चढ़ाई, स्कीइंग अथवा सुदूर भ्रमण सम्मिलित हैं। पर्वतारोहण की शुरुआत सदा से अविजित पर्वत शिखरों पर विजय पाने की महत्वाकांक्षा के कारण हुई थी और समय के साथ इसकी 3 व ...

                                               

हिम रेखा

हिम रेखा ऊँचे पर्वतों में वह रेखा होती है जिसके ऊपर अमूमन पूरे वर्ष बर्फ़ ठहरी हुयी होती है। यह एक पट रेखा होती है और ऊँचे पर्वतों में साफ़ दिखाई देती है।

                                               

कुनलुन देवी

कुनलुन देवी, जिसे चीनी भाषा में लिउशी शान भी कहा जाता है मध्य एशिया की कुनलुन पर्वत शृंखला का सब से ऊँचा पर्वत है। यह चीन द्वारा नियंत्रित तिब्बत और शिंजियांग प्रान्तों की सीमा पर स्थित है। कुनलुन देवी की ऊँचाई ७,१६७ मीटर है। यह भारत के अक्साई चि ...

                                               

कोपेत दाग़

कोपेत दाग़ या कोपे दाग़, जिसे तुर्कमेन-ख़ोरासान पर्वत-शृंखला भी कहा जाता है, तुर्कमेनिस्तान और ईरान की सरहद पर ६५० किमी तक चलने वाली एक पर्वत शृंखला है। यह कैस्पियन सागर से पूर्व में स्थित है और तुर्कमेनिस्तान में इस शृंखला का सबसे बुलंद शिखर २,९ ...

                                               

कोयतेनदाग़ शृंखला

कोयतेनदाग़, जिन्हें कुगितांगताऊ भी कहते हैं, मध्य एशिया में दक्षिण-पूर्वी तुर्कमेनिस्तान में स्थित पामीर-अलाय पर्वतों की एक शाखा है। यह तुर्कमेनिस्तान की उज़बेकिस्तान के सुरख़ानदरिया प्रान्त के साथ लगी सरहद पर स्थित हैं। इस शृंखला का सबसे ऊँचा पह ...

                                               

ख़ज़रेत सुलतान

ख़ज़रेत​ सुलतान या हज़रत सुलतान मध्य एशिया का एक ४,६४३ मीटर ऊँचा पर्वत है जो उज़बेकिस्तान देश का सबसे ऊँचा पर्वत भी है। यह पामीर-अलाय पर्वत मंडल की गिस्सार पर्वत शृंखला में ताजिकिस्तान की सीमा के नज़दीक स्थित है। जब उज़बेकिस्तान सोवियत संघ का भाग ...

                                               

पामीर पर्वतमाला

पामीर, मध्य एशिया में स्थित एक प्रमुख पठार एवं पर्वत शृंखला है, जिसकी रचना हिमालय, तियन शान, काराकोरम, कुनलुन और हिन्दू कुश शृंखलाओं के संगम से हुआ है। पामीर विश्व के सबसे ऊँचे पहाड़ों में से हैं और १८वीं सदी से इन्हें विश्व की छत कहा जाता है। इस ...

                                               

पामीर-अलाय

पामीर-अलाय मध्य एशिया में ताजिकिस्तान, किर्गिज़स्तान, उज़बेकिस्तान और पूर्वी तुर्कमेनिस्तान में पर्वत-शृंखलाओं का एक गुट है, जो पामीर पर्वतमाला का एक हिस्सा समझे जाते हैं। यह उत्तर में सिर दरिया की वादी से लेकर दक्षिण में वख़्श नदी तक विस्तृत हैं ...

                                               

किलिमंजारो

किलिमंजारो, अपने तीन ज्वालामुखीय शंकु, किबो, मवेन्ज़ी, और शिरा के साथ पूर्वोत्तर तंजानिया में एक निष्क्रिय स्ट्रैटोज्वालामुखी है और अफ्रीका का उच्चतम पर्वत है जिसकी ऊंचाई समुद्र तल से 5.895 मीटर या 19.341 फीट है. किलिमंजारो पर्वत दुनिया का सबसे ऊ ...

                                               

अकोंकागुआ

आकोंकागुआ या आकोंकाग्वा दक्षिण अमेरिका की ऐन्डीज़ पर्वतमाला का सबसे ऊँचा पहाड़ है। यह एशिया से बाहर विश्व का सबसे ऊँचा पर्वत भी है, हालांकि एशिया के हिमालय इतने ऊँचे हैं कि आकोंकागुआ का स्थान केवल विश्व के ११०वें सबसे ऊँचे पर्वत पर आता है। आकोंका ...

                                               

पुंचाक जाया

पुंचाक जाया, जिसे कई बार कारस्टेन्स शिखर भी कहा जाता है, इंडोनेशिया के पापुआ प्रांत में स्थित सुदिरमन पर्वतमाला का एक पर्वत है। यह इंडोनेशिया का सबसे ऊँचा पर्वत है, और साथ ही यह नये गिनी द्वीप और पूरे ओशिआनिया क्षेत्र का भी सबसे ऊँचा पर्वत है। इस ...

                                               

विन्सन मैसिफ़

विन्सन मैसिफ़ अंटार्कटिका के एल्स्वर्थ पहाड़ियों की सेंटिनल पर्वतमाला नामक शाखा में स्थित एक बड़ा पर्वतीय मैसिफ़ है जो २१ किमी लम्बा और १३ किमी चौड़ा है। यह रोन हिमचट्टान के ऊपर तैनात खड़ा है और अंटार्कटिक प्रायद्वीप के मुख्यभूमि से जुड़ने के स्थ ...

                                               

चक्रवात

चक्रवात घूमती हुई वायुराशि का नाम है। उत्पत्ति के क्षेत्र के आधापर चक्रवात के दो भेद हैं: १ उष्ण कटिबंधीय चक्रवात या वलकियक चक्रवात Tropical cyclone, तथा २ बाह्योष्णकटिबंधीय चक्रवात या शीतोष्णकटिबंधीय चक्रवात या उष्णवलयपार चक्रवात Extratropical c ...

                                               

उष्णकटिबंधीय चक्रवात के नामों की सूची

उत्तरी हिंद महासागर में कोई तूफान आने से ८ देशो द्वारा दिये गए नामो में से एक नाम उस तूफान को दिया जाता है। भारत द्वारा सुझाया गया नाम:- बिजली अग्नि मेघ जल लहर आकाश श्रीलंका द्वारा सुझाया गया नाम:- माला रश्मि बांग्लादेश द्वारा सुझाया गया नाम:- गि ...

                                               

ओखी चक्रवात

ओखी चक्रवात तूफान एक सक्रिय उष्णकटिबंधीय चक्रवात हैं। जोकि वर्तमान में भारत के दक्षिणी क्षेत्र में सक्रिय हैं, और 2015 के मेघ चक्रवात के बाद अरब सागर में मौजूद सबसे तीव्र हैं। 2017 के उत्तर हिंद महासागर का सबसे तेज़ तूफान, ओखी 29 नवंबर को श्रीलंक ...

                                               

टाइफ़ून टिप

टाइफून टिप, फिलीपींस में टाइफून वॉर्लिंग के रूप में जाना जाता है, यह अब तक का दर्ज किया गया सबसे बड़ा और सबसे गहन उष्णकटिबंधीय चक्रवात था। अमेरिकी वायुसेना के विमानों ने तूफान में 60 मौसम टोही अभियानों का संचालन किया, जिससे टिप सबसे निकट से देखे ...

                                               

लहर चक्रवात

ideasimनबंर8140201809DAVPLCIHG लहर उष्णकटिबंधीय चक्रवात है। यह मुख्य रूप से अण्डमान और निकोबार द्वीपसमूह और आंध्र प्रदेश को प्रभावित किया। यह १८ नवम्बर २०१३ को पहली बार दिखा और २३ नवम्बर २०१३ तक यह कमजोर होकर समाप्त हो गया। इसका नाम भारत ने सुझाय ...

                                               

हुदहुद (चक्रवात)

हुदहुद एक उष्णकटिबंधीय चक्रवाती तूफान है। यह उत्तरी हिंद महासागर में बना २०१४ का अब तक का सबसे ताकतवर तूफान है। इसका नाम हुदहुद नामक एक पक्षी के नाम से लिया गया है। इसके नाम का सुझाव ओमान ने दिया।

                                               

तूफान मेरान्ती

तूफान मेरान्ती हाल ही में दर्ज किए सबसे मजबूत उष्णकटिबंधीय चक्रवाती तूफान है। ताइवान में पिछले 59 सालों में यह अब तक का सबसे तेज तूफान रहा है। इसकी रफ़्तार 370 किलोमीटर प्रति घंटे मापी गई है। इसके कारण पाँच लाख से अधिक परिवार प्रभावित हुए और 2.6 ...

                                               

पीली आंधी

पीली आंधी या धूल भरी आंधी एक मौसम संबंधी घटना है जो ग्रीष्म ऋतु के महीनों के दौरान पूर्व एशिया के कई हिस्सों को बहुत प्रभावित करती है। यह धूल मंगोलिया, उत्तरी चीन और कज़ाकस्तान के रेगिस्तानों से उत्पन्न होती है जिसे रेगिस्तान में बहने वाली उच्च ग ...

                                               

बवंडर

हवा के प्रचंडतापूर्वक चक्रन करने वाले स्तंभ को बवंडर कहा जाता है जो पृथ्वी की सतह और कपासी वर्षी बादल दोनों को जोड़ता है। कुछ दुर्लभ अवस्थाओं में ऐसा भी पाया जाता है कि यह कपासी मेघ का आधार होता है। इन्हें अक्सर ट्विस्टर्स अथवा चक्रवात कहा जाता ह ...

                                               

२०११ आइरीन चक्रवात

२०११ आइरीन चक्रवात एक समुद्री-तूफ़ान है जो अगस्त २०११ में आरम्भ हुआ था। यह तूफ़ान अन्ध महासागर में सक्रिय हुआ था और इसने अबतक बहुत से कैरिबियाई देशों में क्षति पहुँचाई है और अब यह तूफ़ान संयुक्त राज्य अमेरिका के पूर्वी तट की ओर बढ़ रहा है। इसका उ ...

                                               

२०१८ उत्तराखण्ड दावानल

हाल के वर्षों की ही तरह २०१८ की गर्मियों में भी उत्तर भारत के उत्तराखण्ड राज्य में कई जगह पर वनों में आग के मामले सामने आये हैं। टिहरी से लेकर उत्तरकाशी और बागेश्वर तक के पहाड़ और वन भीषण आग से जूझ रहे हैं। अग्नि से सबसे ज्यादा प्रभावित पौड़ी गढ़ ...

                                               

२०११ पाकिस्तान भूकम्प

२०११ पाकिस्तान भूकम्प १९ जनवरी २०११ को रात १:५३ पर पाकिस्तान में आया शक्तिशाली भूकम्प था। दक्षिण पश्चिमी पाकिस्तान में रिक्टर पैमाने पर ७.४ की तीव्रता वाले इस भूकम्प का केन्द्र पाकिस्तान का बलूचिस्तान प्रान्त था। संयुक्त राज्य भूगर्भ सर्वेक्षण के ...

                                               

गैलेक्सी विलय

गैलेक्सी विलय अंतःक्रियाई गैलेक्सियों का सबसे हिन्सात्मक उदाहरण है और तब होता है जब दो या उस से अधिक गैलेक्सियाँ टकराती हैं। इन विलयों का प्रभाव कई चीज़ों पर निर्भर है जैसे कि गैलेक्सियों का आकार, उनका पारस्परिक वेग, उनकी बनावट और टकराव का कोण।

                                               

2007 चटगाँव बाढ़

चटगाँव जो कि बांग्लादेश का प्रमुख बंदरगाह एवं आकार में दूसरे नंबर का शहर है, वहाँ जून २००७ में बाढ़ आई और जीवन अस्त-वयस्त हो गया। बांग्लादेश में अधिकारियों का कहना है कि चटगाँव में ज़मीन खिसकने और बाढ़ के चलते मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 118 ...

                                               

2014 भारत - पाकिस्तान बाढ़

सितम्बर 2014 में, मूसलाधार मानसूनी वर्षा के कारण भारतीय राज्य जम्मू और कश्मीर ने अर्ध शताब्दी की सबसे भयानक बाढ़ आई। यह केवल जम्मू और कश्मीर तक ही सीमित नहीं थी अपितु पाकिस्तान नियंत्रण वाले आज़ाद कश्मीर, गिलगित-बल्तिस्तान व पंजाब प्रान्तों में भ ...

                                               

2017 बिहार बाढ़

2017 बिहार बाढ़ ने उत्तर बिहार के 19 जिलों को प्रभावित किया, जिससे 514 लोगों की मौत हो गई। इस बाढ़ से 1 करोड़ 71 लाख लोग प्रभावित हुए। इस बाढ़ ने मरने वालों की संख्या में पिछले नौ वर्षों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। बाढ़ से 8.5 लाख लोगों के घर टूट गए थे ...

                                               

2018 केरल बाढ़

अगस्त 2018 में भारतीय राज्य केरल में मानसून के दौरान अत्यधिक वर्षा के कारण बाढ़ आ गयी। यह केरल में एक शताब्दी में आयी सबसे विकराल बाढ़ थी, जिसमें अबतक 373 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं, तथा 2.80.679 से अधिक लोगों को विस्थापित होना पड़ा। राज्य के स ...

                                               

उत्तर भारत बाढ़ २०१३

जून 2013 में, उत्तर भारत में भारी बारिश के कारण हिमाचल प्रदेश और उत्तराखण्ड में बाढ़ और भूस्खलन की स्थिति पैदा हो गयी। इससे प्रभावित अन्य राज्य हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश हैं। बाढ़ के कारण जान-माल का भारी नुकसान हुआ और बहुत से लोग बाढ़ में ब ...

                                               

उत्तरी सागर बाढ़ १९५३

उत्तरी सागर बाढ़, ३१ जनवरी से १ फरवरी, १९५३ को आया एक विनाशकारी तूफ़ान है जिससे तटीय यूरोपीय देशों जैसे इंग्लैंड, नीदरलैंड और बेल्जियम में हजारों लोग बाढ़ की चपेट में आकर मारे गए। डेनमार्क और फ्रांस में भी बाढ़ का प्रभाव देखा गया। ज्वार भाटे और त ...

                                               

बाढ़ के वक्त सावधानी

अधिकारीयों की सूचना के लिये रेडियो सुनते रहे।hj vjgjh अपने पढ़ोसियों के साथ मिलके घर के बाहरी दीवारों के चारो और बाली के बोरियां लगाये। घर के प्लास्टिक बोतलें पानी से भर ले। घर के टब/सिंक/बाल्टि ब्लीच से धोये, फिर पानी से धोये, फिर उस में पीने का ...

                                               

बदख़्शान भूस्खलन २०१४

२ मई २०१४ को अफ़ग़ानिस्तान के बदख़्शान प्रान्त के आर्गो जिले में मूसलाधार बारिश से भूस्खलन की घटना हुई। इस घटना में मारे गये लोगों की संख्या अलग-अलग स्रोतों से भिन्न प्राप्त हुई जो ३५० से २७०० तक है। लगभग ३०० मकान ध्वस्थ हो गये जबकि १४००० घर क्षत ...

                                               

तड़ितझंझा

तड़ितझंझा या बिजलीयुक्त तूफान एक प्रकार का तूफान होता है। जिसमें बिजली चमकने, तेज हवा चलने आदि की घटना होती है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के शब्दावली के अनुसार इसे गर्ज के साथ तूफान कहते हैं।