ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 110




                                               

स्ट्रोन्शियम सल्फेट

स्ट्रोन्शियम सल्फेट, जिसका रासायनिक सूत्र SrSO 4 है, स्ट्रोन्शियम तत्व का सल्फेट लवण है। यह एक सफ़ेद रंग का क्रिस्टलीय पाउडर होता है और प्रकृति में सेलेस्टीन नामक खनिज में पाया जाता है। यह पानी में आसानी से नहीं घुलता लेकिन हाइड्रोक्लोरिक अम्ल या ...

                                               

हाइड्राज़िन

हाइड्रेज़ीन अकार्बनिक यौगिक है जिसका अणुसूत्र N 2 H 4 है। यह रंगहीन, ज्वलनशील द्रव है जिसमें अमोनिया जैसी गंध आती है। इसे डायाजेन भी कहते हैं। यह अत्यन्त विषैली तथा भयानक अस्थिर है इसलिये इसे इसे विलयन में ही रखा जाता है। हाइड्रेजीन मुख्यतः पॉलीम ...

                                               

हाइड्रोजन क्लोराइड

साँचा:Chembox DeltaHcसाँचा:Chembox HeatCapacity हाइड्रोजन क्लोराइड अंग्रेज़ी: Hydrogen chloride एक यौगिक है जिसका रासायनिक सूत्र एचसीएल HCl होता है। कमरे के तापमान पर यह एक रंगहीन गैस होती है, जो वातावरण की आर्द्रता के संपर्क के साथ हाइड्रोक्लोरि ...

                                               

हाइड्रोजन सल्फाइड

हाइड्रोजन सल्फाइड एक अकार्बनिक यौगिक है। यह रंगहीन गैस है जिससे सडे अण्डे जैसी दुर्गंध आती है। यह वायु मे नीली ज्वाला के साथ जलता है। यह दुर्बल अम्ल है। यह अपचायक होने के कारण हैलोजन को हाइड्रोअम्ल मे अपचयित करता है। यह लेड एसीटेट पेपर को काला कर ...

                                               

हाइपोफोस्फोरस अम्ल

हाइपोफोस्फोरस अम्ल एक अकार्बनिक यौगिक है। Preparation: कैल्शियम या बेरियम के हाइपरफास्फाइट को सल्फ्यूरिक अम्ल या ऑक्जेलिक अम्ल की अधिकता में अभिक्रिया कराने से हाइपोफॉस्फोरिक अम्ल प्राप्त होता है। CA2+H2SO4→CaSO4↓+2HPH2 O2 CA2+H2C2O4→CaC2O4↓+2HPH2 O2

                                               

आइसोसायनिक अम्ल

आइसोसायनिक अम्ल एक कार्बनिक यौगिक है जिसका रासायनिक सूत्र HNCO है। इसको सन् १८३० में वोलर और लीबिग ने ज्ञात किया था। यह रंगहीन, वाष्पशील तथा विषैला पदार्थ है। इसका क्वथनांक 23.5 °C होता है। इसके निर्माण की सबसे सरल विधि इसके बहुलकीकृत रूप सायन्यू ...

                                               

आग्जैलिक अम्ल

ऑक्जैलिक अम्ल एक अम्ल है जो सारेल के पेड़ से प्राप्त होता है। इसका प्रयोग-फोटोग्राफी में किया जाता है। इसे स्याही के धब्बो को हटाने मैं भी इस्तेमाल किया जाता है।

                                               

कार्बनिक अम्ल

Welch, M. J.; Lipton, J. F.; Seck, J. A. 1969। J. Phys. Chem. 73:3351. T. Loerting, C. Tautermann, R.T. Kroemer, I. Kohl, E. Mayer, A. Hallbrucker, K. R. Liedl "On the Surprising Kinetic Stability of Carbonic Acid", Angew. Chem. Int. Ed., 39, pp. ...

                                               

नाइट्रिक अम्ल

नाइट्रिक अम्ल, एक अत्यन्त संक्षारक खनिज अम्ल है। इसे एक्वा फ्रोटिस और स्पिरिट ऑफ नाइटर भी कहते हैं। कीमियागरों को नाइट्रिक अम्ल का ज्ञान था, जिसे वे ऐक्वा फॉर्टिस के नाम से पुकारते थे। प्रसिद्ध कीमियागर जेबर ने नाइटर niter और ताम्र सल्फेट, Cu SO ...

                                               

सक्सीनिक अम्ल

सक्सिनिक अम्ल ऐवर में यह अम्ल तीन से चार प्रतिशत तक पाया जाता है। सक्सिनिक शब्द लैटिन के सक्सिनम से निकला है, जिसका अर्थ होता है ऐबर। इसका IUPAC नाम है ब्यूतेनिडिओइक अम्ल । ऐतिहासिक रूप से इसे स्पिरिट ऑफ ऐम्बर कहा जाता रहा है। वस्तुत: यह एक डाइका ...

                                               

हाइड्रोक्लोरिक अम्ल

हाइड्रोक्लोरिक अम्ल एक प्रमुख अकार्बनिक अम्ल है। वस्तुतः हाइड्रोजन क्लोराइड गैस के जलीय विलयन को ही हाइड्रोक्लोरिक अम्ल कहते हैं। इस अम्ल का उल्लेख ग्लौबर ने १६४८ ई. में पहले पहल किया था। जोसेफ़ प्रीस्टली ने १७७२ में पहले पहल तैयार किया और सर हंफ ...

                                               

बोरॉन समूह

बोरॉन समूह आवर्त सारणी के १३वें स्तम्भ के रासायनिक तत्वों का एक समूह है। इस समूह में बोरॉन, अल्युमिनियम, गैलिअम, इण्डियम, थैलियम और उनुनट्रीयम शामिल हैं। इनमें बोरॉन एक उपधातु गिना जाता है जबकि अल्युमिनियम, गैलिअम, इण्डियम और थैलियम संक्रमणोपरांत ...

                                               

समूह १० तत्व

समूह १० तत्व आवर्त सारणी के रासायनिक तत्वों का एक समूह है। यह आवर्त सारणी के डी खण्ड में आता है। इस समूह में निकल, पलाडियम, प्लैटिनम और डार्म्स्टेडशियम तत्व शामिल हैं। यह सभी संक्रमण धातु हैं। पहले तीन तो प्रकृति में मिलते हैं लेकिन डार्म्स्टेडशि ...

                                               

समूह ११ तत्व

समूह ११ तत्व आवर्त सारणी के रासायनिक तत्वों का एक समूह है। यह आवर्त सारणी के डी खण्ड में आता है। इस समूह में ताम्र, चाँदी और सोना तत्व शामिल हैं। इनके अलावा, अपने विद्युदणु विन्यास के आधापर रॉन्टजैनियम भी इसी समूह का सदस्य है हालाँकि यह केवल एक प ...

                                               

समूह १२ तत्व

समूह १२ तत्व आवर्त सारणी के रासायनिक तत्वों का एक समूह है। यह आवर्त सारणी के डी खण्ड में आता है। इस समूह में जस्ता, कैडमियम और पारा शामिल हैं। इनके अलावा, अपने विद्युदणु विन्यास के आधापर कोपरनिसियम भी इसी समूह का सदस्य है, हालाँकि यह केवल एक प्रय ...

                                               

समूह ३ तत्व

समूह ३ तत्व आवर्त सारणी के रासायनिक तत्वों का एक समूह है। यह आवर्त सारणी के डी खण्ड में आता है। इस समूह में स्कैण्डियम और इत्रियम हमेशा शामिल किये जाते हैं लेकिन इसके अन्य सदस्यों को लेकर रसायनशास्त्रियों में मतभेद है। कुछ के अनुसार इसमें इन दोनो ...

                                               

समूह ४ तत्व

समूह ४ तत्व आवर्त सारणी के रासायनिक तत्वों का एक समूह है। यह आवर्त सारणी के डी खण्ड में आता है। इस समूह में टाइटानियम, ज़र्कोनियम, हाफ्नियम और रदरफोर्डियम तत्व शामिल हैं।

                                               

समूह ५ तत्व

समूह ५ तत्व आवर्त सारणी के रासायनिक तत्वों का एक समूह है। यह आवर्त सारणी के डी खण्ड में आता है। इस समूह में वनेडियम, नायोबियम, टैंटेलम और डब्नियम तत्व शामिल हैं। इनमें से पहले तीन प्रकृति में मिलने वाले उच्चतापसह धातु हैं, जबकि डब्नियम प्रयोगशाला ...

                                               

समूह ६ तत्व

समूह ६ तत्व आवर्त सारणी के रासायनिक तत्वों का एक समूह है। इस समूह में क्रोमियम, मोलिब्डेनम, टंग्स्टन और सीबोर्गियम तत्व शामिल हैं। यह सभी संक्रमण धातु हैं और इनमें से तीन - क्रोमियम, मोलिब्डेनम और टंग्स्टन - उच्चतापसह धातु हैं।

                                               

समूह ७ तत्व

समूह ७ तत्व आवर्त सारणी के रासायनिक तत्वों का एक समूह है। इस समूह में मैंगनीज़, टेक्निशियम, रीनियम, and बोरियम तत्व शामिल हैं। यह सभी संक्रमण धातु हैं।

                                               

समूह ८ तत्व

समूह ८ तत्व आवर्त सारणी के रासायनिक तत्वों का एक समूह है। इस समूह में लोहा, रुथेनियम, ओस्मियम और हैसियम तत्व शामिल हैं। यह सभी संक्रमण धातु हैं। पहले तीन तो प्रकृति में मिलते हैं लेकिन हैसियम प्रयोगशाला में बनाया गया एक कृत्रिम तत्व है

                                               

समूह ९ तत्व

समूह ९ तत्व आवर्त सारणी के रासायनिक तत्वों का एक समूह है। यह आवर्त सारणी के डी खण्ड में आता है। इस समूह में कोबाल्ट, रोडियम, इरीडियम और मेइट्नेरियम तत्व शामिल हैं। यह सभी संक्रमण धातु हैं। पहले तीन तो प्रकृति में मिलते हैं लेकिन मेइट्नेरियम प्रयो ...

                                               

ऐंथ्रासाइट

ऐंथ्रासाइट कोयले की सबसे अच्छी किस्म का नाम है। इसका रंग काला होता है, पर हाथ में लेने पर उसे काला नहीं करता। इसकी चमक अधात्विक होती है। टूटने पर इसके नवीन पृष्ठों में से एक अवतल और दूसरा उत्तल दिखाई पड़ता है; इसे ही शंखाभ टूट कहते हैं। इसमें बहु ...

                                               

पेट्रोलियम जेली

पेट्रोलियम जेली हाइड्रोकार्बनों का एक अर्ध-ठोस मिश्रण है जो अपने घाव ठीक करने के गुण के कारण मरहम के रूप में प्रयुक्त किया जाता है। इसे सफेद पेट्रोलियम, कोमल पैराफिन, बहु-हाइड्रोकार्बन भी कहते हैं। इसका CAS नम्बर 8009-03-8 है। इसमें मौजूद हाइड्रो ...

                                               

पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ

पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ, भारत सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तत्वावधान में स्थापित एक पंजीकृत संस्था है। 1978 में एक गैर लाभकारी संगठन के तौपर पीसीआरए का गठन, भारत में अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में ऊर्जा दक्षता क ...

                                               

शैल-रसायन

पेट्रोलियम से व्युत्पन्न रासायनिक उत्पादों को शैल-रसायन कहते हैं। कुछ ऐसे भी पदार्थ हैं जो पेट्रोलियम से भी व्युत्पन्न किये जा सकते है तथा कोयला, प्राकृतिक गैस, मक्का, गन्ना आदि से भी। शैल रसायन के दो मुख्य प्रकार हैं- १ ओलिफिन जिसमें एथीलीन और प ...

                                               

पेय-पदार्थ

एक पेय-पदार्थ या पेय, कोई द्रव होता है, जो विशिष्ट रूप से मनुष्य के द्वारा ग्रहण किये जाने के लिये तैयार किया जाता है। मनुष्य की बुनियादी आवश्यकता की पूर्ति करने के अलावा, पेय मानव समाज की संस्कृति के एक भाग का निर्माण भी करते हैं। sital Padartho ...

                                               

माज़ा

माज़ा एक कोका-कोला का एक उत्पाद है जो मध्य पूर्व अफ्रीका, पूर्वी यूरोप तथा एशिया में बहुत लोकप्रिय है। इसे पहली बार 1977 में बनाया गया था। माज़ा ने अनानास तथा नारंगी के ब्रांच भी खोले लेकिन इतने कामयाब नहीं हो सके।

                                               

मिट्टी के प्रकार

कणों के आधापर मिट्टी को कई वर्गों में बांटा जा सकता है। मिट्टी के किसी नमूने में उपस्थित विभिन्न खनिज-कणों के आकार के आधार बनाकर यह वर्गीकरण किया जाता है। मिट्टी के मुख्य घटक हैं- महीन पिसे हुए शैल-कण, मृत्तिका, जैविक पदार्थ आदि।

                                               

चीनी मिट्टी

चीनी मिट्टी एक प्रकार की सफेद और सुघट्य मिट्टी हैं, जो प्राकृतिक अवस्था में पाई जाती है। इसका रासायनिक संघटन जलयुक्त ऐल्यूमिनो-सिलिकेट है। चीनी मिट्टी को केओलिन भी कहते हैं। चीनी भाषा में केओलिन का अर्थ पहाड़ी डाँडा होता है। डांडे बहुधा फेल्सपार ...

                                               

दोमट मिट्टी

दोमट एक प्रकार की मिट्टी है जो फसलों के लिए अत्यन्त उर्वर) होती है। इसमें लगभग ४०% सिल्ट, २०% चिकनी मिट्टी तथा शेष ४०% बालू होता है। पानी तथा वायु के प्रवेश हेतु अर्थात् अधिक छिद्रिल होने के कारण फसलों की उर्वरा शक्ति अधिक होती है। ऐसी मिट्टी अपन ...

                                               

बांगर

बागड़ पुराने जलोढ़ से निर्मित है। बागड़ की मिट्टी में रेत व कंकड़ पाए जाते है। बागड़ मैदान का सबसे ऊंचा जमीन है। इनका निर्माण मध्य एवं ऊपरी प्लास्टोसीन काल में हुआ था।

                                               

मृत्तिका खनिज

जलीय अलमुनियम फिल्लोसिलिकेट मृत्तिका खनिज कहलाते हैं। कभी-कभी इनमें विभिन्न मात्राओं में लोहा, मैगनीशियम, अल्कली धातुओं आदि के धनायन भी मौजूद होते हैं। एक खनिज आमतौपर abiogenic, एक रासायनिक सूत्र द्वारा प्रदर्शनीय, कमरे के तापमान पर ठोस और स्थिर ...

                                               

मृदा संस्तर

मृदा संस्तर से तात्पर्य मृदा के तल के समान्तर स्थित उन स्तरों से है जिनकी भौतिक विशेषताएँ अपने ऊपर तथा नीचे स्थित स्तरों से अलग होतीं हैं। हर तरह की मिट्टी में कम से कम एक क्षितिज होता हैं किन्तु इनकी संख्या प्रायः तीन या चार होती है। ये क्षितिज ...

                                               

लैटेराइट मृदा

लैटेराइट मृदा या लैटेराइट मिट्टी का निर्माण ऐसे भागों में हुआ है, जहाँ शुष्क व तर मौसम बार-बारी से होता है। यह लेटेराइट चट्टानों की टूट-फूट से बनती है। यह मिट्टी चौरस उच्च भूमियों पर मिलती है। इस मिट्टी में लोहा, ऐल्युमिनियम और चूना अधिक होता है। ...

                                               

अतिचालक रेडियो आवृत्ति

अतिचालक रेडियो आवृत्ति) विज्ञान एवं तकनीकी का एक क्षेत्र है जो रेडियो आवृत्ति पर काम करने वाली युक्तियों में वैद्युत अतिचालकों का उपयोग करती है। इन युक्तियों में प्रयुक्त अतिचालक पदार्थों की अत्यन्त कम प्रतिरोधकता के कारण रेडियो आवृत्ति के अनुनाद ...

                                               

अतिचालकों का वर्गीकरण

टाइप-१ अतिचालक टाइप-२ अतिचालक the base magnetic field superconductor are two type 1 type 2 type. 1 type -those superconductor comlete the meisser effect. 2 type-those superconductor incomplete the meisser efect.

                                               

माइसनर प्रभाव

जब कोई पदार्थ अपने क्रांतिक ताप से नीचे आकर अतिचालक अवस्था को प्राप्त होता है तो इसके अन्दर चुम्बकीय क्षेत्र शून्य हो जाता है। इसे माइसनर प्रभाव कहते हैं। इस परिघटना की खोज जर्मनी के भौतिकशास्त्री वाल्थर माइसनर तथा रॉबर्ट आक्सेनफिल्ड ने सन् १९३३ ...

                                               

बहुरूपता

पदार्थ विज्ञान में बहुरूपता किसी ठोस पदार्थ के एक से अधिक रूप या क्रिस्टल ढांचे में हो सकने की क्षमता को कहते हैं। उदाहरण के लिये कोयला, ग्रेफाइट और हीरा तीनों कार्बन के ही बहुरूप हैं। इसी तरह कैल्साइट और ऐरागोनाइट दोनों कैल्सियम कार्बोनेट के बहु ...

                                               

उपसहसंयोजक यौगिक

रसायन विज्ञान में उपसहसंयोजक यौगिक उन यौगिकों को कहते हैं जिनमें कोई परमाणु या आयन उसको घेरे हुए अणुओं या धनायनों के व्यूह से जुड़ा हो। बहुत से धातु-युक्त यौगिक उपसहसंयोजक यौगिक ही हैं। उपसहसंयोजक यौगिक का और अधिक व्यापक परिभाषा यह है - उपसहसंयोज ...

                                               

सरलता से उपलब्ध रसायनों की सूची

नीचे दी गयी सूची में नवसिखुआ रसायनज्ञों के लिये लगभग शुद्ध रसायनों के सरल स्रोत बताये गये हैं। इनमें प्रमुख हैं- Mordants such as potassium dichromate from art and craft suppliers. कार्बनिक अम्ल --> घरेलू शराब निर्माताओं से विलायक एवं अम्ल --& ...

                                               

अतिचालक तार

अतिचालक पदार्थ से बने तार को अतिचालक तार कहते हैं। जब इन्हें ठण्डा करते हुए इनके संक्रमण ताप से नीचे लाया जाता है तो इनका प्रतिरोध शून्य हो जाता है। अतिचालक तारों का उपयोग करके अतिचालक चुम्बक और अन्य युक्तियाँ बनायी जातीं हैं। प्रायः अतिचालक तार ...

                                               

कार्बोनेट

कार्बोनेट कार्बन और ऑक्सीजन तत्वों का बना एक ऋणायन होता है। इसका रासायनिक सूत्र CO 3 2− है। यह कैल्सियम कार्बोनेट जैसे कई रासायनिक यौगिकों का अंश है।

                                               

कैल्सियम कार्बोनेट

साँचा:Chembox SolubilityProduct कैल्सियम कार्बोनेट एक रासायनिक यौगिक है जिसका रासायनिक सूत्र CaCO 3 है। यह संसार के सभी भागों की शैलों में पाया जाने वाला आम पदार्थ है। समुद्री जन्तुओं के कवचों का यह प्रमुख अवयव है। यह कृषि चूने का सक्रिय घटक है। ...

                                               

गुंजा

गुंजा या रत्ती लता जाति की एक वनस्पति है। शिम्बी के पक जाने पर लता शुष्क हो जाती है। गुंजा के फूल सेम की तरह होते हैं। शिम्बी का आकार बहुत छोटा होता है, परन्तु प्रत्येक में 4-5 गुंजा बीज निकलते हैं अर्थात सफेद में सफेद तथा रक्त में लाल बीज निकलते ...

                                               

सूर्यानुवर्त

सूर्यानुवर्त ​बोराजिनासीए कुल का छोटा क्षुप है। इस क्षुप की पत्तियाँ एवं पुष्प सूर्य की गति का अनुगमन करती हैं। इसकी पत्तियाँ छोटी तथा बलियुक्त और शिरायुक्त होती हैं। पुष्प अल्पकुंडलित गुच्छ में खाइलेक नील रंग के होते हैं जिनसे वनिल्ला की बास आती ...

                                               

ज़िका बुखार

जिका बुखार, जिसे जिका वायरस रोग, के नाम से भी जाना जाता है, एक रुग्णता है जो जिका वायरस के कारण उत्पन्न होती है। जिका बुखार मुख्यतया एडीज प्रकार के मच्छर के काटने से फैलता है।

                                               

जिका विषाणु

जिका विषाणु फ्लाविविरिडए विषाणु परिवार से है। जो दिन के समय सक्रिय रहते हैं। इन्सानों में यह मामूली बीमारी के रूप में जाना जाता है, जिसे जिका बुखार, जिका या जिका बीमारी कहते हैं। 1947 के दशक से इस बीमारी का पता चला। यह अफ्रीका से एशिया तक फैला हु ...

                                               

वायरोइड

वायरोइड प्रकृति के सबसे छोटे आकार के ज्ञात रोगजनक कण होते हैं। इनमें केवल का एक गोल रेशा होता है। जहाँ अन्य वायरस में इसके ऊपर एक प्रोटीन का ढकाव होता है, वायरोइडों में यह भी नहीं होता। सभी ज्ञात वायरोइड वनस्पतियों में वास करते हैं और अधिकांश इनम ...

                                               

मानव संसाधन प्रबंधन

मानव संसाधन प्रबंधन किसी प्रतिष्ठान की सबसे मूल्यवाउन आस्तियों के प्रबंधन का कौशलगत और सुसंगत दृष्टिकोण है- जो वहां काम कर रहे हैं तथा व्यक्तिगत और सामूहिक रूप से व्यापार के उद्देश्यों की प्राप्ति में योगदान दे रहे हैं। "मानव संसाधन प्रबंधन" और " ...