ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 102




                                               

पृष्ठीय फ़िन

पृष्ठीय फ़िन कई जलीय प्राणियों की पीठ पर स्थित फ़िन होता है। अधिकांश मछलियों, तिमिगण और पोर्पोइस) और इक्थोयोसॉर जैसे प्राणियों की पीठ पर पृष्ठीय फ़िन होते है। किसी-किसी प्राणी में दो ऐसे फ़िन भी हो सकते हैं।

                                               

अकनथूरीडे

अकनथूरीडे सर्जन और तांगावाला किस्म की मछलियों का एक परिवार है। इस परिवार में ६ वंश की लगभग ८० परजाति है। यह सभी मछलिया उष्णकटिबंधीय समुद्र में रहती है व अपने रंग रूप के कारण इन्हें पालने के काम में भी लिया जाता है

                                               

अकहिरीडे

अमेरिकन सोलेस या अकहिरीडे, चपटी मछली का एक साफ़ पानी और समुद्री वातावरण में पाई जाने वाली मछली का एक परिवार है। इस परिवार में २८ नसले व नो वंश है। यह सोल्स से काफी समानता रखते हैं व इसी कारण उनके ही परिवार का एक अंग माने जाते हैं।

                                               

अखिरोपसीत्तिडे

अखिरोपसीत्तिडे या दक्षिणी फ्लौंडर, फ्लौंडर मछलियों का एक छोटा परिवार समूह है जो की अन्तार्टिक के पानी में पाया जाता है।

                                               

कतला

कतला या भाकुर मछली की एक जाति है। यह भारत, नेपाल, म्यांमार, बांग्लादेश एवं पाकिस्तान की नदियों एवं स्वच्छ जलस्रोतों में पायी जाती है।वैज्ञानिक नाम:- कतला सामान्य नाम:- कतला, भाखुर भौगोलिक निवास एवं वितरण कतला एक सबसे तेज बढ़ने वाली मछली है यह गंग ...

                                               

क्लाउनफ़िश

क्लाउनफ़िश या अनेमनीफ़सश मछलियाँ हैं। समंदर में अनेमनियों के साथ रहते हैं। अनेमनी क्लाउनफ़िश दूसरे मछलियों से बचाती हैं और क्लाउनफ़िश अनेमनी को साफ़ करते हैं। जब दो ज़िंदा चीज़ें जैसे क्लाउनफ़िश और अनेमनी साथ काम करते हैं, इसका नाम है सहजीवन या स ...

                                               

पिरान्हा

हिंसक होती है मछली -पिरान्हा समुद्र में घोंसला बनाकर अंडे देती है -हॉलीवुड में ‘पिरान्हा’ नाम से फिल्में भी बनीं - ये इतनी हिंसक होती है कि किसी व्यक्ति को काट ले तो उसकी मौत भी हो सकती है। - पिरान्हा मछली के आदमियों पर अटैक करने की सबसे अधिक घटन ...

                                               

महाशीर

महाशीर या महासीर एक मछली है जो सिप्रिनिडाई कुल की टॉर, निओलिसोचिअस और नजीरितोर प्रजाति की मछलियों का सामान्य नाम है। यह मछली भारत आदि दक्षिण एशियाई देशों में तथा मलेशिया, इण्डोनेशिया आदि में पायी जाती है। ये व्यावसायिक रूप से महत्वपूर्ण खेल-मछली ...

                                               

हिल्सा

हिल्सा बंगाली लोगों में सबसे लोकप्रिय मछली है। यह बांग्लादेश का राष्ट्रीय मछली है और पश्चिम बंगाल, असम, त्रिपुरा आदि में भी अत्यधिक लोकप्रिय है।

                                               

अनग्रदंत

अग्रदंत, जैसा नाम से ही स्पष्ट है, वे जंतु हैं जिनके अग्रदंत नहीं होते। हिंदी का "अनग्रदंत शब्द अंग्रेजी के ईडेंटेटा का समानार्थक माना गया है। अंग्रेजी के "ईडेंटेटा शब्द का अर्थ है "जंतु जिनको दाँत होते ही नहीं"। अंग्रेजी का ईडेंटेटा नाम कुवियर न ...

                                               

कपि

कपि या एप्स प्राणीजगत में होमिनोइडेया महापरिवार की सदस्य जानवर जातियों को कहा जाता हैं। इनमे दो मुख्य शाखाएँ हैं - kapi महाकपि - यह बड़े अकार के मानवनुमा कपि होते हैं, जो चार शाखाओं में होते हैं - चिम्पान्ज़ी, गोरिल्ला, मनुष्य और ओरंगउटान हीनकपि ...

                                               

कस्तूरी बिलाव

गंधमार्जार या गंधबिलाव या कस्तूरी बिलाव एक छोटा स्तनधारी जानवर होता है। इसका अकार कुछ-कुछ बिल्ली से मिलता है, जिस वजह से इसे "बिलाव" का नाम मिला है, हालाँकि यह बिल्ली की नस्ल का प्राणी नहीं है। इस से एक विशेष प्रकार की गंध आती है इसलिए इसके नाम म ...

                                               

खरगोश

ख़रगोश खरहारूपी गण के खरहादृष्ट कुल के, खरहा और पिका के साथ, छोटे स्तनधारी हैं। खनखरहा शशबिल में यूरोपीय ख़रगोश और उसके वंशज, पालतू ख़रगोश की दुनिया की ३०५ नस्ले शामिल हैं। सिल्वीखरहा में तेरह वन्य ख़रगोश शामिल हैं, जिनमें से सात कपासपुच्छ के प्र ...

                                               

खुरदार

खुरदार या अंग्युलेट ऐसे स्तनधारी जानवरों को कहा जाता है जो चलते समय अपना भार अपने पाऊँ की उँगलियों के अंतिम भागों पर उठाते हैं। यह भार सहन करने के लिए ऐसे पशुओं के पाऊँ अक्सर खुरों के रूप में होते हैं। स्तनधारियों के बहुत से गण खुरदार होते हैं। ब ...

                                               

घोड़ा

घोड़ा या अश्व ऐक़्वस फ़ेरस की दो अविलुप्त उपप्रजातियों में से एक हैं। वह एक विषम-उंगली खुरदार स्तनधारी हैं, जो अश्ववंश कुल से ताल्लुक रखता हैं। घोड़े का पिछले ४५ से ५५ मिलियन वर्षों में एक छोटे बहु-उंगली जीव, ऐओहिप्पस से आज के विशाल, एकल-उंगली जा ...

                                               

चमगादड़ गण

चमगादड़ गण या काइरॉप्टेरा स्तनधारी वर्ग का एक गण है, जिसके अंतर्गत सभी प्रकार के चमगादड़ निहित हैं। इस वर्ग के जंतु अन्य स्तनियों से बिल्कुल भिन्न मालूम पड़ते हैं और इसके सभी सदस्यों में उड़ने की शक्ति पाई जाती है। उड्डयन के लिये इनकी अग्रभुजाएँ ...

                                               

तिमिगण

तिमिगण विश्व भर के सागरों में विस्तृत एक मांसाहारी, फ़िन-धारी, समुद्री स्तनधारी प्राणी जातियों का क्लेड है। यह ओडोन्टोसेटाए, मिस्टीसेटाए और आर्केओसेटाए नामक जीववैज्ञानिक गणों में विभाजित हैं। कुल मिलाकर इस क्लेड में ८९ जातियाँ ज्ञात हैं जिनमें से ...

                                               

बंदर

बंदर एक मेरूदण्डी, स्तनधारी प्राणी है। इसके हाथ की हथेली एवं पैर के तलुए छोड़कर सम्पूर्ण शरीर घने रोमों से ढकी है। कर्ण पल्लव, स्तनग्रन्थी उपस्थित होते हैं। मेरूदण्ड का अगला भाग पूँछ के रूप में विकसित होता है। हाथ, पैर की अँगुलियाँ लम्बी नितम्ब प ...

                                               

यूरेशियाई लिंक्स

यूरेशियाई लिंक्स एक माध्यम-आकार की जंगली बिल्ली, लिंक्स है। लिंक्स की पूँछ छोटी होती है और सामान्यतः उनके कानो के छोपर बालो का गुच्छा होता है। उनके बड़े और गद्देदार पंजे बर्फ पर चलने में मदद करते हैं। उनकी खाल स्लेटी से लाल रंग की होती है, जिनपर ...

                                               

लोमड़ी

लोमड़ी एक जन्तु है। Phylum: Chordata Class: Mammalia Order: Carnivora Family: Canidae लोमडी सामान्यतः 2 से 3 वर्ष तक जीवित रहती है आहार लोमडी के आहार में रोडेन्ट, कीड़ों, कृमि, फल, मछली, पक्षी, अंडे और अन्य सभी प्रकार के छोटे जानवर है। लोमड़ी की ...

                                               

साइरेनिया

साइरेनिया या समुद्री गाय जल में रहने वाले शाकाहारी स्तनधारी प्राणियों का एक जीववैज्ञानिक गण है जिसके सदस्य नदियों और तट के पास वाले समुद्री क्षेत्रों में रहते हैं। साइरेनिया की चार जीववैज्ञानिक जातियाँ अस्तित्व में हैं, जो दो कुलों और वंशों में व ...

                                               

हिरण

एक हिरण एक सर्विडे परिवार का रूमिनंट स्तनपायी जन्तु है। हिरण Cervidae परिवार के सदस्य हैं। एक मादा हिरण एक हरिणी कहा जाता है। एक पुरुष एक हिरन कहा जाता है। हिरण की प्रजातियों में से कई किस्में हैं। हिरण दुनिया भर के कई महाद्वीपों पर पाए जाते हैं। ...

                                               

आर्माडिलो

आर्माडिलो अमेरिकी महाद्वीप में पाया जाने वाला एक स्तनधारी है। आर्माडिलो एनिमल साउथ अमेरिका का सबसे विचित्र प्राणी है जो विपत्ति के समय अपने आप को समेट कर काफी छोटा कर लेता है। 2014 ब्राजील फुटबॉल विश्व कप में, "आर्माडिलो" शुभांकर (mascot Armadill ...

                                               

तीतर

तीतर फ़ॅसिअनिडी कुल के pacshi हैं जिसे अंग्रेज़ी में आम भाषा में फ़ीज़ेन्ट कहते हैं। भारत की bhashao में फ़्रैंकोलिन और पार्ट्रिज में कोई भेद नहीं है और इन दोनों को तीतर ही कहा जाता है। विश्व भर में इसकी कई प्रजातियाँ हैं और इनमें से कुछ प्रजातिय ...

                                               

कपोतक

कपोतक एक पक्षी है, जो कबूतरों का निकट संबंधी है। यह पँड़की, फाखता, पंडुक और सिरोटी के नाम से भी प्रसिद्ध है। कपोतक 12 इंच तक लंबे, भोले भाले पक्षी होते हैं। इनकी प्रकृति, स्वभाव तथा अन्य बातें कपोतों से मिलती जुलती होती हैं। कपोत कबूतर की तरह ये ...

                                               

भारतीय पशु और पक्षी

भारत विशाल देश है। इसमें पशु-पक्षी भी नाना प्रकार, रंग रूप तथा गुणों के पाए जाते हैं। कुछ बृहदाकार हैं तो कुछ सूक्ष्माकार। भारत के प्राचीन ग्रथों में पशुपक्षियों का विस्तृत वर्णन मिलता है। उस समय उनका अधिक महत्व उनके मांस के कारण था। अत: आयुर्वेद ...

                                               

चोंच

चोंच पक्षियों के मुख का एक शारीरिक अंग होता है जिसे रक्षा व आक्रमण करने, वस्तुओं व ग्रास को पकड़ने, स्वयं को स्वच्छ रखने, शिशुओं को खाना देने, चीज़ें टटोलने और प्रणय-क्रियाओं के लिए प्रयोग किया जाता है। यह लगभग उसी स्थान पर होता है जहाँ कुछ अन्य ...

                                               

पंख

पर या पंख कुछ प्राणियों, विशेषकर पक्षियों के शरीर को ढकने वाले अंग होते हैं। पक्षियों के शरीरों पर मिलने वाले पंख आज से करोड़ों वर्ष पूर्व पृथ्वी के प्राकृतिक इतिहास में कुछ डायनासोरों के शरीरों पर भी हुआ करते थे। जीवैज्ञानिकों के अनुसापर प्राणिय ...

                                               

पासरीफ़ोर्मीज़

पासरीफ़ोर्मीज़ पक्षियों का एक जीववैज्ञानिक गण है जिसमें सभी ज्ञात पक्षी जातियों की लगभग ५०% जातियाँ शामिल हैं। इन पक्षियों की विशेषता यह है कि इनके पाँव के तीन पंजे आगे की ओर और एक पंजा पीछे की ओर सज्जित होता है। इस से वे किसी टहनी या अन्य पतली व ...

                                               

कुक्कुट

आर्थिक महत्व के पक्षी जिनका पालन उनके अंडे या मांस के लिए होता है उन्हें पोल्ट्री पक्षी एवं इस उद्योग को पोल्ट्री उद्योग कहते हैं। मुर्गी एवं बत्तख प्रमुख पोल्ट्री पक्षी हैं जिनसे अंडा एवं मांस दोनों प्राप्त होते हैं। आधुनिक पोल्ट्री में छोटे आका ...

                                               

बत्तख

बत्तख" बत्तख एक जलीय पोल्ट्री पक्षी है। यह अंडे एवं मांस के लिए प्रसिद्ध है। इसकी खाकी कैम्बेल व इंडियन रनर प्रजातियों साल में करीब ३०० अंडे देती हैं। बत्तख के मांस से प्रोटीन व अंडो से उन्नत किस्म का प्रोटीन, विटामिन, कैल्सियम, लोह-तत्व आदि पाया ...

                                               

ब्रायलर

ब्रायलर एक प्रकार की पोल्ट्री पक्षी है। यह मुर्गियों खासतोपर अपने माँस के लिये पाली जाती हैं। ६०-७० दिन की अवधि में ही इस मुर्गी के बच्चे का वजन करीब २ किलोग्राम तक पहुच जाता है। संदर्भ

                                               

चीलर

चीलर जूँ के जैसा एक वाह्य परजीवी कीट है जो कपड़ों में छिपकर रहता है मानव शरीर से रक्त चूसता है। यह सफेद रंग का होता है। हिन्दी में इसे चिल्लड़ या चिल्लर भी कहते हैं। चीलर के जीनोम का अनुक्रम २०१० में विश्लेषित एवं प्रकाशित किया गया था।प्रायः गन्द ...

                                               

जमजुई

जमजुई जूँ जैसा वाह्य परजीवी कीट है जो मानव के गुप्तांग के बालों में तथा भौंहों आदि में छिपकर रक्त चूसकर पोषण पाता है।

                                               

जूं

जूं एक परजीवी है जो मनुष्य के शरीर में पैदा हो जाते हैं। यह सामान्यत: बालों में पाये जाते हैं। भारतीय स्त्रियों में बाल रखने की प्रथा है। हर सौभाग्यवती नारी बाल रखना पसंद करती है। मनुष्य शरीर में जो परजीवी पैदा हो जाते हैं, उनमें जूं मुख्य हैं। ज ...

                                               

ऊँट

ऊँट कैमुलस जीनस के अंतर्गत आने वाला एक खुरधारी जीव है। अरबी ऊँट के एक कूबड़ जबकि बैकट्रियन ऊँट के दो कूबड़ होते हैं। अरबी ऊँट पश्चिमी एशिया के सूखे रेगिस्तान क्षेत्रों के जबकि बैकट्रियन ऊँट मध्य और पूर्व एशिया के मूल निवासी हैं। इसे रेगिस्तान का ...

                                               

उष्ट्रगण

उष्ट्रगण पागुर करनेवाले खुरवाले पशु हैं। इनके पैरों में उँगलियाँ केवल दो होती हैं और पैर के नीचे गद्दी होती है। इनके सींग नहीं होते, गर्दन लबी और पूँछ छोटी होती है।

                                               

जगुआर

Jaguar animal panthera onca.jpg जगुआर बिल्ली परिवार का तीसरा सबसे बड़ा सदस्य है। केवल सिंह और बाघ उससे बड़े होते हैं। लेकिन इस छोटे पैरोंवाले गठीले जानवार में सिंह या बाघ से भी अधिक ताकत होती है। वह अपने बड़े-बड़े रदनक दंतों और मजबूत जबड़ों से कठ ...

                                               

ढोर

ढोर उस पशुवर्ग में आते हैं जिनके खुर होते हैं और प्रत्येक खुर आगे से मध्य भाग में फटा होता है। यह द्विखुरीयगण के अंतर्गत एक कुल है। अधिकांश ढोरों के सींग होते हैं, जो खोपड़ी के किनारों के ही बढ़े हुए हिस्से होते हैं। इनके ऊपरी जबड़े के अंत में दा ...

                                               

पशु-रति

पशु-रति अथवा पशु-अनुरक्ति जानवरों पर यौन निर्धारण को समाहित करने वाली अपकामुकता को कहा जाता है। मनुष्य और गैर मनुष्य जानवरों के मध्य होने वाले अन्तर-प्रजातीय यौन गतिविधि को पशुगमन कहते हैं। इन शब्दों को सामान्यतः एक दूसरे के स्थान पर प्रयुक्त किय ...

                                               

पशुप्रजनन

पशुप्रजनन के व्यापक अर्थ के अंतर्गत पशुओं के उत्पादन, उनके पालनपोषण तथा देखभाल संबंधी सभी प्रकार के कार्य आते हैं, किंतु सीमित अर्थ में इस शब्द का प्रयोग प्राय: पशुओं की आनुवंशिकता में ऐसे सुधार करने से है जिससे मनुष्य की आवश्यकता तथा इच्छानुकूल ...

                                               

बड़ी बिल्ली

बड़ी बिल्ली की श्रेणी में सिंह, बाघ, तेंदुआ, चीता, जैगुअर, कूगर, हिम तेंदुआ, आमूर बाघ ऐसे जानवर आते हैं जो विडाल वंश के हों और घरेलू बिल्ली के विपरीत जंगल में जीवन यापन करते हों।

                                               

ड्यूटेरोस्टोमिया

ड्यूटेरोस्टोमिया प्राणियों का एक जीववैज्ञानिक अधिसंघ है। यह अपनी बहन क्लेड, प्रोटोस्टोमिया, के साथ अपने से ऊँचा नेफ़्रोज़ोआ नामक क्लेड बनाता है। ड्यूटेरोस्टोमिया और प्रोटोस्टोमिया के सदस्य प्राणियों में यह अंतर है कि ड्यूटेरोस्टोमिया के भ्रूण के ...

                                               

बाइलेटेरिया

बाइलेटेरिया या द्विसमभागी ऐसे प्राणी होते हैं जिनके शरीर लगभग दो समान भागों के बने हों, यानि जिनमें द्विभागीय सममिति हो। ऐसे जीवों के शरीर के मुख्य भाग में आमतौपर एक ध्रुव पर सिऔर दूसरे ध्रुव पर गुदा होती है। इनके शरीर में पीछे की ओर रीढ़ और आगे ...

                                               

नेफ़्रोज़ोआ

नेफ़्रोज़ोआ प्राणियों का एक क्लेड है, जो बाइलेटेरिया समूह का एक उपसमूह है। बाइलेटेरिया में नेफ़्रोज़ोआ और ज़ीनासीलोमोर्फ़ा दो क्लेड आते हैं। नेफ़्रोज़ोआ को दो समूहों में बांटा जाता है: ड्यूटेरोस्टोमिया और प्रोटोस्टोमिया।

                                               

निडोसाइट

निडोसाइट निडारिया नामक जीववैज्ञानिक संघ के प्राणीयों - जिनमें समुद्री मूँगा, हाइड्रा, जेलिमछली शामिल हैं - में पाई जाने वाली एक विस्फोटक कोशिका होती है। कोशिकाओं में एक विष से भरा हुआ निमैटोसिस्ट या निडोसिस्ट नामक कोशिकांग होता है जिसे यह प्राणी ...

                                               

ऊन

ऊन मूलतः रेशेदार प्रोटीन है जो विशेष प्रकार की त्वचा की कोशिकाओं से निकलता है। ऊन पालतू भेड़ों से प्राप्त किया जाता है, किन्तु बकरी, याक आदि अन्य जन्तुओं के बालों से भी ऊन बनाया जा सकता है। कपास के बाद ऊन का सर्वाधिक महत्व है। इसके रेशे उष्मा के ...

                                               

माइसीलियम

माइसीलियम फफूंद और फफूंद-जैसी बैक्टीरियाई कोलोनियों में वनस्पतियों की तरह शाखाओं वाले धागेनुमा हायफों को कहते हैं। यह अक्सर मिट्टी में फैला हुआ होता है और इसमें स्थान-स्थान पर सतह से ऊपर फफूंद के शरीर उगे हुए होते हैं। कभी-कभी जिस माध्यम में जीव ...

                                               

आर्कोसोरिया

आर्कोसोरिया एक प्राणियों का एक क्लेड है जिसमें सभी पक्षी व मगरमच्छ शामिल हैं। सारे डायनासोर भी इसी समूह के सदस्य थे।

                                               

साधारण छिपकली

साधारण छिपकली एक प्रकार की छिपकली है जो भारतीय उपमहाद्वीप, अफ़्ग़ानिस्तान, ईरान, इराक़, ओमान, क़तर, साउदी अरब, इथियोपिया, इत्यादि में आम पाई जाती है।